NDTV Khabar

गाजियाबाद में NIA और स्थानीय पुलिस टीम पर हमला, एक जवान को गोली लगी

एनआईए और पुलिस की टीम पर पत्थरों से हमला हुआ और फायरिंग भी की गई. इस हमले में यूपी पुलिस के एक जवान को गोली लगी है.

345 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गाजियाबाद में NIA और स्थानीय पुलिस टीम पर हमला, एक जवान को गोली लगी

गाजियाबाद में एनआईए और स्थानीय पुलिस की टीम पर आरोपी के साथियों ने किया हमला

खास बातें

  1. NIA और पुलिस की टीम पर पत्थरों से हमला, फायरिंग भी की गई
  2. यूपी पुलिस के एक जवान को गोली लगी, अस्पताल में भर्ती
  3. एक सरकारी वाहन को भी पहुंचा नुकसान
गाजियाबाद: लुधियाना में आरएसएस कार्यकर्ता रवींद्र गुसाईं की हत्या के आरोपी को गिरफ्तार करने एनआईए और स्थानीय पुलिस की टीम जब यूपी के गाजियाबाद के एक गांव में पहुंची, तो वहां एनआईए और स्थानीय पुलिस की टीम पर आरोपी के साथियों ने हमला कर दिया. एनआईए और पुलिस की टीम पर पत्थरों से हमला हुआ और फायरिंग भी की गई. इस हमले में यूपी पुलिस के एक जवान को गोली लगी है. इलाज के लिए उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बचाव में पुलिसकर्मियों ने हवाई फायरिंग की. उपद्रवियों के हमले में सरकारी वाहन को भी नुकसान पहुंचा है.

यह भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ : आरपीएफ जवानों पर धारदार हथियार से हमला, एक जवान की मौत

एनआईए के एक प्रवक्ता ने कहा कि RSS कार्यकर्ता रवींद्र गोसाईं की लुधियाना में हत्या के सिलसिले में जांच के दौरान कुछ संदिग्ध हथियार तस्करों के नाम सामने आए थे, जिन्होंने पंजाब में कथित तौर पर आरोपियों को हथियार दिए थे. प्रवक्ता ने कहा कि यूपी पुलिस की मदद से एनआईए की टीम ने ने 2 और 3 दिसंबर की दरम्यानी रात को कुछ संदिग्ध हथियार तस्करों को गिरफ्तार करने के लिए मेरठ में तलाशी अभियान चलाया. अधिक सुराग मिलने के बाद गाजियाबाद स्थित नहली गांव में संदिग्ध मलूक के आवास पर रविवार को छापेमारी की गई. छापेमारी के दौरान भीड़ ने पुलिस और एनआईए टीम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की और कुछ लोगों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी. इसमें यूपी पुलिस का एक कांस्टेबल तहजीब खान जख्मी हो गया.

यह भी पढ़ें : नोएडा में कार लूट कर भाग रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़, एक लुटेरा मारा गया

गौरतलब है कि 17 अक्टूबर को लुधियाना में आरएसएस कार्यकर्ता रवींद्र गोसाईं की बाइक सवार दो हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनकी हत्या की जांच की जिम्मेदारी एनआईए को सौंपी थी.

VIDEO : बालू माफिया ने पुलिस टीम पर बोला हमला

इसके बाद एजेंसी ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत एक एफआईआर दर्ज की.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement