बिहार में पुलिस ने जब्त की 300 पेटी शराब, जांच शुरू 

आबकारी अधीक्षक दीन बंधु ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर अधिकारियों ने कुढ़नी थाना अंतर्गत एक स्थान पर छापा मारकर एक ट्रक से शराब जब्त की.

बिहार में पुलिस ने जब्त की 300 पेटी शराब, जांच शुरू 

बिहार पुलिस ने जब्त किया शराब (प्रतीकात्म चित्र)

नई दिल्ली:

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में आबकारी अधिकारियों की एक टीम ने करीब 20 लाख रुपये की कीमत की 300 पेटी देसी शराब जब्त की है. आबकारी अधीक्षक दीन बंधु ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर अधिकारियों ने कुढ़नी थाना अंतर्गत एक स्थान पर छापा मारकर एक ट्रक से शराब जब्त की. ट्रक पर पंजीकरण संख्या पश्चिम बंगाल की थी. उन्होंने बताया कि ट्रक का ड्राइवर, खलासी एवं अन्य लोग फकुली पुलिस चौकी के पास वाहन छोड़कर फरार हो गए. उन्होंने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है. उन्होंने बताया, ‘‘भारत निर्मित विदेशी शराब की 300 पेटी (आईएमएफएल) के साथ ट्रक को जब्त कर लिया गया. जब्त शराब की कीमत करीब 20 लाख रुपये हो सकती है.''अधिकारी ने बताया कि समझा जाता है कि नववर्ष के जश्न को देखते हुए शराब की पेटियों को जिले के विभिन्न इलाकों और आस पास के इलाकों में वितरित किया जाना था.

2 साल के भीतर ही शराबबंदी पर नरम हुए नीतीश कुमार, अब गाड़ी-संपत्ति नहीं होगी जब्त, पहली बार में जेल नहीं!

बता दें कि ऐसा कोई पहली बार नहीं हुआ है जब बिहार में पुलिस ने शराब जब्त की है. इससे पहले बिहार के गया जिले में उत्पाद शुल्क विभाग (एक्साइज डिपार्टमेंट) ने करीब 100 कार्टन शराब ले जा रही एटीएम कैश वैन को जब्त किया था. दरअसल, उत्पाद शुल्क विभाग (एक्साइज़ डिपार्टमेंट) ने गया के डोभी इलाके में एक ATM कैश वैन को ज़ब्त किया था, जिसमें 100 कार्टन शराब ले जाई जा रही थी. दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था. विभाग के एसिस्टेंट कमिश्नर ने बताया, "वे इसे बोकारो (झारखंड) से मुज़फ़्फ़रपुर ले जा रहे थे. मामले की जांच की जा रही है. फिलहाल यह पता नहीं लगा है कि ATM कैश वैन किस बैंक की है."

बिहार में शराब पीने के आरोप में हर 10 मिनट में हो रही है 1 गिरफ्तारी

बता दें कि बिहार बीते समय कैमूर जिले की एक गोदाम में रखी गई बीयर की करीब 200 केन गायब हो गई थी. अधिकारियों ने इसके लिए चूहों को जिम्मेदार ठहरा दिया था. जब जांच की गई तो स्थानीय गोदाम में रखे गए जब्त बीयर की केन को नष्ट किये जाने के समय प्लास्टिक से सील केन जगह जगह कटा हुआ मिला था. 

बिहार में गायब हुई बीयर की 200 केन, तो अधिकारियों ने कहा चूहे गटक गए, जानें पूरा मामला

गौरतलब है कि बिहार में अप्रैल 2016 से पूर्ण शराबंदी लागू है और जब्त किए गए अवैध शराब अथवा बीयर को भंडारित कर समय समय पर उन्हें नष्ट किया जाता रहा है. पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर जो शराब बरामद करती है, उसे गोदाम में रखा जाता है और बीच-बीच में नष्ट भी किया जाता है. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com