NDTV Khabar

किराये पर बैंक खाता! एक कॉल से हुआ बड़ा खुलासा, जालसाजों ने बरोजगारी का ऐसे उठाया फायदा

मध्यप्रदेश के भिंड जिले में बेरोजगार युवाओं के नए खोले गए बैंक खातों का उपयोग साइबर जालसाज़ कर रहे थे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
किराये पर बैंक खाता! एक कॉल से हुआ बड़ा खुलासा, जालसाजों ने बरोजगारी का ऐसे उठाया फायदा

मध्यप्रदेश के भिंड जिले के बेरोजगार युवकों से जालसाजों ने बैंक अकाउंट किराये पर ले लिए थे.

खास बातें

  1. जालसाज़ों ने युवकों के खाते के दस्तावेज ले लिए, देते थे 1200 रुपये माह
  2. ठगी की शिकार बेंगलुरु की एक महिला की शिकायत के बाद हुआ खुलासा
  3. 45 बैंक खातों की प्रारंभिक जांच, तीन से एक करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ
भोपाल:

किराये पर बैंक खाता! जी हां आपने सही सुना, मध्यप्रदेश के भिंड जिले में बेरोजगार युवाओं के नए खोले गए बैंक खातों का उपयोग साइबर जालसाज़ कर रहे हैं. इन नौजवानों को हर महीने महज़ 1200-1300 रुपये देकर साइबर अपराधी उनके खातों का इस्तेमाल साइबर क्राइम के जरिए ठगी के पैसों को रखने के लिए कर रहे हैं. इसका खुलासा बेंगलुरु की एक महिला के कॉल के बाद हुआ.

पीड़ित से जालसाज़ों ने चार लाख रुपये की ठगी की जिसमें 40,000 रुपये भिंड जिले के एक बैंक खाते में जमा किए गए. जब साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू की तो न केवल उस बैंक खाते का पता लगाया, जिसमें बेंगलुरु की महिला के बैंक खाते से पैसे निकले थे, बल्कि भिंड में छह से सात सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में ऐसे 23 से अधिक खाते मिले जो बेरोज़गार युवकों के नाम पर थे. जालसाज़ 1200 रुपये देकर युवकों के खाते से जुड़े दस्तावेज अपने पास रखे थे.
     
पुलिस की पड़ताल में सामने आया है, जो भी अकाउंट इस्तेमाल किए गए हैं, उसके लिए दिल्ली में रहने वाले एक शख्स ने इन युवकों से संपर्क किया था. बेरोजगारों से कहा गया आप अपना अकाउंट दो, इसके एवज में 12 सौ रुपये महीना मिलेंगे. बेरोजगारों ने बैंक में अकाउंट खुलवाकर पासबुक, चेकबुक, एटीएम कार्ड और मोबाइल की वह सिम दे दी, जिसके नंबर से अकाउंट लिंक है. इन खातों के जरिए बिहार, हैदराबाद, बेंगलुरू सहित देशभर में ऑनलाइन धोखाधड़ी के बाद ट्रांजेक्शन की बात सामने आ रही है. इनमें ज्यादातर अकाउंट विरधनपुरा, कुअंरगढ़ के युवकों के हैं.

मोदी सरकार बनने पर शख्स ने निकाली फर्जी योजना, 2 दिन में आए 15 लाख आवेदन, फिर सामने आया ये सच..       


भिंड जिले के पुलिस अधीक्षक रुडोल्फ अल्वारेस के अनुसार, '45 बैंक खातों की प्रारंभिक जांच में तीनों खातों में लगभग एक करोड़ रुपये के लेनदेन का पता चला है. एक बार जब हमने पूछताछ शुरू की तो हमें पता चला कि वे दिल्ली में एक व्यक्ति के संपर्क में थे. उन्हें शुरू में 1200-1300 प्रति माह का भुगतान किया जा रहा है. हम इस मामले की जांच कर रहे हैं. हमने इन सभी खातों के संचालन पर रोक लगा दी है और उन लोगों की पहचान करने के लिए काम कर रहे हैं जिन्होंने बेरोजगार युवाओं के खाते खोले हैं और अब उन खातों का संचालन कर रहे हैं.'

पुणे की 94 करोड़ रुपये की साइबर बैंक डकैती में उत्तर कोरिया के चोरों का हाथ!       

पूछताछ में पता चला है कि इन बेरोज़गार युवकों को राशि का भुगतान करने से पहले भिंड में अलग-अलग बैंकों में खाते खुलवाये गए. उन्हें नए सिम कार्ड दिए गए, जिससे बैंक खातों को जोड़ा गया. खाता खोलने के बाद, इन युवकों के डेबिट कार्ड, पासबुक और फोन नंबर सब कुछ ले लिया गया.

Bank Fraud: भारतीय बैंक से 1.35 करोड़ डॉलर की चोरी, साइबर अटैक में 28 देश बने शिकार      

जांच में यह सामने आया है कि खाताधारकों को यह तक नहीं मालूम था कि उनका खाता नंबर क्या है, न ही उन्हें यह अंदाजा था कि उनके अकाउंट का इस्तेमाल लोगों से ठगी गई रकम के ट्रांजेक्शन के लिए किया जाएगा. सायबर टीम इस मामले में अब मास्टर माइंड तक पहुंचने की कोशिश में है.

VIDEO : पूर्व चीफ जस्टिस को ठगों ने लगाया चूना

टिप्पणियां



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement