असम : पीट-पीटकर हत्या और सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने पर 62 गिरफ्तार

कार्बी आंगलोंग के पंजूरी में निलोत्पल दास और अभिजीत नाथ को गांव वालों के एक समूह ने बच्चा चुराने के संदेह में पीट-पीटकर मार डाला

असम : पीट-पीटकर हत्या और सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने पर 62 गिरफ्तार

असम में घटना के विरोध में प्रदर्शन किए जा रहे हैं.

खास बातें

  • मोबाइल फोन से इस घटना की रिकार्डिंग कर उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया
  • पुलिस ने लोगों से सोशल मीडिया पर अफवाहें नहीं फैलाने को कहा
  • विकास मंडलों और पंचायतों में जागरूकता कार्यक्रम शुरू करेगी सरकार
गुवाहाटी:

असम के कार्बी आंगलोंग जिले में दो लोगों को पीट - पीटकर मार डालने तथा सोशल मीडिया पर अफवाहें एवं नफरत फैलाने के मामले में अब तक 62 लोग गिरफ्तार किए गए हैं.

शुक्रवार को कार्बी आंगलोंग के पंजूरी में निलोत्पल दास (29) और उसके दोस्त अभिजीत नाथ (30) को उनके वाहन से खींचकर गांव वालों के एक समूह ने बच्चा चुराने के संदेह में पीट - पीटकर मार डाला था. स्थानीय लोगों ने अपने मोबाइल फोन से इस घटना की रिकार्डिंग कर उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया. इस घटना को लेकर पूरे राज्य में प्रदर्शन जारी हैं. मंगलवार को  दो व्यक्तियों को गिरफ्तार करने के साथ ही इस मामले में अब तक 26 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. उनके अलावा, इस हत्या के सिलसिले में सोशल मीडिया के दुरुपयोग को लेकर भी 13 लोग गिरफ्तार किए गए हैं जिससे ऐसी गिरफ्तारियां 36 हो गई हैं.

असम के एक पुलिस प्रवक्ता ने यह जानकारी दी है. पुलिस ने परामर्श जारी किया है और लोगों से सोशल मीडिया पर अफवाहें नहीं फैलाने को कहा है. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल स्थिति पर नजर रख रहे हैं.

यह भी पढ़ें  : असम में युवकों की पीट पीटकर हत्या करने के मामले में जांच का आदेश 

इस बीच, असम सरकार ने अंधविश्वास और अफवाहों से होने वाली ऐसी घटनाओं को देखते हुए सभी विकास मंडलों और पंचायतों में जागरूकता कार्यक्रम शुरू करने की योजना बनाई है. एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को स्थानीय निकायों , महिला संगठनों और मीडिया कर्मियों के साथ मिलकर सभी स्तरों पर जागरूकता कार्यक्रम ‘संस्कार ’ चलाने के तौर तरीके तैयार करने को कहा है. उन्होंने कहा, ‘‘असम को उसके विशिष्ट सत्कार के लिए पूरे भारत में पहचाना जाता है और देशभर से आने वाले लोग राज्य में जहां भी जाएं तो उन्हें मैत्रीपूर्ण माहौल मिलना चाहिए. ’’

VIDEO : दो युवकों की पीट-पीटकर जान ले ली

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आरटीआई कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई ने इस घटना की सीबीआई जांच की मांग की है. निलोत्पल के माता - पिता गोपाल चंद्र दास और राधिका दास ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की. साथ ही , उन्होंने लोगों से इस मुद्दे को राजनीतिक रंग नहीं देने की भी अपील की.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)