NDTV Khabar

त्रिपुरा में 'निर्भया' जैसा दिल दहलाने वाला मामला, चलती कार में 9 लोगों ने गैंगरेप के बाद महिला को फेंका

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में 'निर्भया कांड' जैसा दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. अगरतला चिकित्सा महाविद्यालय से छह साल की बीमार बेटी से मिलकर लौट रही महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप के बाद आरोपियों ने उसे एक सड़क पर फेंक दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
त्रिपुरा में 'निर्भया' जैसा दिल दहलाने वाला मामला, चलती कार में 9 लोगों ने गैंगरेप के बाद महिला को फेंका

प्रतीकात्मक फोटो.

अगरतला:

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में 'निर्भया कांड' जैसा दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. अगरतला चिकित्सा महाविद्यालय से छह साल की बीमार बेटी से मिलकर लौट रही महिला के साथ चलती कार में गैंगरेप के बाद आरोपियों ने उसे एक सड़क पर फेंक दिया. महिला की हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस ने गुरुवार को बताया कि घटना मंगलवार रात की है. 32 वर्षीय पीड़िता से चलती कार में दुष्कर्म कर आरोपियों ने उसे सर्किट हाउस के पास फेंक दिया, बाद में लोगों ने उसे जीबी अस्पताल में भर्ती कराया. अस्पताल के सूत्रों ने बताया महिला की हालत गंभीर, लेकिन स्थिर बनी हुई है.

पुलिस ने बताया कि पीड़िता के पति ने बुधवार को पूर्वी अगरतला महिला थाने में शिकायत दर्ज कराई और उसी दिन छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. पूर्वी अगरतला महिला थाने की प्रभारी मुमताज हसीना ने शिकायत के हवाले से बताया कि मंगलवार करीब शाम साढ़े सात बजे पीड़िता घर जाने के लिए ऑटो रिक्शा में सवार हुई जिसके चालक को वह जानती थी. उन्होंने बताया कि जब ऑटो रिक्शा चालक ने वाहन को दूसरे रास्ते पर मोड़ा तो महिला ने विरोध किया लेकिन चालक और यात्रियों को लेने की बात कर दूसरे रास्ते पर चला गया.


पश्चिम बंगाल में निर्भया जैसा मामला, रेप के बाद कथित रिश्तेदार ने प्राइवेट पार्ट में डाल दी रॉड

हसीना के मुताबिक रास्ते में चार लोग ऑटो रिक्शा में सवार हुए और महिला के हाथ और मुंह बांध दिया. बाद में उन्होंने उसे कार में डाला और करीब 15 किलोमीटर दूर नरसिंहगढ़ ले गए जहां चार और लोग इंतजार कर रहे थे. उन्होंने बताया कि वे भी कार में सवार हुए और सभी ने महिला के साथ दुष्कर्म किया तथा रात करीब साढ़े ग्यारह बजे सर्किट हाउस के पास पीड़िता को फेंक दिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है. भाजपा की लोकसभा सांसद प्रतिमा भौमिक ने घटना की निंदा करते हुए मामले की जल्द जांच और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है.

टिप्पणियां

महिला सुरक्षा पर मोदी सरकार कितनी गंभीर? सिर्फ 42 प्रतिशत खर्च हुआ निर्भया फंड

बता दें कि 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में 23 वर्षीय निर्भया के साथ चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया था, जिसके बाद देशव्यापी आंदोलन और प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने महिला सुरक्षा से जुड़े कानूनी प्रावधानों को और सख्त बनाया था.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement