2017 की ये हैं वो 5 घटनाएं जिसमें एक छोटी सी चूक ने ले ली कई लोगों की जान

इन सभी घटनाओं में मानवीय चूक ही बनी थी बेगुनाहों की मौत की वजह, बाद में हुई थी कार्रवाई

2017 की ये हैं वो 5 घटनाएं जिसमें एक छोटी सी चूक ने ले ली कई लोगों की जान

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  • इन हादसों के बाद सरकार ने की कार्रवाई
  • जांच में हुआ था हादसे की वजह का खुलासा
  • प्रशासन के इंतजाम को लेकर भी उठे थे कई सवाल
नई दिल्ली:

इस साल देश में ऐसी कई घटनाएं सामने आई जहां किसी की छोटी सी चूक की वजह से कई बेगुनाह लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा. इन घटनाओं में पुलिस और प्रशासन की लापरवाही भी साफ तौर सामने आई. बाद में आयोजकों व प्रशासन के अधिकारियों के ऊपर कड़ी कार्रवाई की गई. आइये जानते हैं कौन सी हैं ये घटनाएं......

यह भी पढ़ें: भोपाल गैस त्रासदी की 33वीं बरसी आज, लोगों ने ऐसे किया कफन ओढ़कर प्रदर्शन

मुंबई में रेलवे स्टेशन पर भगदड़ 
मुंबई के एलफिंस्टरन स्टेशन पर सितंबर में हुई भगदड़ में 23 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 39 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे. घटना की जांच के बाद पता चला कि लोगों में भगदड़ तब मची जब स्टेशन पर बने पुल के नीचे किसी फूल भेचने वाले ने तेज आवाज में कहा कि फूल गिर रहा है. जबकि पुल पर चढ़ने वाले लोगों को लगा कि वह पुल गिरने की बात कह रहा है. लोगों को लगा कि पुल काफी जर्जर हालत में है और सही में पुल ही गिर रहा है. इसी बात को लेकर लोग अपनी जान बचाने के लिए भागने लगे और कई लोग पुल की सीढ़ियों पर दब गए.

बेगुसराय में गंगा स्नान के दौरान भगदड़
इस साल नवंबर बिहार के बेगुसराय में गंगा स्नान के दौरान भगदड़ मचने से 3 लोगों की मौत हो गई. घटना में 20 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस के अनुसार भगदड़ सिर्फ इस अफवा से मची थी कि स्नान घाट पर कोई डूब रहा है. 

यह भी पढ़ें: यूपी में सड़क हादसे में पांच लोगों की मौत

एनटीपीसी का फटा ब्वॉयलर
राय बरेली के एनटीपीसी प्लांट में ब्वॉयलर के फटने से 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई जबकि 50 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे. मामले की जांच के दौरान पता चला कि वरिष्ठ अधिकारियों की लापरवाही की वजह से यह हादसा हुआ. उन्होंने समय रहते उस ब्वॉयलर की जांच नहीं की जिस वजह से यह धमाका हुआ. 

कानपुर में ट्रेन हादसा
इस साल की शुरुआत में कानपुर में हुआ रेल हादसा भारतीय इतिहास में सबसे बड़े रेल हादसों में से एक है. इस घटना में 100 से ज्यादा यात्रियों की मौत हो गई थी जबकि इससे ज्यादा लोग बुरी तरह से घायल हो गए थे. इस मामले की जांच के दौरान पता चला था कि लाइन मैन की लापरवाही की वजह से यह हादसा हुआ था. 

यह भी पढ़ें: चित्रकूट ट्रेन हादसा : इसलिए बेपटरी हुई वास्को-डि-गामा एक्सप्रेस

जगदलपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस हादसे में 36 लोगों ने गवाई जान
आंध्र प्रदेश में हुए इस रेल हादसे में 36 लोगों की मौत हुई थी. घटना में 50 से ज्यादा लोग बुरी तरह से घायल हुए थे. घटना की जांच के दौरान पता चला कि तकनीकी खामी की वजह से यह हादसा हुआ था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: हादसों को लेकर 5-5 लाख रुपये का मुआवजा देगी सरकार

अगर पहले इसकी जांच की जाती तो इस हादसे को होने से रोका जा सकता था.