NDTV Khabar

गाजियाबाद के खोड़ा में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या, एक की हालत गंभीर

दिल्ली-यूपी सीमा पर गाजियाबाद के खोड़ा इलाके में बाइक पर आए दो शूटरों ने दो बीजेपी नेताओं पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी. इसमें एक की मौत हो गई, जबकि दूसरा जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहा है.

2167 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गाजियाबाद के खोड़ा में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या, एक की हालत गंभीर

भाजपा नेता गजेंद्र भाटी. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आए थे गाजियाबाद
  2. एक दिन बाद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को यहा आना है
  3. हत्या के बाद इलाके की सुरक्षा पर सवालिया निशान लग गया है
नई दिल्ली: दिल्ली-यूपी सीमा पर गाजियाबाद के खोड़ा इलाके में बाइक पर आए दो शूटरों ने दो बीजेपी नेताओं पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी. इसमें एक नेता की अस्पताल में मौत हो गई, जबकि दूसरा जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहा है. दिल्ली-यूपी सीमा पर हुई इस वारदात के बाद पूरे शहर में सनसनी फैल गई है. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 1 दिन पहले ही गाजियाबाद का दौरा करके गए थे. साथ ही 1 दिन बाद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को यहा आना है. ऐसे में इस वारदात में पुलिस पर सवालिया निशान लगा दिए हैं.

यह भी पढ़ें : बिहार : अवैध संबंध के कारण हुई भाजपा नेता कृष्णा शाही की हत्या

प्रोफेशनल शूटर लग रहे थे बदमाश
बलवीर सिंह चौहान भारतीय जनता पार्टी के खोड़ा के मंडल अध्यक्ष हैं, जबकि गजेंद्र भाटी भाजपा के नेता हैं. आज तकरीबन 2:00 बजे बाइक पर आए अज्ञात शूटरों ने गजेंद्र भाटी और बलबीर सिंह चौहान पर अंधाधुंध गोलियों की बरसात कर दी. प्रत्याशियों की माने तो बाइक पर आए बदमाश प्रोफेशनल शूटर लग रहे थे. उनके पास अत्याधुनिक ऑटोमेटिक हथियार थे. इससे पहले कोई कुछ समझ पाता उससे पहले ही बदमाश ताबड़तोड़ 4 गोलियां गजेंद्र भाटी पर बरसा दी. साथ ही बलबीर सिंह चौहान को भी कुछ गोलियां लगी. भाटी को आनन-फानन में नोएडा के मैट्रो अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई.

यह भी पढ़ें : आगरा में भाजपा नेता की गोली मारकर हत्या, लोगों ने हमलावर को पीट-पीटकर मार डाला

VIDEO:  बीजेपी नेता की हत्या के बाद तनाव
बलबीर चौहान की हालत गंभीर
इस सनसनीखेज घटना के बाद मौके पर आला पुलिस अधिकारी पहुंचे साथ ही पूरे जिले का फ़ोर्स भी बुलाया गया, लेकिन बदमाश तब तक फरार हो चुके थे. बलबीर चौहान की अभी भी हालत गंभीर बनी हुई है. पुलिस की माने तो मृतक गजेंद्र सिंह भाटी थाने का हिस्ट्रीशीटर है और उसकी कई लोगों से रंजिश है. पुलिस को आशंका है कि उसकी हत्या इसी रंजिश में की गई है. हालांकि लोगों का मानना है कि जल्दी निगम के चुनाव होने वाले हैं, जिसके चलते इस हत्या को अंजाम दिया गया हो. नेता की हत्या के बाद अस्पताल और इलाके और थाने पर जबरदस्त भीड़ का जमावड़ा है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement