NDTV Khabar

यह हैं बच्चों के साथ स्कूल में हुए वह पांच बड़े मामले जिसने सभी को झकझोर कर रख दिया,उठे थे बच्चों की सुरक्षा पर सवाल

स्कूल के चुनाव से पहले कई अहम बातों का रखें ख्याल, स्कूल बारे में पूरी जानकारी लेना जरूरी

43 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
यह हैं बच्चों के साथ स्कूल में हुए वह पांच बड़े मामले जिसने सभी को झकझोर कर रख दिया,उठे थे बच्चों की सुरक्षा पर सवाल

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. पुलिस ने उठाए थे स्कूल प्रशासन पर सवाल
  2. बीच चलने के दौरान हुआ था बच्चों के साथ हादसा
  3. स्कूल प्रशासन के खिलाफ अभिभावकों ने जताया था गुस्सा
नई दिल्ली : स्कूल शुरू से ही बच्चों के लिए सुरक्षित जगह साबित होता रहा है.अभिभावक बच्चे को स्कूल भेजने के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर कंफर्म हो जाते थे. समय बदलने के साथ अब स्कूल को लेकर आम धारना में काफी बदलाव आया है. इसकी बड़ी वजह स्कूलों में बच्चों के साथ होने वाले आपराधिक घटनाएं हैं. स्कूल प्रशासन की लापरवाही की वजह से अब आलम यह है कि स्कूल ही बच्चों के लिए सबसे ज्यादा असुरक्षित साबित हो रहा है.बच्चों के साथ स्कूल में होने वाली घटनाओं ने अभिभावकों को सोचने पर मजबूर कर दिया है. ऐसे में अभिभावक अपने बच्चे को किस स्कूल में भेंजे यह एक बड़ी समस्सा साबित हो रही है.बच्चों के साथ होने वाली घटनाओं में हर बार स्कूल प्रशासन की लापरवाही ही सामने आई है. बीते कुछ समय में राजधानी में ऐसी कई घटनाएं हुई हैं जिसने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है.   

यह भी पढ़ें: केस मिलने के 6 दिन बाद ही सीबीआई को शक हो गया था आरोपी छात्र पर

स्कूल चुनते समय रखें इन बातों का खास ख्याल
-स्कूल में बच्चों की सुरक्षा को लेकर क्या है खास इंतजाम
-क्या स्कूल का पहले कोई ऐसा रिकॉर्ड रहा है
-ऐसे मामलों से निपटने के लिए स्कूल में क्या सुविधाएं मौजूद हैं
-बच्चों को ऐसे मामलों को लेकर जागरूक करने के लिए क्या कर रहा स्कूल प्रशासन
-गुड टच और  बैड टच का फर्क सिखाने के लिए क्या कर रह है स्कूल 

पहले हुई हैं स्कूल में बच्चों से बरबर्ता

स्कूल के बाथरूम में मिला बच्चे के शव- गुरुग्राम के रेयान स्कूल में आठ वर्षीय प्रद्युमन की गला रेतकर हत्या मामले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था. 09 सितंबर 2017 को हुई इस घटना ने स्कूल में बच्चों की सुरक्षा पर कई बड़े सवाल खड़े किए. स्कूल के अंदर तेज धार हथियार कहां से आए. प्रद्युमन को अकेले शौचालय में कौन ले गया, किसी ने आरोपी को देखा कैसे नहीं जैसे कई बड़े सवाल आज भी हल नहीं किए जा सके हैं. हालांकि इस मामले में सीबीआई ने हरियाण पुलिस द्वारा पकड़े गए कंडक्टर को बकसुर बताते हुए, प्रद्युमन के स्कूल के ही 11 वीं के छात्र को इस घटना का मुख्य आरोपी बताया है. 

यह भी पढ़ें: फैजाबाद : बदला लेने के लिए महिला टीचर ने छात्रा को अगवा कर मार डाला, जानें पूरा मामला

स्कूल ऑवर में हुआ बच्ची के साथ रेप- मालवीय नगर इलाके के एक स्कूल में 04 अक्तूबर 2017 में एक बच्ची के साथ स्कूल में रेप हुआ. घटना स्कूल के ही एक कर्मचारी ने की. घटना के बारे में पता तब चला जब बच्ची ने अपनी मां से पेट में दर्द की बात कही.इसके बाद पीड़ित अभिभावक ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस द्वारा बच्ची का मेडिकल कराए जाने के बाद उसके साथ रेप करने की पुष्टि हुई. मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. 

नाबालिक के दोस्तों ने स्कूल में ही की हत्या- मामूली कहासुनी के बाद पूर्वी दिल्ली के एक स्कू में पढ़ने वाले एक छात्र ने स्कूल में ही अपने एक साथी की हत्या कर दी. घटना 26 अक्तूबर 2017 की है. स्कूल ऑवर में हुई इस घटना ने स्कूल प्रशासन के रवैये पर भी सवाल खड़े किए.पुलिस ने बाद में इस मामले में आरोपी छात्र को हिरासत में लिया. 

सहपाठी के साथ दोस्त ने किया रेप- कापसहेड़ा स्थित एक स्कूल में आठवीं के छात्र ने अपनी सहपाठी के साथ की छेड़छाड़ की. घटना 04 अप्रैल 2016 की है. इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपी छात्र को उसके घर से हिरासत में लिया. इसके बाद आरोपी को बाल सुधार गृह भेजा गया.
जिस समय यह घटना हुई उस समय स्कूल में सभी अध्यापक मौजूद थे. 

पानी के टैंक से मिला बच्चे का शव- दक्षिणि दिल्ली के नामी रेयान स्कूल में छह साल के बच्चे की पानी के टैंक में गिरने से मौत की खबर पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था. घटना 30 जनवरी 2016 को हुई थी. पुलिस ने पीड़ित छात्र की पहचान दिव्यांश के रूप में की थी. पुलिस के अनुसार शुरुआती जांच में पता चला था कि दिव्यांश दोपहर बारह बजे के बाद से अपनी कक्षा से लापता था. दिव्यांश के दोस्तों को उसकी तलाश के बाद भी जब उसकी कोई खोज खबर नहीं मिली तो बाद में इसकी सूचना स्कूल के प्रिंसिपल को दी गई. स्कूल प्रशासन को उसकी तलाश के दौरान दिव्यांश स्कूल के ही एक अंधेरे कमरे में बने पानी के टैंक में पड़ा मिला.

VIDEO: स्कूल में बच्चे की हत्या में पकड़ा गया कंडक्टर 


बाद में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. इस मामले में स्कूल प्रशासन का रवैया शुरू से ही सवालों के घेरे में रहा था.  

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement