NDTV Khabar

World Cup, IND vs BAN: इन 'वास्तविक कारणों' से कुलदीप व केदार को नहीं मिली इलेवन में जगह

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
World Cup, IND vs BAN: इन 'वास्तविक कारणों' से कुलदीप व केदार को नहीं मिली इलेवन में जगह

भारत बनाम बांग्लादेश: हालात अगर फिर अनुकूल हुए, तो कुलदीप फिर से इलेवन का हिस्सा होंगे

खास बातें

  1. कुलदीप की जगह भुवनेश्वर टीम में आए
  2. भारत चार सीमर और एक स्पिनर के साथ उतरा
  3. केदार की जगह दिनेश कार्तिक को मिला मौका
बर्मिंघम:

इंग्लैंड में जारी वर्ल्ड कप (World Cup 2019, #INDvBAN #INDvsBAN) में मंगलवार को बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के खिलाफ के खिलाफ मुकाबले (मैच रिपोर्ट) में टीम इंडिया इलेवन में बहले से बदलाव तय माने जा रहे थे. वास्तव में यह इंग्लैंड के खिलाफ एजबस्टन में एक दिन पहले ही खेले गए मुकाबले में साफ हो गया था. इसीलिए जब बांग्लादेश के खिलाफ टॉस के समय भारतीय टीम सामने आई तो करोड़ों क्रिकेटप्रेमियों को ज्यादा हैरानी नहीं हुई, लेकिन चलिए हम आपको यह साफ किए देते हैं कि बदलाव आखिर करने पड़े, तो क्यों करने पड़े. 

यह भी पढ़ें: पूर्व तेज गेंदबाज वकार यूनुस बोले, अगर पाकिस्तान सेमीफाइनल में पहुंचा तो...


दरअसल जैसा हमने बताया था कि इंग्लैंड के खिलाफ मैच के बाद पुरस्कार समारोह में ही विराट कोहली ने इशारा दे दिया था. पहले कुलदीप यादव की जगह भुवनेश्वर को खिलाने पर चर्चा कर लेते हैं. दरअसल कुलदीप को न खिलाने की वजह सिर्फ यही नहीं है कि पिछले तीन मैचों में कुलदीप फेंके 29 ओवरों में सिर्फ तीन ही विकेट चटका सके और उनकी गेंदबाजी में वैसी परिपक्वता नहीं दिखाई पड़ी जिसकी उम्मीद की जा रही थी. दरअसल इंग्लैंड के मैच के बाद कोहली ने कहा था कि स्पिनरों को एजबस्टन में और होशियारी दिखानी चाहिए थी.

यह भी पढ़ें: ICC से नाराज है भारतीय क्रिकेट टीम, बताई यह वजह

कारण यह था कि एजबस्टन मैदान की बाउंड्री 59 मी. की है. यह अंतरराष्ट्रीय मानकों के लिहाज से सबसे छोटी बाउंड्री है. वहीं यह पिच बीच में स्थित नहीं है. एक तरफ बाउंड्री छोटी है और एक तरफ से बड़ी. यही वजह रही कि इंग्लिश बल्लेबाजों ने रिवर्स स्वीप के जरिए भी छक्के जड़ डाले. ऐसे में कुलदीप यादव को खिलाने का कोई फायदा ही नहीं था. कुलदीप फ्लाइट ज्यादा देते हैं और बल्लेबाज उन्हें आसानी से बाउंड्री के पार पहुंचा देते. यही वजह रही कि कुलदीप की जगह भुवनेश्वर को इलेवन में लाया गया 

यह भी पढ़ें: इसलिए टीम मैनेजमेंट ने सेलेक्टरों से की मयंक अग्रवाल की मांग, आईसीसी ने दी मंजूरी

वहीं, केदार जाधव ने विंडीज के खिलाफ 68 गेंदों पर 52 रन जरूर बनाए थे, लेकिन धोनी के साथ उनकी धीमी साझेदारी को लेकर सभी ने उंगली उठाई थी. इसके बाद केदार जाधव न विंडीज के खिलाफ चले और न इंग्लैंड के खिलाफ. लेकिन क्रिकेट पंडितों ने इस बात को और ज्यादा गंभीरता से लिया कि जब कप्तान विराट जाधव का गेंदबाजी में बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, तो फिर क्यों न दिनेश कार्तिक को ही खिलाया जाए. आप भरोसा कीजिए कि अगर जाधव पिछले मैचों में कुछ ओवर गेंदबाजी करते और विकेट ले लेते, तो बांग्लादेश के खिलाफ उन्हें सौ फीसदी खिलाया जाता. 

टिप्पणियां


VIDEO: पिछले मैच में इंग्लैंड ने भारत को 31 रन से हराया था. 

अगर कुलदीप यादव बांग्लादेश के खिलाफ बाहर बैठे, तो पिच का स्वभाव और मैदान की लंबाई उनके चयन में आड़े आ गई, तो केदार का गेंदबाजी में बिल्कुल भी इस्तेमाल न करना दिनेश कार्तिक के लिए बांग्लादेश के खिलाफ चयन का दरवाजा खोल गया. वहीं, मुसीबतें केएल राहुल के लिए भी हैं. और अगर केएल राहुल बांग्लादेश के खिलाफ रन नहीं बनाते हैं, तो फिर उनके लिए बतौर ओपनर भी मुश्किलें तो पैदा होंगी ही, वहीं नंबर-4 पर भी उन्हें समयोजित करना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... 'तानाजी' कर रही तूफानी कमाई, सैफ अली खान बोले-फिल्म में मेरा किरदार...

Advertisement