वर्ल्डकप 2015 सेमीफाइनल : दक्षिण अफ्रीका नहीं धो पाया 'चोकर्स' का दाग, न्यूजीलैंड फाइनल में

वर्ल्डकप 2015 सेमीफाइनल : दक्षिण अफ्रीका नहीं धो पाया 'चोकर्स' का दाग, न्यूजीलैंड फाइनल में

ऑकलैंड : ग्रांट इलियट के नाबाद जुझारू अर्धशतक की मदद से न्यूजीलैंड ने दक्षिण अफ्रीका को एक बार फिर चोकर साबित करते हुए आज यहां डकवर्थ लुईस पद्धति के आधार पर चार विकेट की जीत के साथ पहली बार आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में जगह बनाई।

रिकार्ड सातवीं बार सेमीफाइनल में खेल रहे न्यूजीलैंड ने इलियट की 73 गेंद में सात चौकों और तीन छक्कों की मदद से खेली नाबाद 84 रन की पारी की बदौलत एक गेंद शेष रहते छह विकेट पर 299 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका के 298 रन के लक्ष्य का हासिल कर लिया।

इलियट ने कोरी एंडरसन (58) के साथ पांचवें विकेट के लिए 103 रन की साझेदारी भी की। उन्होंने डेल स्टेन पर छक्का जड़कर अपनी टीम को जीत दिलाई। इससे पहले कप्तान ब्रैंडन मैक्‍कुलम ने भी सिर्फ 26 गेंद में 59 रन की पारी खेली।

दक्षिण अफ्रीका ने फाफ डु प्लेसिस (107 गेंद में 82) और कप्तान एबी डिविलियर्स (45 गेंद में नाबाद 65) की उम्दा पारियों के बाद डेविड मिलर (18 गेंद में 49 रन) की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की मदद से पांच विकेट पर 281 रन बनाए। लक्ष्य को डकवर्थ लुइस के आधार पर दोबारा तय किया गया क्योंकि ईडन पार्क पर बारिश के कारण लगभग दो घंटे खेल रुकने के कारण मैच को 50 ओवर की जगह 43 ओवर का कर दिया गया।

दक्षिण अफ्रीका की हार में खराब क्षेत्ररक्षण की भी भूमिका रही क्योंकि उसने विरोधी बल्लेबाजों को आउट करने के कुछ मौके भी गंवाए। इलियट भी दो बार आउट होने से बचे।

न्यूजीलैंड अब 29 मार्च को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर होने वाले फाइनल में गत चैम्पियन भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले सेमीफाइनल के विजेता से भिड़ेगा।

न्यूजीलैंड को मैक्‍कुलम ने एक बार फिर तूफानी शुरूआत दिलाई। उन्होंने सिर्फ 22 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। स्टेन पर छक्के से शुरूआत करने के बाद उन्होंने वर्नन फिलेंडर के पारी के दूसरे ओवर में भी एक छक्का और दो चौके मारे।

मैक्‍कुलम ने पांचवें ओवर में स्टेन को निशाना बनाते हुए दो छक्कों और तीन चौकों की मदद से 25 रन जुटाए और इस दौरान अर्धशतक भी पूरा किया। न्यूजीलैंड ने पांच ओवर में 71 रन बनाए। मोर्ने मोर्कल ने मैक्‍कुलम को मिड ऑन पर स्टेन के हाथों कैच कराके कुछ राहत दी। उन्होंने 26 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके और चार छक्के मारे।

केन विलियमसन (06) भी मोर्कल की गेंद को विकेटों पर खेलकर पवेलियन लौटे जबकि पिछले मैच में नाबाद दोहरा शतक जड़ने वाले सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल (34) रोस टेलर के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए जिससे स्कोर तीन विकेट पर 128 रन हो गया।

टेलर भी कुछ देर टिकने के बाद पिछले मैच में हैट्रिक बनाने वाले जेपी डुमिनी की गेंद पर विकेटकीपर क्विंटन डि काक को कैच दे बैठे। उन्होंने 39 गेंद में चार चौकों की मदद से 30 रन बनाए।

इलियट और एंडरसन ने इसके बाद पारी को संभाला। एंडरसन ने फिलेंडर और डुमिनी पर छक्के जड़े। दोनों ने 31वें ओवर में टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। डिविलियर्स ने 32वें ओवर में एंडरसन को रन आउट करने का बेहद आसान मौका गंवा दिया। न्यूजीलैंड ने 33वें ओवर में पावर प्ले लिया और चार ओवर में 35 रन जुटाए। इस दौरान पारी के 36वें ओवर में एंडरसन और इलियट ने ताहिर पर चौके जड़कर क्रमश: 46 और 53 गेंद पर अर्धशतक पूरे किए।

एंडरसन हालांकि मोर्कल की गेंद का हवा में लहराने के बाद डु प्लेसिस को कैच दे बैठे। उन्होंने 57 गेंद की अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के मारे।

न्यूजीलैंड को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 46 रन की दरकार थी। स्टेन ने 41वें ओवर में ल्यूक रोंची (08) को रिली रोसेयु के हाथों कैच कराके दक्षिण अफ्रीका का पलड़ा भारी किया।

न्यूजीलैंड को अंतिम ओवर में 12 रन चाहिए थे। डेनियल विटोरी (नाबाद 7) ने पहले स्टेन पर चौका मारा और फिर इलियट ने पांचवीं गेंद पर छक्का जड़कर न्यूजीलैंड को पहली बार फाइनल में पहुंचा दिया और दक्षिण अफ्रीका को चौथी बार सेमीफाइनल में हार के बाद विश्व कप से खाली हाथ स्वदेश लौटना होगा।

न्यूजीलैंड ने इसके साथ ही डिविलियर्स को भी कड़ा जवाब दे दिया जिन्होंने कहा था कि अब उनकी टीम को खिताब जीतने से कोई नहीं रोक सकता।

इससे पहले मिलर ने अपनी पारी में छह चौके और तीन छक्के मारे। वह विश्व कप में सबसे तेज अर्धशतक के रिकार्ड की बराबरी करने से चूक गए। उन्होंने डिविलियर्स के साथ चार ओवर में 55 रन की साझेदारी की। दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 38 ओवर के बाद तीन विकेट पर 216 रन था लेकिन मिलर की पारी की मदद से टीम ने अंतिम पांच ओवर में 65 रन जोड़े।

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका को शुरूआत में परेशानी हुई। तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट (53 रन पर दो विकेट) ने दोनों सलामी बल्लेबाजों हाशिम अमला (10) और क्विंटन डि काक (14) को आठवें ओवर तक पवेलियन भेज दिया जबकि टीम का स्कोर 31 रन ही था। इन दोनों को जीवनदान मिला लेकिन वे इसका फायदा नहीं उठा पाए।

बोल्ट इन दो विकेट के साथ किसी एक विश्व कप में न्यूजीलैंड की ओर से सर्वाधिक विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज बने। बोल्ट के इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक 21 विकेट हो गए हैं। उन्होंने ज्यौफ एलोट को पीछे छोड़ा जिन्होंने 1999 में 20 विकेट हासिल किए थे। न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैक्‍कुलम ने आक्रामक रुख अपनाया और एक समय वह पांच स्लिप और एक गली के साथ आक्रमण कर रहे थे।

डु प्लेसिस और रिली रोसेसु (39) ने तीसरे विकेट के लिए 83 रन जोड़कर पारी को संभाला। कोरी एंडरसन (72 रन पर तीन विकेट) ने रोसेयु को गुप्टिल के हाथों कैच कराके इस साझदेारी को तोड़ा। उन्होंने 53 गेंद की अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का मारा।

डिविलियर्स इसके बाद क्रीज पर उतरे और उन्होंने जल्द ही अपनी टीम को हावी कर दिया। वह 36वें ओवर में भाग्यशाली भी रहे जब एंडरसन की गेंद पर विलियमसन ने उनका कैच टपका दिया। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने अगली ही गेंद पर छक्का जड़ा और फिर इसी ओवर में दो और चौके जड़कर अपने इरादे जाहिर कर दिए।

डिविलियर्स ने डु प्लेसिस के साथ मिलकर 37वें ओवर में टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। टीम का स्कोर 38वें ओवर में जब तीन विकेट पर 216 रन था तब बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दोबारा खेल शुरू होने पर डु प्लेसिस तुरंत ही एंडरसन की गेंद पर विकेटकीपर ल्यूक रोंची को कैच दे बैठे जिससे डिविलियर्स के साथ उनकी 103 रन की साझेदारी का अंत हुआ।

मिलर ने इसके बाद तूफानी बल्लेबाजी का नजारा पेश करते हुए दक्षिण अफ्रीका को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। उन्होंने पारी के अंतिम ओवर में एंडरसन की गेंद पर विकेटकीपर को कैच दिया।