NDTV Khabar

'यह बड़ा अड़ंगा' युवराज सिंह व सुरेश रैना की वापसी में खड़ा किया बीसीसीआई ने!

बहुत ज्यादा जीतोड़ मेहनत करने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका दौरे में टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद खेली जान वाली छह वनडे मैचों की सीरीज के लिए वापसी करने में नाकाम रहे युवराज सिंह और सुरेश रैना की राह में बीसीसीआई ने एक 'बड़ा रोड़ा' अटका दिया है!

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'यह बड़ा अड़ंगा' युवराज सिंह व सुरेश रैना की वापसी में खड़ा किया बीसीसीआई ने!

खास बातें

  1. ..इसलिए युवी व रैना को फिर से देना होगा फिटनेस टेस्ट
  2. जो भी सीनियर वापसी करेगा, उसे 'यह दम' दिखाना होगा!
  3. नए खिलाड़ियों को परेशान होने की कोई जरुरत नहीं
नई दिल्ली:

बहुत ज्यादा जीतोड़ मेहनत करने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका दौरे में टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद खेली जान वाली छह वनडे मैचों की सीरीज के लिए वापसी करने में नाकाम रहे युवराज सिंह और सुरेश रैना की राह में बीसीसीआई ने एक बड़ा रोड़ा अटका दिया है! रोड़ा यह है कि टीम इंडिया में वापसी करने के लिए इन दोनों को एक बार फिर दोबारा से फिटनेस टेस्ट पास करना होगा. वास्तव में यह अड़ंगा सिर्फ इन दोनों के लिए ही नहींबल्कि तमाम उन सीनियर खिलाड़ियों के लिए है, जो भारतीय टीम में फिर से वापसी करना चाहते हैं. बीसीसीआई के इस अड़ंगे के बाद क्रिकेटप्रेमी अब जोर-शोर से यही चर्चा कर रहे हैं कि बेचारे युवी व रैना! ये तो गए काम से!! 

अब यह तो आप जानते ही हैं कि युवराज सिंह और सुरेश रैना दोनों ही अगस्त में बीसीसीआई के टीम इंडिया में वापसी के लिए अनिवार्य रूप से यो-यो फिटनेस टेस्ट पास करने में नाकाम साबित रहे थे. टेस्ट में फेल होने के बाद इन दोनों ही खिलाड़ियों के नाम पर सेलेक्टरों ने विचार  नहीं किया गया था. इसके बाद दोनों ने ही मैदान पर जमकर पसीना बहाया. दोनों ने ही दक्षिण अफ्रीका में वनडे सीरीज के लिए टीम चुने जाने से पहले यह यो-यो टेस्ट पास भी कर लिया, लेकिन इसके बावजूद एक बार फिर से सेलेक्टरों ने दोनों को टीम में जगह नहीं दी. कहा यह गया कि युवराज ने रणजी ट्रॉफी मैचों में नहीं खेले, तो रैना का प्रदर्शन घरेलू क्रिकेट में स्तरीय नहीं रहा. 


यह भी पढ़ें :  IND VS SA : भारत के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका टीम का ऐलान...इस दिग्गज की हुई वापसी

युवराज सिंह और सुरेश रैना इस झटके से उबरे भी नहीं थे कि अब बोर्ड की तरफ से नई खबर आ रही है. खबर यह है कि अगर ये दोनों फिर से देश के लिए खेलना चाहते हैं, तो इन्हें फिर से यो-यो फिटनेस टेस्ट पास करना होगा. अब आप कहेंगे कि आखिर यह बोर्ड को क्या हो गया है. इनके चाहने वाले सवाल करेंगे कि अभी दस या पंद्रह दिन पहले ही तो इन्होंने फिटनेस टेस्ट पास किया है. ऐसे में एक बार फिर से फिटनेस टेस्ट क्यों? आप दो सौ फीसदी सही हैं, लेकिन दरअसल अब बीसीसीआई की प्लानिंग बदल गई है. बता दें कि बीसीसीआई जल्द ही सीनियर खिलाड़ियों के लिए फिटनेस टेस्ट के लिए नए मानदंड (स्कोर) निर्धारित करने जा रहा है. वरिष्ठ खिलाड़ियों को यो-यो फिटनेस टेस्ट पास करने के लिए अभी तक न्यूनतम 16.1 का स्कोर करना अनिवार्य होता होता था.

टिप्पणियां

VIDEO : दक्षिण अफ्रीका जाने से पहले विराट कोहली ने कई अहम मुद्दों पर बात की.

बोर्ड के नए मानकों के अनुसार वरिष्ठ खिलाड़ियों को टीम इंडिया में वापसी के लिए अनिवार्य रूप से न्यूनतम 16.1 से लेकर 16.5 या 17 का स्कोर करना होगा. ऐसे में अब आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि जब युवी व रैना जैसे तेज तर्रार खिलाड़ियों के लिए 16.1 स्कोर लाने के लिए ही लाले पड़ रहे थे, तो इस नए मानक पर ये कैसे खरे उतरेंगे.बहरहाल बोर्ड ने साफ कर दिया है कि टीम इंडिया में पहली बार आने वाले खिलाड़ियों के लिए न्यूनतम स्कोर 16.1 ही बना रहेगा. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement