NDTV Khabar

कब-कब रन आउट के कारण साउथ अफ्रीका हुआ टूर्नामेंट से आउट...

ऐसे कई मौके आए जब किस्मत ने साउथ अफ्रीका की टीम का साथ नहीं दिया

303 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कब-कब रन आउट के कारण साउथ अफ्रीका हुआ टूर्नामेंट से आउट...

खास बातें

  1. हीरो कप के तीन रन आउट जिससे साउथ अफ्रीका हुआ था बाहर
  2. रन आउट के कारण साउथ अफ्रीका हुआ वर्ल्ड कप से बाहर
  3. भारत के खिलाफ मैच में साउथ अफ्रीका के तीन खिलाड़ी हुए रन आउट
नई दिल्ली: यह 1992 की बात है, साउथ अफ्रीका पहली बार वर्ल्ड कप खेल रहा था. जब सब यह उम्मीद कर रहे थे कि साउथ अफ्रीका जैसी टीम जिसका विश्व क्रिकेट में कोई अनुभव नहीं है, टूर्नामेंट से जल्द ही बाहर जो जाएगी.. लेकिन सबको हैरान करते हुए साउथ अफ्रीका सेमीफाइनल में पहुंची थी. फिर 22 मार्च 1992 को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच दूसरा सेमीफाइनल मैच खेला गया. बारिश की वजह से ओवर 50 से घटाकर 45 कर दिए गए. पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने निर्धारित 45 ओवरों में 252 रन बनाए थे. डकवर्थ-लुइस नियम के तहत साउथ अफ्रीका को जीतने के लिए 45 ओवरों में 273 रन का टारगेट दिया गया. 253 रन के विजय लक्ष्य का पीछा करते हुए साउथ अफ्रीका को आखिरी 13 गेंदों में 22 रन बनाने थे और मैदान पर ब्रायन मैकमिलन और डेविड रिचर्डसन अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे. ऐसा लग रहा था कि साउथ अफ्रीका इस मैच को जीत जाएगा लेकिन 42.5 ओवरों के बाद दोबारा बारिश शुरू हो गई और मैच 12 मिनट के लिए बंद करना पड़ा. जब मैच शुरू हुआ तब डकवर्थ-लुइस नियम के तहत साउथ अफ्रीका को एक गेंद पर 22 रन का टारगेट दिया गया जो नामुमकिन था और साउथ अफ्रीका इस मैच को हार गया. ऐसा कई बार हुआ है जब किस्मत ने साउथ अफ्रीका का साथ नहीं दिया. लेकिन ऐसे कई मैच हुए जब साउथ अफ्रीका रन आउट की वजह से मैच हारकर टूर्नामेंट से बाहर हुआ.
 
हीरो कप के तीन रन आउट जिससे साउथ अफ्रीका हुआ था बाहर
24 नवंबर 1993 को कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान पर भारत और साउथ अफ्रीका के बीच हीरो कप का पहला सेमीफाइनल खेला जा रहा था. पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने 50 ओवरों में सिर्फ 195 रन बनाए थे. साउथ अफ्रीका को जीतने के लिए आखिरी ओवर में सिर्फ छह रन बनाने थे और स्ट्राइक पर ब्रायन मैकमिलन 46 रन बनाकर मौजूद थे. कपिल देव और मनोज प्रभाकर ने इस मैच में शानदार गेंदबाजी की थी. कपिल देव ने आठ ओवरों में 31 रन देकर एक विकेट लिया था जबकि मनोज प्रभाकर ने आठ ओवरों में सिर्फ 30 रन दिए थे. दोनों गेंदबाजों के 2-2 ओवर बचे थे. ऐसा लग रहा था कि कप्तान मोहम्मद अज़रुद्दीन कपिल या प्रभाकर में से किसी को आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने देंगे. लेकिन अज़रुद्दीन ने आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने के लिए सचिन तेंदुलकर को बुलाया. अज़रुद्दीन के इस निर्णय से सब हैरान थे.
 
इससे पहले सचिन ने इस मैच में गेंदबाजी नहीं की थी. सचिन की पहला गेंद को मैकमिलन ने बाउंड्री लाइन के तरफ खेला और दो रन लेने के प्रयास में पीएस डिवीलर्स रन आउट हो गए. एलन डोनाल्ड बल्लेबाजी करने आए. सचिन की अगले तीन गेंदों पर डोनाल्ड एक भी रन नहीं ले पाए और अगली गेंद पर एक रन लेने में कामयाब हुए. अब साउथ अफ्रीका को आखिरी गेंद पर जीतने के लिए चार रन चाहिए थे और स्ट्राइक पर मैकमिलन थे. सचिन की आखिरी गेंद पर मैकमिलन सिर्फ एक रन ले पाए और भारत ने यह मैच दो रन से जीत लिया. साउथ अफ्रीका टूर्नामेंट से बाहर हो गया. इस मैच में साउथ अफ्रीका के तीन खिलाड़ी रन आउट हुए थे. साउथ अफ्रीका का स्कोर जब 45 रन था तब हैंसी क्रोन्ये 13 रन बनाकर रन आउट हो गए. 189 रन पर डेविड रिचर्डसन रन आउट हुए और आखिरी ओवर में पीएस डिवीलर्स रन आउट हुए. इस तीन रन आउट ने साउथ अफ्रीका से मैच छीन लिया था.
 
रन आउट जिससे साउथ अफ्रीका हुआ वर्ल्ड कप से बाहर
17 जून 1999 को साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच आईसीसी वर्ल्ड कप का दूसरा सेमीफाइनल मैच था.पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने निर्धारित 50 ओवरों में 213 रन का स्कोर खड़ा किया. 49 ओवरों के बाद साउथ अफ्रीका ने 9 विकेट पर 205 रन बनाए थे और आखिरी ओवर में जीतने के लिए 9 रन चाहिए थे. क्रीज पर लांस क्लूजनर और एलन डोनाल्ड मौजूद थे. डेमियन फ्लेमिंग की पहली दो गेंदों पर क्लूजनर ने दो शानदार चौके लगाए. अब आखिर चार गेंद पर जीतने के लिए सिर्फ एक रन चाहिए था. तीसरी गेंद पर कोई रन नहीं मिला और डोनाल्ड रन आउट होने से बाल-बाल बचे. चौथी गेंद को क्लूजनर मिड ऑन की तरफ धीरे से खेला और दौड़ पड़े लेकिन डोनाल्ड नहीं दौड़े और रन आउट हो गए. इस तरह यह मैच टाई हो गया लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने लीग मैच में साउथ अफ्रीका को हराया था इसलिए ऑस्ट्रेलिया फाइनल में पहुंचा और साउथ अफ्रीका टूर्नामेंट से बाहर हो गया. इस मैच में साउथ अफ्रीका के डी कुलिनन, स्टीव एल्वरथि और एलन डोनाल्ड रन आउट हुए थे.
 
भारत के खिलाफ मैच में साउथ अफ्रीका के तीन खिलाड़ी हुए रन आउट
रविवार को भारत और साउथ अफ्रीका के बीच आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी मैच के दौरान साउथ अफ्रीका के तीन खिलाड़ी रन आउट हुए जिसकी वजह से साउथ अफ्रीका एक बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाया और मैच आठ विकेट से हार गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए साउथ अफ्रीका का स्कोर 28.1 ओवरों के बाद दो विकेट पर 140 रन था और मैदान पर खुद कप्तान एबी डिवीलर्स और डेविड मिलर मौजूद थे. यह उम्मीद की जा रही थी कि साउथ अफ्रीका का स्कोर 300 के करीब पहुंच जाएगा. लेकिन साउथ अफ्रीका ने तीसरा विकेट 140 रन पर गंवाया. कप्तान डिविलयर्स 16 रन बनाकर रन आउट हुए. फिर 30वें ओवर की पहला गेंद पर डेविड मिलर भी सिर्फ एक रन बनाकर रन आउट हो गए. तब टीम का स्कोर 142 रन था. सिर्फ दो रन के अंदर दो रन आउट से साउथ अफ्रीका दबाव में आ गया और फिर इस दबाव से नहीं उबर पाया. 42.3 ओवरों के बाद साउथ अफ्रीका ने 9 विकेट गवां दिए थे. साउथ अफ्रीका के आखिरी विकेट के रूप में इमरान ताहिर भी रन आउट हुए और साउथ अफ्रीका 44.3 ओवरों में सिर्फ 191 रन बनाकर ऑल आउट हो गया.

टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement