NDTV Khabar

4 साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा दिल्ली के हाईप्रोफाइल दीपक भारद्वाज हत्याकांड का मुख्य आरोपी महंत प्रतिभानंद

दिल्ली के अरबपति कारोबारी और बहुजन समाज पार्टी के नेता दीपक भारद्वाज की हत्या 500 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति विवाद में हुई थी.

1249 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
4 साल बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा दिल्ली के हाईप्रोफाइल दीपक भारद्वाज हत्याकांड का मुख्य आरोपी महंत प्रतिभानंद

गिरफ्तारी से बचने के लिए महंत प्रतिभानंद ने अपना हुलिया बदल लिया था

खास बातें

  1. संपत्ति विवाद में हुई थी दीपक भारद्वाज की हत्या
  2. दीपक भारद्वाज के बेटे और उनके एक जानकार वकील पहले ही गिरफ्तार हो चुके
  3. पुलिस के मुताबिक महंत प्रतिभानंद ने ही दीपक की हत्या की सुपारी ली थी
नई दिल्ली: दिल्ली के चर्चित और बेहद हाईप्रोफाइल दीपक भारद्वाज हत्याकांड का मुख्य आरोपी महंत प्रतिभानंद आखिरकार 4 साल बाद गाजियाबाद के सिहानी गेट इलाके से पकड़ा गया है. हालांकि पुलिस ने उसे आर्म्स एक्ट के दूसरे मामले में गिरफ्तार किया, लेकिन गिरफ्तारी के बाद पता चला कि महंत दिल्ली के वसंत कुंज एरिया में 26 मार्च, 2013 को हुए दीपक भारद्वाज हत्याकांड का मुख्य आरोपी है. दिल्ली के अरबपति कारोबारी और बहुजन समाज पार्टी के नेता दीपक भारद्वाज की हत्या 500 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति विवाद में हुई थी.

यह भी पढ़ें: खुद के आश्रम की चाहत में बसपा नेता की सुपारी ली थी स्वामी ने

एक स्कोडा कार में सवार दो लड़के दोपहर में उनके रजोकरी इलाके के 34 एकड़ के फॉर्महाउस में घुसे और ताबड़तोड़ गोलियां मारकर बरसाकर हत्या कर दी. ये पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुई थी. इस मामले में पुलिस दीपक के छोटे बेटे नीतेश और उसके एक जानकार वकील बलजीत सहरावत को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. पुलिस ने दावा किया था कि नीतेश ने ही पांच करोड़ की सुपारी देकर अपने पिता की हत्या करवाई. पुलिस ने मर्डर में इस्तेमाल होने वाली पिस्तौल भी रोहतक की नहर से बरामद कर ली थी.

यह भी पढ़ें : प्रतिभानंद की जानकारी देने पर एक लाख का इनाम घोषित

वकील बलजीत प्रॉपर्टी का भी काम करता था. पुलिस के मुताबिक बलजीत के कॉल डिटेल में नीतेश और महंत प्रतिभानंद का नंबर मिला, इसलिए नीतेश को शक के आधार पर गिरफ्तार किया गया था. इस मामले में सुपारी किलर पुरुषोत्तम और सुनील मान के अलावा वारदात में प्रयोग हुई कार के मालिक राकेश, ड्राइवर अमित और हथियार मुहैया कराने वाले प्रदीप उर्फ राजू को भी पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. पुलिस ने आरोपियों के पास से एक स्कोडा और एक सैंट्रो कार भी बरामद की. पुलिस का मानना था कि महंत प्रतिभानंद ने ही दीपक की हत्या की सुपारी ली थी.

VIDEO : अपनों ने ही रची थी दीपक भारद्वाज की हत्या की साजिश
उसकी तलाश में दिल्ली पुलिस ने कई राज्यों में छापेमारी की, लेकिन वह पुलिस से बचकर निकलता रहा. महंत प्रतिभानंद ने इस दौरान कई बार अपना हुलिया भी बदल लिया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement