NDTV Khabar

युवराज के लिए होगा बांग्लादेश के खिलाफ मैच यादगार, खेलेंगे 300वां वनडे

युवराज से पहले चार भारतीय खिलाड़ी खेल चुके हैं 300 से ज्यादा वनडे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
युवराज के लिए होगा बांग्लादेश के खिलाफ मैच यादगार, खेलेंगे 300वां वनडे

युवराज सिंह चैंपियंस ट्रॉफी में बांग्लादेश के खिलाफ अपना 300 वां अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेलेंगे.

खास बातें

  1. 463 वनडे मैचों के साथ सबसे ऊपर सचिन तेंदुलकर का नाम
  2. युवराज ने 17 साल के करियर में 299 वनडे में 8622 रन बनाए
  3. युवी ने 5.10 की इकॉनामी से 111 विकेट भी लिए
नई दिल्ली:
टिप्पणियां

चैंपियंस ट्रॉफी में बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबला युवराज सिंह के लिए अहम मैच होगा. मैदान और मैदान के बाहर दोनों जगह सुपरहिट यह खिलाड़ी अपने वनडे करियर का 300वां अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेलने बर्मिंघम के मैदान में उतरेगा.

युवराज से पहले चार भारतीय खिलाड़ी 300 से ज्यादा वनडे खेल चुके हैं. इस लिस्ट में 463 वनडे मैचों के साथ सबसे ऊपर सचिन तेंदुलकर का नाम है. दूसरे नंबर पर राहुल द्रविड़, तीसरे पर मोहम्मद अजहरुद्दीन और चौथे नंबर पर सौरव गांगुली जैसे दिग्गज खिलाड़ी मौजूद हैं.
 
300 वनडे क्लब में भारतीय खिलाड़ी
सचिन तेंदुलकर           463
राहुल द्रविड़                340
मोहम्मद अज़हरुद्दीन    334
सौरव गांगुली               311
युवराज सिंह                299
 
जनवरी में हुई इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज़ के लिए जब युवराज सिंह का चयन हुआ तब कई जानकारों ने उनके टीम में होने पर सवाल उठाए. लेकिन कप्तान विराट कोहली ने साफ कर दिया कि युवी को चैंपियंस ट्रॉफी को देखते हुए टीम में जगह दी गई है.
 
युवराज ने कोहली के भरोसे को बरकरार रखते हुए. इंग्लैंड के खिलाफ कटक वनडे में 150 रन की दमदार पारी खेली. 2007 आईसीसी T20 वर्ल्ड कप में एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाले बल्लेबाज को 11 साल बाद चैंपियंस ट्रॉफी में खेलने का मौका मिल गया. यहां भी युवी ने पाकिस्तान के खिलाफ 32 गेंदों पर 53 रन की पारी से पुराने युवराज की याद दिला दी. इस पारी में युवी ने 165.62 की स्ट्राइक रेट से खेला और पारी में 8 चौके और एक छक्का लगाया.
 
35 साल के युवराज ने 17 साल के करियर में कई उतार-चढ़ाव के बीच 299 वनडे में 8622 रन बनाए हैं. इसमें 52 अर्द्धशतक और 14 शतक शामिल है. वहीं गेंदबाजी करते हुए युवी ने 5.10 की इकॉनामी से 111 विकेट भी लिए हैं.
 
वैसे युवराज इकलौते खिलाड़ी हैं जो पांचवी बार चैंपियंस ट्रॉफी खेल रहे हैं. अंडर 19 वर्ल्ड कप में अच्छे फ़ॉर्म की वजह से वे सीनियर टीम में आए और वनडे डेब्यू आईसीसी नॉकआउट टूर्नामेंट 2000 में किया था. इसमें वे केन्या के खिलाफ खेले लेकिन उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला. यह युवराज के लिए आखिरी चैंपियंस ट्रॉफी भी है. ऐसे में युवी इसे खास बनाने के लिए जीत से कम कुछ और नहीं चाहेंगे.




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement