NDTV Khabar

दिल्ली में इलेक्ट्रॉनिक्स पर हाथ साफ करने वाला 'इनोवा गिरोह' सक्रिय, वारदातों का तरीका खास

पिछले पांच महीने में गैंग ने 60 से ज्यादा शोरूम पर हाफ साफ किया, अनुमान के मुताबिक 15 करोड़ से ज्यादा के एलईडी टीवी चोरी

233 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में इलेक्ट्रॉनिक्स पर हाथ साफ करने वाला 'इनोवा गिरोह' सक्रिय, वारदातों का तरीका खास

एक वारदात के सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहे चोर.

नई दिल्ली: दिल्ली में इलेक्ट्रॉनिक शोरूम के मालिकों पर इनोवा गैंग का खौफ सिर चढ़ के बोल रहा है. इस गैंग के लोग इनोवा कार से आते हैं एलईडी चोरी कर के ले जाते हैं. पिछले 5 महीने के अंदर ये गैंग 60 से ज्यादा शोरूम पर हाफ साफ कर चुका है और अनुमान के मुताबिक 15 करोड़ से ज्यादा की एलईडी चोरी कर चुका है.

दिल्ली के कमलानगर के हरि शरण इलेक्ट्रॉनिक्स में 19-20 दिसम्बर की रात एक इनोवा आती है, जिससे एक नकाबपोश उतरता है, बाहर लगे सीसीटीवी की दिशा बदलता है, शटर तोड़ता है और शोरूम में 3 लड़के दाखिल होते हैं. करीब घंटे भर से ज्यादा शोरूम में रहते हैं. बड़े आराम से 28 एलईडी चोरी करते हैं और कार में  लेकर गायब हो जाते हैं.

हरि शरण इलेक्ट्रॉनिक्स के केवल कृष्णा अरोरा ने बताया कि वे लोग सफेद इनोवा में आए, शटर तोड़ा और अंदर तीन लड़के घुसे. सारे 28 एलईडी साफ कर गए, कुछ कैश भी ले गए.

कमला नगर के ही एक दूसरे इलेक्ट्रॉनिक शोरूम सैनी इलेक्ट्रॉनिक में 17 नवंबर की रात एक इनोवा कार आती है, कुछ लड़के कार से उतरते हैं, शोरूम का शटर तोड़ने हैं और तीन बार में इनोवा कार में 40 एलईडी भरकर ले जाते हैं. जब तक  शोरूम के बाहर तैनात गार्ड को कुछ समझ में आता चोर भाग गए.

सैनी इलेक्ट्रॉनिक्स के यशवीर सिंह ने बताया कि मेरे यहां 2-3 गाड़ियां थीं, जिसमें एक इनोवा एक इको और एक और गाड़ी थी. दिल्ली में जितनी ऐसी चोरियां हो रही हैं वो इनोवा कार वाले ही कर रहे हैं.

22 दिसम्बर को वैसी ही इनोवा देर रात मॉडल टाउन के नवीन इलेक्टरोटेक के बाहर आकर रुकती है वैसे ही नकाबपोश लड़के कार से उतरते हैं, शोरूम के शटर तोड़ने की कोशिश करते हैं लेकिन 2 घंटे की मशक्कत के बाद भी लॉक नहीं तोड़ पाते. इस दौरान व्यस्त सड़क से लगातार गाड़ियां निकलती रहती हैं. कई बार गश्त करते पुलिसकर्मी भी निकले लेकिन ये गैंग अपना काम करता रहा. शोरूम के मालिक ओपी बत्रा खुद को भाग्यशाली मानते हैं कि उनका शोरूम इनोवा गैंग से बच गया. ओपी बत्रा ने कहा बिल्कुल वही इनोवा गाड़ी है, वही लड़के हैं. हर जगह वही जा रहे है. जितनी भी हमने एफआईआर दी हैं वो इनोवा गाड़ी की हैं. इनका आतंक इतना हो गया है कि शोरूम मालिक रात रात भर जाग रहे हैं.

हाल ही में 27-28 फरवरी की रात दिल्ली के मयूर विहार फेज वन के दिव्या इलेक्ट्रॉनिक्स में नकाबपोश लड़के आते हैं. पहले बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे का तार काटते हैं और फिर 26 एलईडी चोरी कर ले जाते हैं. बीते साल 14 दिसंबर को भी इसी शोरूम से 52 एलईडी चोरी हुए. पुलिस से बड़ी मुश्किल से केस दर्ज किया. दिव्या इलेक्ट्रॉनिक्स के कैलाश गुप्ता ने कहा कि वो एफआईआर इसलिए नहीं लिख रहे थे क्योंकि कह रहे थे आपके यहां दो महीने पहले भी चोरी हुई थी. आपने गार्ड क्यों नहीं रखा. डिवाइस क्यों नहीं लगाई. चोरी रोकने का इंतज़ाम क्यों नहीं किया.

टिप्पणियां
दिल्ली में इस इनोवा गैंग का आतंक है. आंकड़ों पर नज़र डालें तो केवल यही गैंग पिछले 5 महीने में 60 से ज्यादा ऐसी घटनाओं को अंजाम दे चुका है. सैकड़ों एलईडी तो चोरी हुए ही दिल्ली के शोरूम मालिकों को करोड़ों का नुकसान भी हुआ. करोबारी दिल्ली के उपराज्यपाल और पुलिस के आला अधिकारियों से मिल चुके हैं लेकिन कारोबारियों के मुताबिक अब तक चोरी का एक मामला नहीं सुलझा

.  दीपेंद्र पाठक,प्रवक्ता दिल्ली पुलिस  ने कहा देखिए ये चोरी में ये एक पैटर्न देखने को मिला है. हमारी स्पेशल टीम्स उस पर काम कर रहीं हैं. हम उन्हें जल्दी ही पकड़ेंगे. खास बात ये है कि ये गैंग रात एक बजे से 4 बजे के बीच चोरी करता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement