NDTV Khabar

मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरोह गिरफ्तार

दिल्ली में बीते लंबे समय से सक्रिय था गिरोह. लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर करता था ठगी. पुलिस ने मुख्य आरोपी को पकड़ा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरोह गिरफ्तार

आरोपी अंकुश की फाइल फोटो

खास बातें

  1. बीते लंबे समय से सक्रिय था गिरोह
  2. दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में थे कई ब्रांच
  3. गिरोह का सरगना अंकुश गिरफ्तार
नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गिरोह को गिरफ्तार किया है जो युवाओं को मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर उनसे ठगी करता था. पुलिस ने आरोपियों के पास से कई फर्जी दस्तावेज और लैपटॉप भी कब्जे में लिया है. गिरफ्तार आरोपी की पहचान अंकुश के रूप में की गई है. पुलिस  की शुरुआती जांच में आरोपी द्वारा अलग-अलग जगह कंपनी चलाते हुए 100 से ज्यादा लोगों को ठगने की बात सामने आ रही है. हालांकि पुलिस को अभी तक सिर्फ 50 ऐसे लोगों के बारे में पता चला है जिन्हें गिरोह ने ठगा है. 

यह भी पढ़ें: राजधानी दिल्ली में ईरानी नागरिक का मोबाइल ले उड़े चोर, मामला दर्ज 

शाहदरा जिला पुलिस उपायुक्त नुपूर प्रसाद के अनुसार कुछ दिन पहले आनंद विहार थाने में आरोपियों के खिलाफ शिकायत मिली थी. इसके बाद पुलिस की विशेष टीम ने मिली शिकायत पर काम करते हुए आरोपियों की तलाश शुरू की. पुलिस की जांच में पता चला कि आरोपी आनंद विहार स्थित जिस दफ्तर से यह प्लेसमेंट सेल चला रहे थे वह फर्जी दस्तावेज पर लिया गया था. टीम ने पीड़ित द्वारा दिए उन फोन नंबर की भी जांच की जिनसे उनके पास नौकरी के लिए कॉल आए थे. जांच के दौरान ही पुलिस टीम को सूचना मिली की इस कंपनी का एक और ब्रांच जगतपुरी इलाके में चल रहा है.

यह भी पढ़ें: सूखी मछली के नाम पर मादक पदार्थों की तस्करी करने वाला गिरोह गिरफ्तार

पुलिस की टीम ने वहां छापेमारी कर दो महिलाओं को हिरासत में लिया है. बाद में उनसे हुई पूछताछ के आधार पर इस गिरोह के सरगना और मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया.हम फिलहाल इस मामले की जांच कर रहे हैं. जरूरत पड़ने पर और भी गिरफ्तारी हो सकती है.

यह भी पढ़ें: वैलेंटाइन्स डे पर गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने की यह तरकीब पड़ी भारी, हुए गिरफ्तार

काफी समय से चल रही थी कंपनी- पुलिस सूत्रों को अनुसार लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने का यह धंधा काफी समय से चल रहा था. किसी को आरोपियों पर शक न हो इसके लिए आरोपियों ने अपने दफ्तर का फर्जी पुलिस वेरिफिकेशन पेपर भी तैयार किया था. पुलिस के अनुसार आरोपी इलाके में बीते दो से तीन साल से सक्रिय थे.

टिप्पणियां
VIDEO: अपराध को धर्म से जोड़ना गलत. 


इस दौरान भी आरोपियों ने कई लोगों को ठगा. पुलिस फिलहाल गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ के आधार पर पहले के मामलों के बारे में पता करने में जुटी है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement