NDTV Khabar

क्या वाकई कम होगा क्रिकेट? बीसीसीआई की मीटिंग में की गई है कोशिश

2019 से 2023 के बीच अब 390 दिन की बजाए 306 दिन क्रिकेट खेला जाएागा. हालांकि इसमें 2021 में होने वाली आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफ़ी और 2023 में होने वाले वर्ल्ड कप को शामिल नहीं किया गया है.

31 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या वाकई कम होगा क्रिकेट? बीसीसीआई की मीटिंग में की गई है कोशिश
नई दिल्‍ली: ज़्यादा क्रिकेट को लेकर कप्तान विराट कोहली के बयान के बाद अब बीसीसीआई को हरकत में आना पड़ा. दिल्ली में बीसीसीआई की स्‍पेशल जनरल मीटिंग में भविष्य में मैचों की संख्या कम करने की कोशिश की गई है. 2019 से 2023 के बीच अब 390 दिन की बजाए 306 दिन क्रिकेट खेला जाएागा. हालांकि इसमें 2021 में होने वाली आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफ़ी और 2023 में होने वाले वर्ल्ड कप को शामिल नहीं किया गया है. अगर इन दोनों टूर्नामेंट को शामिल कर लिया जाए तो खेल के दिन 350 से ज़्यादा हो जाएंगे. ऐसे में सवाल है कि क्या वाकई कम होगा क्रिकेट? ये भी तय किया गया कि आगे भारत अपने आधे मैच इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका जैसी मजबूत टीमों के खिलाफ़ खेलने की कोशिश करेगा. 2019 से 2023 के बीच भारत घर में 81 मैच खेलेगा जो पहले से 20 फ़ीसदी ज़्यादा है.

...तो इसलिए सालाना 25 करोड़ सैलरी बनती है कप्‍तान विराट कोहली की

आईपीएल के बाद भारतीय टीम लगातार क्रिकेट खेल रही है. श्रीलंका के साथ मौजूदा सीरीज़ को मिलाकर भारत ने इस साल IPL के बाद 42 मैच खेले हैं. इनमें 6 टेस्ट, 26 वनडे और 10 T20 मैच शामिल हैं. स्‍पेशल जनरल मीटिंग में राजस्थान क्रिकेट बोर्ड पर से बैन हटा लिया गया. बीसीसीआई और ललित मोदी के बीच विवाद के कारण राजस्थान में क्रिकेट मैच का आयोजन नहीं हो पा रहा था. बीसीसीआई ने शर्त रखी थी कि ललित मोदी के हटने के बाद ही राजस्थान में क्रिकेट की वापसी संभव हो पाएगी.

बीसीसीआई ने कोच्‍ची टस्‍कर्स केरला को 850 करोड़ मुआवजा देने से भी मना कर दिया है. 2011 में एक सीज़न खेलने बाद ही बैंक गारंटी नहीं दे पाने के कारण कोच्‍ची टस्‍कर्स को सस्पेंड कर दिया गया था. बोर्ड ने एक बार फिर नाडा यानी नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी के अधीन आने से मना कर दिया. बोर्ड का तर्क रहा है कि वे पहले ही वाडा के नियमों को मान रहे हैं.

टिप्पणियां
VIDEO: साउथ अफ्रीकी दौरे के लिए कुलदीप यादव का चयन टीम के लिए अच्छा होता : अजय रत्रा

बीसीसीआई के सहसचिव अमिताभ चौधरी का का कहना है कि पाकिस्तान का साथ खेलने का फ़ैसला सरकार को करना है. इस बीच भारत अगले साल अफ़गानिस्तान से टेस्ट मैच भी खेलेगा. इसी साल जून में अफ़गानिस्तान और आयरलैंड को टेस्ट का दर्ज़ा मिला है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement