NDTV Khabar

फिल्म 'धड़क' की तर्ज पर दलित जीजा का साले ने दोस्त की मदद से किया मर्डर, जानें पूरा मामला

बुंदेलखंड के छतरपुर जिले की निवासी दीपा ने दलित युवक राजकुमार से 2011 में कर ली थी शादी, दोनों भागकर लुधियाना में रहने लगे थे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फिल्म 'धड़क' की तर्ज पर दलित जीजा का साले ने दोस्त की मदद से किया मर्डर, जानें पूरा मामला

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. अप्रैल 2019 में साला अंकित सिंह, भूपेंद्र के साथ लुधियाना गया
  2. दोनों बहन के घर में रहे और चाकू खरीदकर रख लिए
  3. राजकुमार को स्टेशन छोड़ने के लिए कहा और रास्ते में उसे मार डाला
भोपाल:

हिन्दी फिल्म 'धड़क' (मराठी फिल्म- सैराट) की तर्ज पर तीन अप्रैल, 2019 को पंजाब के लुधियाना जिले में एक दलित राजमिस्त्री राजकुमार अहिरवार की हत्या कर दी गई. हत्या के आरोप में राजकुमार के साले और उसके दोस्त को गिरफ्तार किया गया है. ककरदा गांव के मूल निवासी 24 साल के अंकित सिंह और 23 साल के भूपेंद्र सिंह को लुधियाना पुलिस की टीम ने छतरपुर पुलिस की मदद से गिरफ्तार किया.
      
पुलिस के मुताबिक 2011 में राजकुमार ने अपने गांव की दीपा से शादी की. दीपा के परिजन ठाकुर हैं. बाद में परिवार के डर से दोनों अपने गांव से भागकर दिल्ली आ गए और बाद में लुधियाना में बस गए जहां राजकुमार राजमिस्त्री का काम करने लगे.

कुछ महीनों पहले अंकित ने अपनी बहन का पता लगाया और उससे कहा कि वह चाहता है कि उनके रिश्ते फिर से पहले जैसे हो जाएं. अप्रैल 2019 में अंकित भूपेंद्र के साथ लुधियाना गया और राजकुमार के घर पर कुछ दिनों के लिए रहा. तीन अप्रैल को अंकित और उसके दोस्त ने लुधियाना के घंटाघर इलाके से चाकू खरीदे और फिर राजकुमार को अपनी बाइक पर उन्हें रेलवे स्टेशन छोड़ने के लिए कहा.


तेलंगाना : अंतरजातीय शादी करने वाले शख़्स की हत्या के लिए दी गई थी 1 करोड़ की सुपारी, ISI से भी लिंक        

अपने साले के प्लान से बेख़बर राजकुमार साहनेवाल शहर में एक नहर पर पहुंचा, तो अंकित ने राजकुमार का गला पीछे से काट दिया. इसके बाद वह जमीन पर गिर गया. अंकित और उसके दोस्त दोनों ने बाद में राजकुमार को कई बार चाकू से गोद दिया ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उसकी मौत हो गई है. हत्या के बाद अंकित ने राजकुमार के फोन का इस्तेमाल किया और दीपा को सूचित किया कि उसने राजकुमार को परिवार और ठाकुरों की इज्ज़त के लिए मार दिया है.

तेलंगाना : गर्भवती पत्नी के सामने शख़्स की हत्या, 8 महीने पहले की थी अंतरजातीय शादी      

मातगुंवा के पुलिस स्टेशन प्रभारी उमेश यादव ने कहा, "उन्होंने 2011 में अपने पैतृक गांव में शादी कर ली और वहां से भाग गए. अंकित 2019 में अपनी बहन के संपर्क में आया और फोन पर उससे बात करने लगा. तीन अप्रैल को उसने अपने भाई की हत्या कर दी. आईपीसी की धारा 302 के तहत साहनेवाल पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया था. अंकित अपनी बहन और बच्चों को मारने की धमकी दे रहा था. उसने हमारे वरिष्ठ अधिकारियों को भी इसकी सूचना दी और उसी के अनुसार हमने आरोपियों को गिरफ्तार किया और उन्हें पंजाब पुलिस के अधिकारियों को सौंप दिया.

टिप्पणियां

VIDEO : एक करोड़ देकर दामाद की हत्या कराई



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement