NDTV Khabar

गुरुग्राम: फर्जी कॉल सेंटर बनाकर अच्छी नौकरी देने के बहाने करते थे ठगी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

कॉल सेंटर के मालिक और उसके कर्मचारी एक फर्जी वेबसाइट का इस्तेमाल कर नौकरी देने के नाम पर युवाओं से पैसे लेते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरुग्राम: फर्जी कॉल सेंटर बनाकर अच्छी नौकरी देने के बहाने करते थे ठगी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. फर्जी वेबसाइट का इस्तेमाल कर नौकरी देने के नाम पर युवाओं से लेते थे पैसे
  2. पुलिस ने छापा मारकर मालिक सहित 14 लोगों को किया गिरफ्तार
  3. आरोपियों में एक बहुमंजिला इमारत में बना रखा था ऑफिस
गुरुग्राम:

गुरुग्राम पुलिस की साइबर अपराध शाखा ने नौकरी देने के नाम पर एक कॉल सेंटर के जरिए युवाओं को चूना लगाने वाले गिरोह का बुधवार को भंडाफोड़ किया. बता दें, कॉल सेंटर के मालिक और उसके कर्मचारी एक फर्जी वेबसाइट का इस्तेमाल कर नौकरी देने के नाम पर युवाओं से पैसे लेते थे. पुलिस ने इस सिलसिले में सोहना रोड स्थित स्पेज टॉवर में छापेमारी करके गिरोह के सरगना समेत 14 लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों ने इस बहुमंजिला व्यापार केंद्र में एक ऑफिस ले रखा था. पुलिस ने बताया कि अपराधियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 120बी और 66 के साथ-साथ आयकर अधिनियम की धारा 66 और 66 डी के तहत उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

गुरुग्राम में महिला की युवक ने बेरहमी से पिटाई की, वीडियो वायरल


सहायक पुलिस आयुक्त (अपराध शाखा) प्रीतपाल सिंह ने बताया कि आरोपी टाइम्सजॉब डॉट कॉम जैसी प्रमुख साइटों से नौकरी चाहने वालों का रिज्यूम प्राप्त करके अभ्यर्थियों को आकर्षक नौकरियां देने की पेशकश करते थे. सिंह ने बताया, 'हमारी साइबर अपराध शाखा को 15 जुलाई 2019 को एक शिकायत मिली थी जिसमें शिकायतकर्ता राहुल कौशिक ने आरोप लगाया था कि एक महिला ने उनको फोन करके बताया उनके सीवी में सुधार की जरूरत है. उसने कहा कि उसकी कंपनी करियरजैप डॉट इन इस काम में विशेषज्ञता रखती है और उसने एक नियत राशि का भुगतान प्राप्त कर रिज्यूम में सुधार करने की पेशकश की.'

टिप्पणियां

गुरुग्राम में स्कूली छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में एक व्यक्ति गिरफ्तार

उन्होंने ने बताया, 'महिला ने बताया कि पेटीएम से भुगतान किया जा सकता है. शिकायतकर्ता ने भुगतान किया, लेकिन उनको नौकरी नहीं मिली.' उन्होंने बताया, 'साइबर शाखा की जांच के दौरान कौशिक की शिकायत सही पाई गई. बाद में एक टीम ने स्पेज टॉवर स्थित कंपनी अनासदिवी इन्फोटेक प्राइवेट लिमिटेड पर तीन दिसंबर को छापा मारकर पुरुष एवं महिला कर्मचारियों को गिरफ्तार किया.'  आरोपियों की पहचान अमित कुमार, आमिर तुफैल, मोहित सिंह, दिनेश शर्मा, पंकज कुमार, लीलू सिंह, अर्चना श्रीवास्तव, शीनू, वंदना, चंचल, हेमा, प्रिया, प्रीति और अंजली सिंह के रूप में की गई है.
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Tanhaji Box Office Collection Day 13: अजय देवगन की 'तान्हाजी' ने बनाया रिकॉर्ड, 13वें दिन भी जारी है फिल्म का जलवा

Advertisement