मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद की तरह सौरव गांगुली ने भी ऋद्धिमान साहा को बताया टेस्‍ट में विकेटकीपर के रूप में पहली पसंद

मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद की तरह सौरव गांगुली ने भी ऋद्धिमान साहा को बताया टेस्‍ट में विकेटकीपर के रूप में पहली पसंद

सौरव ने कहा कि पार्थिव अच्‍छे विकेटकीपर हैं लेकिन उन्‍हें अभी इंतजार करना होगा (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कहा-ऋद्धि टेस्ट स्तर पर सफल रहा, इसलिए वह स्वत: पसंद है
  • पार्थिव पटेल अच्‍छा विकेटकीपर, लेकिन उसे इंतजार करना होगा
  • एमएसके प्रसाद भी साहा को बता चुके हैं टेस्‍ट मैचों की पहली पसंद
कोलकाता:

मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के सुर में सुर मिलाते हुए टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली ने भी ऋद्धिमान साहा को टेस्‍ट में विकेटकीपर के रूप में पहली पसंद करार दिया है. साहा ने मंगलवार को ईरानी ट्रॉफी मुकाबले में शेष इंडिया की ओर से खेलते हुए गुजरात के खिलाफ दोहरा शतक जमाया और टेस्‍ट में विकेटकीपर के तौर पर परोक्ष रूप से उन्‍हें पार्थिव पटेल पर तरजीह दी. गौरतलब है कि साहा के चोटिल होने के कारण इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के ज्‍यादातर मुकाबलों में पार्थिव ने विकेट के पीछे जिम्‍मेदारी निभाई थी. इस दौरान गुजरात रणजी टीम के कप्‍तान पार्थिव ने बल्‍ले से भी अच्‍छा प्रदर्शन किया था.

बहरहाल, ईरानी ट्रॉफी में नाबाद 203 रनों की धमाकेदार पारी खेलते हुए साहा ने पार्थिव के मुकाबले अपने आपको काफी आगे खड़ा कर लिया. अपनी इस पारी के दौरान उन्‍होंने न केवल चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 123) के साथ 316 रन की नाबाद साझेदारी निभाई बल्कि शेष भारत की टीम को ईरानी ट्रॉफी चैंपियन बनाने में भी कामयाब रहे. अपनी इस पारी से उन्‍होंने टेस्‍ट टीम में फिर से फर्स्‍ट च्‍वॉइस विकेटकीपर बल्‍लेबाज के रूप में अपना दावा मजबूत कर लिया है. गांगुली के ही राज्‍य पश्चिम बंगाल से खेलने वाले साहा की पारी की चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद भी प्रशंसा कर चुके हैं.

सौरव गांगुली ने कहा, ‘यह घरेलू क्रिकेट है लेकिन ऋद्धि टेस्ट स्तर पर सफल रहा, इसलिए वह स्वत: पसंद है. उन्‍होंने कहा कि पार्थिव अच्छा विकेटकीपर है लेकिन उसे इंतजार करना होगा. ’ इससे पहले उन्होंने कूच बेहार ट्रॉफी जीतने वाली बंगाल की अंडर-19 टीम के खिलाड़ियों को सम्मानित किया. रिपोर्ट के अनुसार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारत और बांग्लादेश के बीच अगले माह शुरू होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच के लिये कोलकाता को स्टैंडबाई के रूप में रखा है, लेकिन गांगुली ने कहा कि वह इससे अवगत नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘मुझे पता नहीं है। इसमें टिकटों की प्रिटिंग और अन्य व्यवस्थाएं जुड़ी हैं.अगर आखिरी क्षणों में कहा जाता है तो हम इसकी मेजबानी नहीं कर सकते. इसके लिए काफी काम करना पड़ता है. देखते हैं क्या होता है.’

प्रसाद ने भी ईरानी ट्रॉफी मुकाबले के बाद संकेत दिए थे कि ऋद्धिमान साहा ही टेस्ट मैचों में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज़ पहली पसंद होंगे. उन्‍होंने कहा था कि साहा चूंकि चोट की वजह से टीम से बाहर हुए थे, ऐसे में ईरानी ट्रॉफी का मैच उनके प्रदर्शन को नहीं बल्कि फिटनेस को परखने के लिए था. प्रसाद ने कहा, ‘हमने स्पष्ट कर दिया है कि चोट से वापसी करने वाले खिलाड़ी को घरेलू मैच में खेलना होगा और यह उसके लिए सर्वश्रेष्ठ मौका था. फिलहाल साहा और पार्थिव पटेल के रूप में हमारे पास टेस्‍ट में सर्वश्रेष्ठ नंबर एक और दो विकेटकीपर हैं. फिटनेस परखने के लिए ही हमने साहा को यहां खिलाया.’

बहरहाल, ईरानी ट्रॉफी में नाबाद 203 रनों की धमाकेदार पारी खेलते हुए साहा ने पार्थिव के मुकाबले अपने आपको काफी आगे खड़ा कर लिया. अपनी इस पारी के दौरान उन्‍होंने न केवल चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 123) के साथ 316 रन की नाबाद साझेदारी निभाई बल्कि शेष भारत की टीम को ईरानी ट्रॉफी चैंपियन बनाने में भी कामयाब रहे. अपनी इस पारी से उन्‍होंने टेस्‍ट टीम में फिर से फर्स्‍ट च्‍वॉइस विकेटकीपर बल्‍लेबाज के रूप में अपना दावा मजबूत कर लिया है. गांगुली के ही राज्‍य पश्चिम बंगाल से खेलने वाले साहा की पारी की चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद भी प्रशंसा कर चुके हैं.

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल (कैब) के अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, ‘यह घरेलू क्रिकेट है लेकिन ऋद्धि टेस्ट स्तर पर सफल रहा, इसलिए वह स्वत: पसंद है. उन्‍होंने कहा कि पार्थिव अच्छा विकेटकीपर है लेकिन उसे इंतजार करना होगा. ’ इससे पहले उन्होंने कूच बेहार ट्रॉफी जीतने वाली बंगाल की अंडर-19 टीम के खिलाड़ियों को सम्मानित किया. रिपोर्ट के अनुसार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारत और बांग्लादेश के बीच अगले माह शुरू होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच के लिये कोलकाता को स्टैंडबाई के रूप में रखा है, लेकिन गांगुली ने कहा कि वह इससे अवगत नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘मुझे पता नहीं है। इसमें टिकटों की प्रिटिंग और अन्य व्यवस्थाएं जुड़ी हैं.अगर आखिरी क्षणों में कहा जाता है तो हम इसकी मेजबानी नहीं कर सकते. इसके लिए काफी काम करना पड़ता है. देखते हैं क्या होता है.’

प्रसाद ने भी ईरानी ट्रॉफी मुकाबले के बाद संकेत दिए थे कि ऋद्धिमान साहा ही टेस्ट मैचों में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज़ पहली पसंद होंगे. उन्‍होंने कहा था कि साहा चूंकि चोट की वजह से टीम से बाहर हुए थे, ऐसे में ईरानी ट्रॉफी का मैच उनके प्रदर्शन को नहीं बल्कि फिटनेस को परखने के लिए था. प्रसाद ने कहा, ‘हमने स्पष्ट कर दिया है कि चोट से वापसी करने वाले खिलाड़ी को घरेलू मैच में खेलना होगा और यह उसके लिए सर्वश्रेष्ठ मौका था. फिलहाल साहा और पार्थिव पटेल के रूप में हमारे पास टेस्‍ट में सर्वश्रेष्ठ नंबर एक और दो विकेटकीपर हैं. फिटनेस परखने के लिए ही हमने साहा को यहां खिलाया.’

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com