Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

World Cup Final: जिमी नीशाम ने सुपर ओवर में जब छक्का जड़ा तभी उनके स्‍कूली कोच ने ली आखिरी सांस..

World Cup Final: जिमी नीशाम ने सुपर ओवर में जब छक्का जड़ा तभी उनके स्‍कूली कोच ने ली आखिरी सांस..

Jimmy Neesham ने सुपर ओवर में छक्‍का लगाया था, इसके बावजूद न्‍यूजीलैंड टीम को हार का सामना करना पड़ा

खास बातें

  • मैच में न्‍यूजीलैंड को करना पड़ा था हार का सामना
  • अधिक बाउंड्री लगाने के कारण इंग्‍लैंड बन गई चैंपियन
  • 50 ओवर और सुपर ओवर में दोनों टीमों ने बनाए थे बराबर रन
ऑकलैंड:

न्यूजीलैंड के बेहतरीन ऑलराउंडर जेम्‍स (जिमी) नीशाम (Jimmy Neesham) पिछले रविवार को जब इंग्लैंड के खिलाफ (England vs New Zealand, Final) वर्ल्‍डकप (World Cup 2019) के फाइनल के सुपर ओवर में छक्का लगाकर टीम को जिताने की कोशिश कर रहे थे तब उनके हाई स्कूल के शिक्षक और शुरुआती दिनों के कोच डेविड गॉर्डन (Dave Gordon)ने आखिरी सांसें ले रहे थे. मैच में दोनों ही टीमों ने निर्धारित 50 ओवर में 241 रन बनाए थे, इस कारण सुपर ओवर का सहारा लिया गया था. सुपर ओवर में न्यूजीलैंड को जीत के लिये 16 रन चाहिये थे. दुर्भाग्‍य से न्‍यूजीलैंड की टीम सुपर ओवर में भी इंग्‍लैंड के बराबर 15 रन ही बना पाई. सुपर ओवर में भी स्‍कोर बराबर रहने के बाद बाउंड्री (चौकों-छक्कों) की गिनती के आधार पर केन विलियमसन की कीवी टीम को हार का सामना करना पड़ा.

पूर्व क्रिकेटर अब्‍दुल रज्‍जाक का खुलासा-शादी के बाद  5-6 महिलाओं के साथ था अफेयर, देखें VIDEO

इस हार के साथ ही न्‍यूजीलैंड का पहली बार वर्ल्‍डकप चैंपियन बनने का सपना चूर-चूर हो गया और इंग्‍लैंड की टीम पहली बार वर्ल्‍डकप चैंपियन बन गई. न्‍यूजीलैंड की टीम वर्ल्‍डकप 2015 (World Cup 2015) में भी फाइनल में पहुंची थी तब उसे ऑस्‍ट्रेलिया से हारकर खिताब गंवाना पड़ा. गॉर्डन की बेटी लियोनी (Leonie Gordon) ने कहा कि उनके पिता उस समय अस्पताल में थे. उन्होंने स्टफ डाट काम डाट न्यूजीलैंड से कहा,‘आखिरी ओवर में और सुपर ओवर में एक नर्स भीतर आई तो उसने बताया कि उनकी सांस की गति बदल रही है. मुझे लगता है कि जब नीशाम (Jimmy Neesham) ने वह छक्का जड़ा, तब उन्होंने आखिरी सांस ली.'

MS धोनी के रनआउट को लेकर जेम्‍स नीशाम ने किया ट्वीट, बाद में इसलिए करना पड़ा डिलीट

लियोनी ने कहा, "उनका (मेरे पिता का) सेंस ऑफ ह्यूमर विचित्र था और वह बहुत दिलचस्प आदमी थे. उन्हें बहुत अच्छा लगा होगा कि नीशाम ने छक्का मारा."लियोनी ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि खिलाड़ी ने उनके पिता को श्रद्धांजलि दी. गौरतलब है कि गॉर्डन ने नीशाम, लॉकी फर्ग्‍यूसन और कई अन्य खिलाड़ियों को हाई स्कूल के दौरान कोचिंग दी. वह 25 वर्षो तक स्कूल में क्रिकेट और हॉकी के कोच रहे.नीशाम ने गुरुवार को ट्वीट किया,‘डेव गार्डन, मेरे हाईस्कूल शिक्षक, कोच और दोस्त. खेल के प्रति आपका प्यार अनुकरणीय था. खासकर उन खुशकिस्मत लोगों के लिये जो आपके मार्गदर्शन में खेले. उम्मीद है कि उस मैच में हमारे प्रदर्शन पर आपको गर्व हुआ होगा. धन्यवाद. ईश्वर आपकी आत्मा को शांति दे.' (इनपुट: एजेंसी)

वीडियो: न्‍यूजीलैंड को हराकर इंग्‍लैंड पहली बार बना वर्ल्‍डकप चैंपियन