उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मी ने कथित तौर पर की आत्महत्या, पेड़ से लटका मिला शव

अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी ने रविवार को बताया कि 'मूलतः राजापुर थाने के मलवारा गांव निवासी पुलिसकर्मी (फॉलोअर) भूपत (27) का शव शनिवार को खोह गांव स्थित पुलिस लाइन परिसर में लगे एक पेड़ से फांसी के फंदे में लटका हुआ बरामद किया गया.

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मी ने कथित तौर पर की आत्महत्या, पेड़ से लटका मिला शव

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • चित्रकूट जिले की पुलिस लाइन में एक पुलिसकर्मी का शव पेड़ से लटकता पाया गया
  • पुलिस ने कहा कि शुरुआती जांच से यह आत्महत्या का मामला लगता है
  • वहीं मृतक के भाई ने कहा कि शव की पीठ और गर्दन पर चोट के निशान है
बांदा:

उत्तर प्रदेश के बांदा से सटे चित्रकूट जिले की पुलिस लाइन में एक पुलिसकर्मी का शव पेड़ से लटकता पाया गया है. इस बारे में जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी ने रविवार को बताया कि 'मूलतः राजापुर थाने के मलवारा गांव निवासी पुलिसकर्मी (फॉलोअर) भूपत (27) का शव शनिवार को खोह गांव स्थित पुलिस लाइन परिसर में लगे एक पेड़ से फांसी के फंदे में लटका हुआ बरामद किया गया. उन्होंने बताया कि अभी तक की जांच से ऐसा लगता है कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या की है. शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अध्ययन से मौत के असली कारणों का पता चलेगा. वहीं, मृत फॉलोअर के भाई गऊलाल ने कहा कि उसके भाई के शव की पीठ और गले में चोट के निशान दिखाई दे रहे हैं. हो सकता है कि किसी ने हत्या करने बाद शव पेड़ से लटकाया हो? बहरहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

यूपी: अवसाद ग्रस्त कांस्टेबल ने सर्विस रिवॉल्वर से गोली मारकर की आत्महत्या, जांच शुरू

उत्तर प्रदेश पुलिस में पुलिसकर्मियों की आत्महत्या का यह सिलसिला पिछले कई महीनों से जारी है. इससे पहले राज्य के बागपत जिले में एक अवसाद ग्रस्त सिपाही ने खुद को शूटआउट कर लिया था. सिपाही बागपत जिले के दोघट थानाक्षेत्र में टीकरी चौकी पर तैनात था, जहां उसने महीने की शुरुआत में खुद को गोली मारकर कथित रुप से आत्महत्या कर ली थी. पुलिस ने मृतक कांस्टेबल का नाम प्रवीण कुमार बताया था. प्रवीण अमरोहा जनपद के गांव तरारा का रहने वाला था और वर्ष 2016 में पुलिस विभाग में भर्ती हुआ था. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी थी.  

दो भाइयों को पकड़ने पहुंची पुलिस पर भीड़ ने किया हमला, 11 लोग गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया था कि प्रवीण ने थाने के अंदर खुद को गोली मारी थी. गोली की आवाज सुनकर बाहर जलपान कर रहे दरोगा भगवत प्रसाद कमरे में गए तो देखा प्रवीण लहूलुहान पडा था. पास में सर्विस रिवाल्वर पडी थी. एसपी प्रताप गोपेंद्र यादव और एएसपी अनिल सिंह सिसौदिया ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की. एसपी ने आशंका जताई थी कि सिपाही ने बीमारी से परेशान होकर आत्महत्या की है. वह काफी समय से बीमार चल रहा था. 

Video: कमलेश तिवारी हत्याकांड: पीड़ित परिवार ने सीएम योगी से की मुलाकात



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com