NDTV Khabar

सावधान! ATM Hacking से होने वाले बड़े नुकसान से बचने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके

एटीएम इस्तेमाल करने से पहले हो जाएं सावधान, कहीं आपकी लापरवाही लाखों का नुकसान न करा दे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सावधान! ATM Hacking से होने वाले बड़े नुकसान से बचने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. एटीएम के कार्ड पैनल को कार्ड डालने से पहले जांचे जरूर
  2. ध्यान रखें, एटीएम इस्तेमाल करते समय आप अकेले हों
  3. हैक हो जाने की हालत में तुरंत पुलिस को दे सूचना
नई दिल्ली: आज के समय में अपने बैंक खाते से पैसे निकालने के लिए आम तौर पर लोग एटीएम का इस्तेमाल कते हैं. एटीएम,बैंक के चक्कर लगाने और बैंक की भीड़ से लोगों को बचाता है. एटीएम के बढ़े इस्तेमाल की वजह से बीते कुछ वर्षों में एटीएम फ्रॉड की घटनाओं में भी इजाफा हुआ है. ऐसे में कोई आपके एटीएम कार्ड की मदद से आपके खाते से पैसे न निकाले इसके लिए आपको सावधान रहने की जरूरत है. साइबर कानून विशेषज्ञ पवन दुग्गल के अनुसार आप एटीएम कार्ड इस्तेमाल करते समय इन पांच बातों को ध्यान रखकर अपने पैसे को दूसरे के खाते में जाने से रोक सकते हैं. 

एक्सिस बैंक के 29 खाते हैक, 13 लाख रुपये निकाले

हैकिंग से बचने के लिए मशीन की करें जांच 
दूसरे के बैंक खातों से रातोरात पैसे निकालने के लिए हैंकिंग इन दिनों एक अहम टूल साबित हो रहा है. बीते कुछ समय में दिल्ली से ऐसे कई गिरोह पकड़े गए हैं जो एटीएम के कार्ड पैनल (जहां आप अपना कार्ड लगाते हैं) से छेड़छाड़ करते हैं. गिरोह के सदस्य उस पैनल में ब्लैक प्लास्टिक नुमा चिप लगाते हैं. आप जैसे ही अपना कार्ड उस पैनल में डालते हैं तो आपके कार्ड से जुड़ी तमाम जानकारी उस चिप में भी सुरक्षित हो जाती है.

आरोपी कुछ घंटे बाद उस चिप को एटीएम पैनल से निकाल लेता है और उसमें दर्ज सभी जानकारी का इस्तेमाल कर आपके खाते से पैसे निकाल लेता है. इस तरह के फ्राड से बचने के लिए आपको चाहिए कि आप इस्तेमाल से पहले संबंधित एटीएम के कार्ड पैनल को ध्यान से जरूर देखें.  अगर आपको एटीएम पैनल पर कुछ अजीब सा चिपका हुआ दिखे तो ऐसे एटीएम का इस्तेमाल न करें. संभव हो तो तुरंत इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को भी दें.  

डेबिट, क्रेडिट कार्ड, एटीएम चार साल में हो जाएंगे बेकार : नीति आयोग सीईओ

सुनसान इलाके में न करे एटीएम का इस्तेमाल 
पवन दुग्गल के अनुसार आरोपी गिरोह के लोग उन एटीएम को खास तौर पर निशाना बनाते हैं जो सुनसान इलाके में हों. ऐसे में इन एटीएम के इस्तेमाल से बचें. एटीएम के सुनसान इलाके में होने की वजह से उसकी मशीन के साथ छेड़छाड़ की संभावना काफी बढ़ जाती है. अगर बहुत ही जरूरी हो तो ही इन एटीएम का इस्तेमाल करें. 

अपना एटीएम इस्तेमाल के लिए किसी और को न दें  
कई बार अपने बैंक के एटीएम की जगह दूसरे बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करने की वजह से उस एटीएम स्क्रीन पर मिलने वाला विकल्प काफी अलग होता है. इस वजह से कई बार खासकर बुजुर्ग और महिलाओं को ऐसे एटीएम को इस्तेमाल करने में परेशानी आती है और वह साथ खड़ें लोगों से मदद मांग लेते हैं. कई बार मदद करने वाला शख्स मदद करने के नाम पर आपका एटीएम कार्ड का पिन देखने के बाद आपका कार्ड बदल देता है. इसका पता पीड़ित को उस खाते से पैसे निकलने के बाद चलता है. कोशिश करें कि किसी दूसरे बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करते समय किसी परिचित को अपने साथ ले जाएं ताकि आपको दूसरे किसी को अपना एटीएम न देना पड़े. 

एटीएम तोड़ नहीं पाए तो 30 लाख रुपये से भरी पूरी मशीन ही ले भागे चोर

बगैर गार्ड के एटीएम के इस्तेमाल से बचें 
दिल्ली पुलिस ने बीते कुछ महीनें कई ऐसे एटीएम का पता लगाया है जहां गार्ड के न होने की वजह से आरिपोयों ने इनसे छेड़छाड़ की. एटीएम के कार्ड पैनल से छेड़छाड़ मुख्य रूप से दूसरों के कार्ड की जानकारी चुराने के लिए की जाती है. ऐसे में उन एटीएम के इस्तेमाल से भी बचना चाहिए जहां कोई गार्ड न हो. 

बदलते रहें अपना एटीएम पिन 
अपने बैंक खातों को आरोपियों की पहुंच से दूर रखने के लिए आपको समय दर समय अपने एटीएम का पिन भी बदलते रहना चाहिए. पवन दुग्गल ने बताया कि अगर आप हर छह स आठ महीने में अपने एटीएम का पिन बदलते हैं तो इससे आपके खाते व आपके कार्ड को हैक करने की संभावनाएं काफी कम हो जाती हैं.

टिप्पणियां
VIDEO: जब लूटपाट नाकाम होने के डर से आरोपियों ने मारी एटीएम गार्ड को गोली

ज्यादा समय तक एक ही पिन रखने से कार्ड के हैक होने का खतरा बना रहता है


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement