World Cup 2019: सचिन तेंदुलकर ने सुपर ओवर में मैच टाई रहने की सूरत में दिया यह 'नया सुझाव'

World Cup 2019: सचिन तेंदुलकर ने सुपर ओवर में मैच टाई रहने की सूरत में दिया यह 'नया सुझाव'

सचिन तेंदुलकर की फाइल फोटो

खास बातें

  • क्या आईसीसी सुनेगी सचिन का सुझाव?
  • फाइनल में नहीं भाया सचिन को बाउंड्री से फैसला
  • बोले-सेमीफाइनल में धोनी को नंबर पांच पर भेजता
नई दिल्ली:

इंग्लैंड में खत्म हुए वर्ल्ड कप (World Cup 2019) के फाइनल के परिणाम और विवाद पर चर्चा  थमने का नाम नहीं ले रही है. अब क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने भी पहली बार विवाद पर अपना मुंह खोलते हुए कहा है कि सुपर ओवर में टाई होने पर "ज्यादा बाउंड्री' के आधार पर फैसला नहीं किया जाना चाहिए था. हालांकि, जो गुजर गया, वह तो निर्धारित नियमों के हिसाब से हुआ और ऐसा ही होना था, लेकिन सचिन की इस सलाह को आईसीसी आने वाले टूर्नामेंटों में जरूर अमल में लाने पर विचाकर कर सकती है. 

करोड़ों क्रिकेटप्रेमियों ने देखा कि गुजरे रविवार को पहले मैच सुपर ओवर में पहुंचा. और इसके बाद सुपर ओवर में भी जब एक बार फिर से मैच टाई हो गया, तो लार्ड्स में रविवार को खेले गए फाइनल में इंग्लैंड को अधिक बाउंड्री लगाने के कारण विजेता घोषित किया गया, लेकिन सचिन तेंदुलकर को तरीका नागवार गुजरा है. वास्तव में इस नियम के अलावा ओवर-थ्रो भी विवाद का बड़ा विषय बना हुआ है. 

यह भी पढ़ें: बीसीसीआई ने मांगे मुख्य कोच सहित छह अन्य पदों के लिए आवेदन, ये हैं शर्तें लेकिन रवि शास्त्री...

बहरहाल, तेंदुलकर ने विश्व कप फाइनल जैसी स्थिति आने पर ‘बाउंड्री'की संख्या के आधार पर विजेता का निर्धारण करने के बजाय एक दूसरा सुपर ओवर खेलने की वकालत की है. तेंदुलकर ने अपनी एप्प 100एमबी पर बात करते हुए कहा कि  मुझे लगता है कि दोनों टीमों की बाउंड्री पर विचार करने के बजाय एक अन्य सुपर ओवर से विजेता का फैसला होना चाहिए था. केवल विश्व कप फाइनल ही नहीं, प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण है. जिस तरह से फुटबाल में जब टीमें अतिरिक्त समय में जाती है तो पूर्व का खेल कुछ मायने नहीं रखता'

यह भी पढ़ेंराजनीति नहीं, एमएस धोनी संन्यास के बाद कर सकते हैं यह काम, मैनेजर ने दिया इशारा

तेंदुलकर से पूछा गया कि नाकआउट चरण में विश्व कप के प्रारूप में बदलाव की जरूरत है, तो उन्होंने कहा, ‘जो दो टीमें चोटी पर रहती हैं उनके लिये निश्चित तौर पर निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने के लिए कुछ होना चाहिए.' उन्होंने इसके साथ ही कहा कि सेमीफाइनल में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को नंबर सात के बजाय नंबर पांच पर भेजा जाना चाहिए था. 

VIDEO: वर्ल्ड कप के लीग मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 89 रन से मात दी थी. 

तेंदुलकर ने कहा, ‘निसंदेह, मैं धोनी को नंबर पांच पर भेजता. भारत तब जिस स्थिति में था तब वह पारी संवार सकते थे. हार्दिक छठे और कार्तिक सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आ सकते थे'

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com