NDTV Khabar

पालतू कुत्ते के भौंकने से पड़ोसी थे परेशान, पिता ने कहा- बाहर छोड़ दो इसे...बेटी ने उठाया ऐसा कदम और छोड़ गई ये NOTE...

पुलिस को कथित रूप से कविता का लिखा एक पत्र भी मिला है, जिसमें उसने अपने माता-पिता, अपनी दादी और भाई से अपने कुत्ते का ख्याल रखने को कहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पालतू कुत्ते के भौंकने से पड़ोसी थे परेशान, पिता ने कहा- बाहर छोड़ दो इसे...बेटी ने उठाया ऐसा कदम और छोड़ गई ये NOTE...

प्रतिकात्मक तस्वीर

कोयंबटूर (तमिलनाडु):

शहर के बाहरी इलाके में एक युवती ने इसलिए आत्महत्या कर ली क्योंकि उसके पिता ने उससे अपने पालतू कुत्ते को छोड़ने को कहा था. 24 वर्षीय कविता के साथ उसका पालतू कुत्ता सीजर पिछले दो साल से था. कुत्ते के बार-बार भौंकने से पड़ोसियों को परेशानी होने के कारण कविता को उसके पिता ने उसे कहीं छोड़ आने को कहा था.

दरअसल, बुधवार रात को गरज के साथ भारी बारिश होने और बिजली कड़कने से कुत्ता डर गया था और उसने भौंकना शुरू कर दिया था. इससे परेशान पड़ोसियों ने कविता के पिता से इस बारे में शिकायत की थी.

पिता ने अगले दिन कविता को डांटा और उससे कुत्ते को कहीं और छोड़ आने को कहा.

पुलिस ने बताया कि कविता पिता की डांट बर्दाश्त नहीं कर पाई और उसे अपने कुत्ते से जुदा होने का भी डर था, जिसके कारण उसने गुरुवार शाम अपने कमरे में पंखे से फांसी लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली.

यह सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और उसने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.


पुलिस को कथित रूप से कविता का लिखा एक पत्र भी मिला है, जिसमें उसने अपने माता-पिता, अपनी दादी और भाई से अपने कुत्ते का ख्याल रखने को कहा है.

पुलिस ने बताया कि पत्र में कविता ने अपने कृत्य के लिए माफी मांगते हुए अपने परिवार वालों से हर सप्ताह मंदिर जाने का भी अनुरोध किया है.

(आत्‍महत्‍या किसी समस्‍या का समाधान नहीं है. अगर आपको सहारे की जरूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं जिसे मदद की दरकार है तो कृपया अपने नजदीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं.)

टिप्पणियां

हेल्‍पलाइन नंबर:

AASRA: 91-22-27546669 (24 घंटे उपलब्ध)
स्‍नेहा फाउंडेशन: 91-44-24640050 (24 घंटे उपलब्ध)
वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ: 1860-2662-345 और 1800-2333-330 (24 घंटे उपलब्ध)
iCall: 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध: सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक)
एनजीओ: 18002094353 दोपहर 12 बजे से रात 8 बजे तक उपलब्‍ध)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement