NDTV Khabar

एक ऐसी किताब जिसमे छिपा है विराट कोहली की सफलता का राज़

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सिलसिलेवार रूप से बढ़िया प्रदर्शन करने वाले विराट की घरेलू क्रिकेट में शुरुआत बेहद खराब रही थी. उनके पहले घरेलू वनडे और टेस्ट मैच में स्कोर क्रमश: 10, 12 और 19 थे. फिर विराट में ऐसा क्या बदलाव आया की वो देखते ही देखते एक 'मोर्डर्न ग्रेट' में तब्दील हो गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक ऐसी किताब जिसमे छिपा है विराट कोहली की सफलता का राज़

क्रिकेटप्रेमियों को विराट के क्रिकेट के सफर की दास्तान इस किताब में पढने को मिलेगी

खास बातें

  1. किताब का नाम है विनिंग लाइक विराट : थिंक एंड सक्सीड लाइक कोहली
  2. क्रिकेटप्रेमी विराट के स्वर्णिम सफर की दास्तान इस किताब में पढ़ पाएंगे
  3. इस किताब में विराट कोहली की कई खासियतों का ज़िक्र किया गया है
भारतीय कप्तान विराट कोहली आज दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी माने जाते हैं. क्रिकेट के सभी प्रारूप - वनडे, टी20 और टेस्ट क्रिकेट में विराट ने लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करके सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में अपना 'फैन बेस' बना लिया है. लेकिन क्या आप जानते हैं की इस सफलता के पीछे एक ऐसी दास्तान है जिससे कोई भी वाकिफ नहीं है. विराट के इसी सफर से पर्दा उठाएगी एक किताब जिसका नाम है 'विनिंग लाइक विराट : थिंक एंड सक्सीड लाइक कोहली'. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सिलसिलेवार रूप से बढ़िया प्रदर्शन करने वाले विराट की घरेलू क्रिकेट में शुरुआत बेहद खराब रही थी. उनके पहले घरेलू वनडे और टेस्ट मैच में स्कोर क्रमश: 10, 12 और 19 थे. फिर विराट में ऐसा क्या बदलाव आया की वो देखते ही देखते एक 'मोर्डर्न ग्रेट' में तब्दील हो गए. क्रिकेटप्रेमियों को विराट के उसी स्वर्णिम सफर की दास्तान इस किताब में पढने को मिलेगी.
 
virat kohli book excerpt

‘विनिंग लाइक विराट : थिंक एंड सक्सीड लाइक कोहली’ नामक इस किताब को अभिरूप भट्टाचार्य ने लिखा है और इसमें उन्होंने कोहली के लगातार अच्छे फार्म के राज खोलते हुए जीवन के प्रति उनके फलसफे को बताया है. उन्होंने किताब में लिखा ,"यदि हम विराट एक क्रिकेटर और इंसान के जीवन पर फोकस करें तो उनकी नेतृत्व क्षमता, दबाव में संयम बनाये रखने के कौशल और निर्भीक रवैये के बारे में पता चलता है." उन्होंने कहा ," मीडिया से बातचीत में उनकी परिपक्वता और मैदान पर प्रबंधन कौशल से कोई शक नहीं रह जाता कि विराट को सफलता सिर्फ किस्मत के दम पर नहीं मिली बल्कि इसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत और कभी हार ना मानने का जुझारूपन भी है."

टिप्पणियां
इस किताब में विराट कोहली कई खासियतों का ज़िक्र किया गया है. भट्टाचार्य ने लिखा है की विराट खेल के भीतर और खेल के बाहर अपने करीबी रिश्तों को बेहद सहजता से सँभालते हैं. विराट एक 'फैमिली मैन' हैं जो बेहद व्यस्त शेड्यूल के बावजूद अपनी माँ, भाई और बहन को पूरा समय देते हैं. साथ ही विराट अपने पहले कोच राजकुमार शर्मा से आज भी उतना ही करीब हैं जितना तब थे जब वो क्रिकेट के गुर सीख रहे थे. इस किताब में विराट के कड़े फिटनेस कार्यक्रम का भी विस्तृत अध्ययन किया गया है जिसने दिल्ली के एक गोल-मटोल लड़के को दुनिया का सबसे फिट क्रिकेटर बना दिया.

(न्यूज़ एजेंसी भाषा से भी इनपुट)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement