NDTV Khabar

क्या मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ अपना विदाई मैच खेलेंगे विस्फोटक बल्लेबाज युवराज सिंह?

विस्फोटक बल्लेबाज युवराज सिंह इन दिनों भारतीय टीम में वापसी के लिए खूब मेहनत कर रहे हैं.

227 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ अपना विदाई मैच खेलेंगे विस्फोटक बल्लेबाज युवराज सिंह?

युवराज सिंह (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मोहाली में अपना विदाई मैच खेल सकते हैं विस्फोटक बल्लेबाज युवराज!
  2. NCA में बहा रहे हैं पसीना
  3. युवराज ने पंजाब की ओर से सिर्फ एक मैच अभी खेले हैं
नई दिल्ली: विस्फोटक बल्लेबाज युवराज सिंह इन दिनों भारतीय टीम में वापसी के लिए खूब मेहनत कर रहे हैं. युवराज सिंह यो-यो टेस्ट पास करने के मकसद से बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में जमकर पसीना बहा रहे हैं. लेकिन बीसीसीआई को यह रास नहीं आ रहा है. क्योंकि इस रणजी सीजन में युवराज ने पंजाब की ओर से सिर्फ एक मैच अभी खेले हैं, जबकि पंजाब चार मैच खेल चुका है. युवराज ने इस मैच में 20 और 42 रन बनाए थे, लेकिन उसके बाद युवराज ने एक भी मैच नहीं खेला. बीसीसीआई को यह बात इसलिए भी रास नहीं आ रहा है, क्योंकि युवराज को कोई चोट भी नहीं लगी है फिर भी वो रणजी मैच को छोड़कर एनसीए में पसीना बहा रहे हैं. अभी हाल ही में 38 वर्ष की उम्र में तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने अपने होम ग्राउंड दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में संन्यास की घोषणा की थी. अब अटकलें लगाई जा रही हैं कि युवराज भी श्रीलंका के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज में संन्यास ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें:  दक्षिण अफ्रीका दौरे को लेकर रवींद्र जडेजा बोले, 'मैं इस बात को लेकर जरा भी चिंतित नहीं हूं..'
 
श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे मैच धर्मशाला में खेला जाएगा, जबकि दूसरा मैच मोहाली क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा. मोहाली युवराज का होम ग्राउंड भी है. सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि बीसीसीआई ने यह संदेश युवराज तक पहुंचा दिया है कि वो चाहें तो अपने होम ग्राउंड मोहाली में संन्यास ले सकते सकते हैं. लेकिन युवराज के एक करीबी ने बताया कि यह बीसीसीआई कैसे निर्धारित कर सकता है कि कौन सा खिलाड़ी कब संन्यास लेगा. युवराज पिछले चार सप्ताह से एनसीए में पसीना बहा रहे हैं. इस महीने के आखिरी में यो-यो टेस्ट होना है और इसी को देखते हुए युवराज ने पसीना बहाना शुरू किया, जिससे उनकी टीम इंडिया में वापसी हो सके. टीम मैनेजमेंट ने यह निर्धारित कर दिया है कि यो-यो टेस्ट को पास किए बिना किसी भी खिलाड़ी को जगह नहीं मिलेगी.

यह भी पढ़ें: कोहली को मिला गांगुली का साथ, दादा बोले- दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारी के लिए समय चाहिए था

युवराज जल्दी ही 36 साल को हो जाएंगे और टीम मैनेजमेंट को भी शायद लगता है कि वह 2019 के विश्व कप में टीम की योजनाओं के हिस्सा नहीं हैं. तभी तो चयनकर्ता लगातार उनकी अनदेखी कर रहे हैं. युवी के एक करीबी ने बताया कि युवराज हर हाल में 2019 का विश्व कप खेलना चाहते हैं और टीम के लिए एक बार फिर से विश्व कप की ट्रॉफी को जीतना चाहते हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए युवराज प्रैक्टिस कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि युवराज के संन्यास लेने का भी सवाल ही नहीं है, क्योंकि उनमें अभी भी काफी क्रिकेट बाकी है. युवराज 2019 का विश्व कप खेलकर खुशी-खुशी संन्यास ले लेंगे.

VIDEO: यो यो टेस्ट में फेल हुए युवराज सिंह और सुरेश रैना
युवराज ने इसी साल जून में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना आखिरी वनडे मैच खेला था, जिसमें उन्होंने 39 रन बनाए थे. लेकिन उसके बाद लगातार उनकी अनदेखी होती रही. युवराज ने इसी साल के जनवरी में चात साल बाद इंग्लैंड के खिलाफ सफल वापसी की थी. युवराज ने इस सीरीज में अपना सार्वाधिक स्कोर भी बनाया था. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement