NDTV Khabar

तीन दर्जन से ज्यादा मामलों में भोगड़ा और 100 में वांटेड ठग को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस उसके बुराड़ी के घर में रोज जाती लेकिन वो नहीं मिलता वो 2016 से भागा हुआ था और लगातार मोबाइल नम्बर भी बदल रहा था, लेकिन पुलिस को पता चला कि होली के दिन उसकी पत्नी दिल्ली के सागरपुर इलाके में अपने एक रिश्तेदार के घर आयी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तीन दर्जन से ज्यादा मामलों में भोगड़ा और 100 में वांटेड ठग को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

वांछित अपराधी चढ़ा पुलिस के हत्थे

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे ठग को गिरफ्तार किया है जिसे कोर्ट ठगी के 42 केसों में भगोड़ा घोषित कर चुकी है जबकि उस पर ठगी ले 100 केस दर्ज हैं ,जिनमें वो वांटेड चल रहा था . आरोपी का नाम जसवंत सिंह हैं. पुलिस के मुताबिक जसवंत पर दिल्ली और हरियाणा में ठगी के 100 केस दर्ज हैं, जबकि उसके कोर्ट उसे 42 केसों में भगोड़ा घोषित कर चुकी है. पुलिस उसके बुराड़ी के घर में रोज जाती लेकिन वो नहीं मिलता वो 2016 से भागा हुआ था और लगातार मोबाइल नम्बर भी बदल रहा था, लेकिन पुलिस को पता चला कि होली के दिन उसकी पत्नी दिल्ली के सागरपुर इलाके में अपने एक रिश्तेदार के घर आयी है.

बनना चाहता था जुर्म की दुनिया का 'बेताज बादशाह', ऐसे पहुंच गया जेल, देखें VIDEO

पुलिस ने उस इलाके में नज़र रखी और फिर 10 अप्रैल को आरोपी जसवंत सिंह पकड़ा गया. पुलिस के मुताबिक अल्मोड़ा का रहने वाला जसवंत सिंह 1988 में दिल्ली आया,यहां उसका संपर्क एक रविंद्र रस्तोगी नाम के शख्स से हुआ जो पोंजी स्कीम चलाता था. रविन्द्र ने जसवंत को अपनी कई कंपनियों का डायरेक्टर बना दिया, जिसमें वसुंधरा स्टील लिमिटेड मुख्य थी, लेकिन ये सभी कंपनियां केवल कागज़ों पर चल रही थीं.


टिप्पणियां

जम्मू कश्मीर के राजौरी में नाबालिग से गैंगरेप, एक गिरफ्तार 

जसवंत और रविन्द्र ने लोगों को 15 प्रतिशत सालाना का लालच देकर कई लोगों से इन कंपनियों में बड़े पैमाने पर पैसा लगवा दिया. लेकिन किसी का पैसा वापस नहीं किया. 2016 में जब पुलिस उसे तलाशने लगी तब से वो गायब हो गया,जसवंत के मुताबिक उसने रविन्द्र को 2016 से नहीं देखा. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement