NDTV Khabar

दिल्ली के पांडव नगर इलाके में कूड़े से भरे फ्लैट में 15 साल की लड़की दो साल से थी कैद

बच्ची की मां ने मीडिया से कहा कि कि बच्ची अपनी मर्जी से अकेले रह रही है.पूछताछ में पता चला मां अपनी दूसरी बड़ी बेटी के साथ लक्ष्मी में किराये के मकान पर रह रही है.

20 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के पांडव नगर इलाके में कूड़े से भरे फ्लैट में 15 साल की लड़की दो साल से थी कैद

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. पड़ोसियों ने कहा 2 साल से किसी ने बच्ची को बाहर निकलते नहीं देखा
  2. मॉ बच्ची के पिता से 7 साल से रह रही है अलग
  3. पुलिस ने बच्ची का करवाया मेड़िकल भेजा संस्कार आश्रम
दिल्ली: राजधानी दिल्ली के पांडव नगर इलाके में एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है. एक मां ने अपनी ही 15 साल की बेटी को दो साल से एक फ्लैट में कैद कर रखा हुआ था. पूरे फ्लैट मलबे में तब्दील मिला. पांडव नगर में एक घर में अक्सर लोग रात में एक लड़की के रोने की आवाज़ सुनते थे. जिसकी सूचना शनिवार को  इलाके के पुलिसकर्मियों को गई. मौके पर पहुँची पुलिस उस आवाज़ को सुनकर इमारत में दाखिल हुई तो पता चला कि आवाज़ तीसरी मंजिल से आ रही है.

पुलिस ने जब उस फ्लैट के दरवाजे को खोला तो सबकी आंखें खुली रह गई, अंधेरा फ्लैट जिसके अंदर इतना कूड़ा भरा था जो किसी मलवे के घर से कम न था. पुलिस की टीम आगे बढ़ी, तो फ्लैट के एक कमरे में एक चारपाई लगी थी. जिसके चारों तरफ कूड़े का अंबार लगा था और वहीं एक 15 साल की लड़की लेटी हुई थी. लड़की ठीक से न कुछ बोल पा रही थी ना ही चल पा रही थी बहुत घबराई हुई थी.

पुलिस के साथ पड़ोसी भी ऊपर आ गए, जब पुलिस ने उनसे पूछताछ की तो उनका कहना था कि इस बच्ची को दो साल से किसी ने बाहर निकलते नहीं देखा. इसकी मां रोज इसे खाना देने आती है और चली जाती है. पुलिस की टीम लड़की को अपने साथ थाने लेकर जाने वाली थी कि बच्ची की मां अपनी दूसरी बेटी के साथ आ गई और पुलिस के सामने बच्ची के बीमार होने की दलील देने लगी, मीडिया की टीम ने जब बच्ची की मां से बात की तो उसने बड़ी सफाई से कहा कि बच्ची अपनी मर्जी से अकेले इस फ्लैट में रह रही है और वो जल्द ही घर को साफ़ करने वाली थी.

दरसअल लड़की की मां अपने पति से 7 साल से अलग रह रही थी और फिलहाल अपने बड़ी  बेटी के साथ लक्ष्मी नगर में किराये के मकान में रह रही है और छोटी बेटी को पिछले काफी समय से यहां पांडव नगर में अकेले एक फ्लैट में रखा हुआ था. हालांकि ये अब तक साफ नहीं कि उसने बेटी को इस हालात में क्यों रखा हुआ था.

वहीं पुलिस ने बच्ची का मेडिकल करवा कर संस्कार आश्रम में भेज दिया है और चाइल्ड वेलफ़ेयर कमेटी के सामने पेश कर आगे की कारवाई की जा रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement