98 के स्कोर पर हरमनप्रीत कौर को आया था जबरदस्त गुस्सा, जानें क्या हुआ था

आईसीसी महिला वर्ल्ड कप के नॉक आउट स्टेज में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत रन बनाने के मामले में हरमनप्रीत पहले स्थान पर पहुंच गई हैं.

98 के स्कोर पर हरमनप्रीत कौर को आया था जबरदस्त गुस्सा, जानें क्या हुआ था

महिला वर्ल्ड कप : जब हरमनप्रीत कौर को आया गुस्सा

नई दिल्ली:

तूफानी बल्‍लेबाज हरमनप्रीत कौर की नाबाद 171 रन की पारी की बदौलत भारतीय टीम ने आज यहां आईसीसी महिला वर्ल्‍डकप के सेमीफाइनल मुकाबले में छह बार की चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया को 36 रन से हरा दिया. इस जीत के साथ भारतीय टीम ने प्रतियोगिता के फाइनल में जगह बना ली है जहां उसका मुकाबला 23 जून को मेजबान इंग्‍लैंड से होगा. भारतीय टीम ने दूसरी बार महिला वर्ल्‍डकप के फाइनल में स्‍थान बनाया है इससे पहले वह 2005 में फाइनल में पहुंची थी. हरमनप्रीत की 20 चौकों और सात छक्‍कों से सजी शतकीय पारी की बदौलत भारतीय टीम ने निर्धारित 42 ओवर में चार विकेट पर 281 रन बनाए. जवाब में ऑस्‍ट्रेलिया टीम 40.1 ओवर में 245 रन बनाकर आउट हो गई. बारिश की बाधा के कारण मैच में ओवर की संख्‍या घटाकर  42-42  कर दी गई थी. ऑस्‍ट्रेलिया के लिए एलिसे विलानी ने 75 और एलेक्‍स ब्‍लैकवेल ने 90 रन की साहसिक पारी खेली लेकिन यह टीम को जीत दिलाने के लिहाज से नाकाफी साबित हुई.

यह भी पढ़ें: धमाकेदार पारी से ऑस्‍ट्रेलिया को धोने वाली हरमनप्रीत कौर का जानिए सहवाग कनेक्‍शन

मैच के दौरान एक समय वह आया जब उन्होंने पहले तो कप्तान मिताली राज के साथ शानदार साझेदारी कर टीम को आगे बढ़ाया, इसके बाद दीप्ति शर्मा उनके साथ आ गईं. जब वह 98 के स्कोर पर थीं तो वह 2 रनों के लिए दौड़ीं. लेकिन दीप्ति 2 रन लेने में झिझक रही थीं, लेकिन हरमन के दबाव में उन्हें दौड़ना पड़ा, जिसके बाद हरमनप्रीत कौर दीप्ति पर काफी नाराज हो गई थीं, हालांकि इसके बाद दोनों के बीच अच्छी बातचीत हो गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हरमनप्रीत कौर का तूफानी शतक, छह बार के चैंपियन ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर फाइनल में पहुंचा भारत

उल्लेखनीय है कि भारत के हरमनप्रीत कौर ने अपने नाम कई रिकॉर्ड कायम करने में सफल हुए हैं. आईसीसी महिला वर्ल्ड कप के नॉक आउट स्टेज में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत रन बनाने के मामले में हरमनप्रीत पहले स्थान पर पहुंच गई हैं. इससे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के कारें रोल्टोन के नाम था. साल 2005 के महिला वर्ल्ड कप के फाइनल में रोल्टोन ने भारत के खिलाफ 107 बनाकर यह रिकॉर्ड कायम किया था. 12 साल के बाद बदला लेते हुए हरमनप्रीत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह रिकॉर्ड अपने नाम किया है.