NDTV Khabar

दिल्ली के बदरपुर में 92 साल के बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या, पुलिस ने आरोपी नौकर को साथियों संग किया गिरफ्तार

दिल्ली के बदरपुर के मोलरबंद इलाके में 92 साल के एक बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या कर दी गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के बदरपुर में 92 साल के बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या, पुलिस ने आरोपी नौकर को साथियों संग किया गिरफ्तार

दिल्ली के बदरपुर में 92 साल के बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या.

नई दिल्ली:

दिल्ली के बदरपुर के मोलरबंद इलाके में 92 साल के एक बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या कर दी गई. बुजुर्ग की देखभाल करने वाला नौकर हत्या के बाद से फरार था, जिसे पुलिस ने बल्लभगढ़ स्टेशन से उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया.  उन्होंने बताया कि लूट के मकसद से हत्या को अंजाम दिया. हत्या के बाद उज्जैन भागने की फिराक में थे सभी आरोपी. सभी आरोपी उज्जैन के रहने वाले हैं. बता दें कि वारदात के बाद घर का सामान भी बिखरा मिला था, जिससे लूटपाट की आंशका पहले से ही थी. मृतक बुजुर्ग का नाम चंद्रभान है. चंद्रभान अपने बेटे-बहू और पोते के साथ रहते थे. मकान के ग्राउंडफ्लोर पर बने कमरे में चंद्रभान और उनकी देखभाल के लिए रखा गया नौकर हुकुम सिंह रहता था. वहीं, पहली मंजिल पर उनका बेटा-बहू और पोता रहते हैं. 

यह भी पढ़ें: पहले लिव-इन पार्टनर की गला रेतकर की हत्या, फिर उसी के पेंटिंग ब्रश से दीवार पर लिखा कुछ ऐसा जिसे देख...
 
बुधवार सुबह चंद्रभान की बहू बाहर किसी काम से बाहर गई हुई थी, वापस लौटी तो ग्राउंडफ्लोर पर कमरे का दरवाज़ा अंदर से बंद था. उसने दरवाज़ा खटखटाया तो अंदर मौजूद नौकर हुकुम सिंह ने उन्हें कमरे में आने के लिए कहा. कमरे में नौकर के अलावा 2 और लड़के भी मौजूद थे और बुजुर्ग चंद्रभान का शव पड़ा हुआ था. इनका गला रेता गया था. बहू के मुताबिक इसी बीच हुकुम सिंह ने उनका गला दबाकर मारने की कोशिश की. 


यह भी पढ़ें: दिल्ली : सरिता विहार में 73 साल की बुजुर्ग महिला की गला रेतकर हत्या, इलाके में हड़कंप

परिवार के मुताबिक नौकर ने पहली मंजिल के दरवाजे की कुंडी बाहर से बंद कर दी थी. शोर सुनकर पहली मंजिल से चंद्रभान का पोता नीचे आने के लिए भागा तो दरवाज़ा बंद था. किसी तरह दरवाज़ा खोलकर वह नीचे पहुंचा. इस बीच नौकर और उसके दोस्त महिला महिला को छोड़कर भाग गए. 

टिप्पणियां

VIDEO: दिल्ली के वसंत कुंज में बुजुर्ग की हत्या

चंद्रभान के भाई के मुताबिक नौकर हुकुम सिंह 1 महीने पहले मध्यप्रदेश से आया था. घर में काम करने वाले एक पुराने नौकर ने उसे भेजा था. कभी किसी को शक नहीं हुआ कि वह ऐसा कर सकता है. हुकुम के साथ जो 2 और लड़के थे उनके बारे में कोई ज़्यादा कुछ नहीं जानता. 2-3 दिन पहले वो उन दोनों लड़कों को दोस्त बताकर घर लाया था, लेकिन उसके बाद वो चले गए थे.  पुलिस फिलहाल हुकुम और उसके दोस्तों की तलाश कर रही है. पुलिस के मुताबिक हत्या के पीछे मकसद लूट हो सकता है हालांकि सभी एंगल से मामले की जांच की जा रही है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement