नशीले पदार्थों के कारोबार के आरोप में फरार ममता कुलकर्णी को भगोड़ा घोषित करने की मांग

महाराष्ट्र पुलिस ने बॉलीवुड फिल्मों में अदाकारा रह चुकी ममता कुलकर्णी और उनके सहयोगी विक्की गोस्वामी को नशीले पदार्थों की बरामदगी संबंधी एक मामले में भगोड़ा घोषित कराने के लिए अदालत का रूख किया है.

नशीले पदार्थों के कारोबार के आरोप में फरार ममता कुलकर्णी को भगोड़ा घोषित करने की मांग

नशे के कारोबार में शामिल ममता के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी है (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पुलिस के मुताबिक ममता इंटरनेशनल ड्रग माफिया विक्की की पत्नी है
  • एवोन लाइफसांइस पर छापा मार कर 18.5 टन एफेड्रिन बरामद की थी
  • विक्की और ममता, दोनों काफी दिनों से फरार हैं और विदेश में हैं
मुंबई :

महाराष्ट्र पुलिस ने बॉलीवुड फिल्मों में अदाकारा रह चुकी ममता कुलकर्णी और उनके सहयोगी विक्की गोस्वामी को नशीले पदार्थों की बरामदगी संबंधी एक मामले में भगोड़ा घोषित कराने के लिए अदालत का रूख किया है. विशेष लोक अभियोजक शिशिर हिरे ने न्यायधीश एचएम पटवर्धन की अदालत को बताया कि जांच दल ने सभी विकल्पों पर विचार कर लिया है और एफ्रेडीन बरामदगी मामले में वारंट भी जारी किया गया लेकिन वे गिरफ्तारी से बचते रहे.

हिरे ने कहा कि अब एकमात्र समाधान यह बचा है कि अदालत उन्हें भगोड़ा घोषित करार दे. मामले की सुनवाई कर रही अदालत ने अपना फैसला सुनाने के लिए मामले को कुछ दिनों के लिए स्थगित कर दिया. मामले से जुड़े एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि इस संबंध में अदालत का फैसला आने के बाद पुलिस अन्य एजेंसियों के साथ विचार विमर्श करके आगे कदम उठाएगी.

इसके अलावा पुलिस ने कोर्ट से सोलापुर स्थित एवन लाइफसाइंसेज लिमिटेड में जब्त माल को नष्ट करने की मंजूरी देने की भी मांग की है. जब्त माल में 3,200 किलोग्राम एफेड्रीन और 2,000 किलोग्राम अन्य केमिकल शामिल हैं. ममता कुलकर्णी के सहयोगी को केन्या में वहां की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन ममता तभी से फरार है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

13 अप्रैल, 2016 को पुलिस ने दो लोगों को 12 लाख की कीमत की एफेड्रीन के साथ गिरफ्तार किया था. उनकी गिरफ्तारी के बाद 2000 करोड़ रुपये के नशीले कारोबार का भंड़ाफोड़ करते हुए पुलिस ने 14 लोगों को गिरफ्तार किया था. इसके बाद मार्च में ठाणे की एक अदालत ने ममता कुलकर्णी और विक्की गोस्वामी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए थे. 

(इनपुट भाषा से भी)