NDTV Khabar

दिल्ली एयरपोर्ट पर सोना तस्करी रैकेट का भंडाफोड़, आठ गिरफ्तार

डीआरआई की शुरुआत जांच में पता चला है कि आरोपी सोने की इस खेप को ढाका से लेकर आ रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली एयरपोर्ट पर सोना तस्करी रैकेट का भंडाफोड़, आठ गिरफ्तार

आरोपियों के पास से बरामद सोना (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: डीआरआई ने सोना तस्करी रैकेट के भंडाभोड़ करते हुए आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपियों को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है. पुलिस को आरोपियों के पास से 6.5 किलो सोना जब्त किया है जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत दो करोड़ रुपये से ज्यादा की है. डीआरआई की शुरुआत जांच में पता चला है कि आरोपी सोने की इस खेप को ढाका से लेकर आ रहे थे. जांच के अनुसार एक मोबाइल सर्विस देने वाली कंपनी के लोग भी इस रैकेट का हिस्सा थे. वह अपने आईकार्ड का इस्तेमाल कर बगैर किसी जांच के ही आरोपियों को एयरपोर्ट में प्रवेश और बाहर निकाल दिया करते थे. बाद में तस्कर मोबाइल के कर्मचारियों को उनका हिस्सा दे पहुंचा देते थे.

यह भी पढ़ें: डीआरआई ने सोने की सबसे बड़ी खेप की जब्त, तीन आरोपी गिरफ्तार

डीआरआई के अनुसार इस तरह से आरोपियों ने बीते एक साल में करीब 100 किलो सोने की तस्करी की है. पुलिस इस मामले में गिरोह के लिए काम करने वाले अन्य आरोपियों की भी तलाश करने जुटी है. साथ ही इस गिरोह का ढाका कनेक्शन भी तलाशा जा रहा है. गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही डीआरई ने मुंबई से भी एक ऐसे ही गिरोह का भंडाफोड़ किया था जो ड्रग्स की तस्करी करता था. डीआरी ने गिरोह के दस सदस्यों को गिरफ्तार भी किया था. गिरफ्तारी आरोपियों में तीन विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. डीआरआई के मुताबिक ये गिरोह पिछले कई सालों से प्रतिबंधित दवा का निर्माण करता था. आरोपियों के खिलाफ तीन दिन तक चली इस कार्रवाई को "ऑपरेशन विटामिन" का नाम दिया गया था.

यह भी पढ़ें: DRI ने म्यांमार से अवैध तरीके से AK-47 लाने वाले रैकेट का किया भंडाफोड़

डीआरआई ने मुंबई के पनवेल एमआईडीसी में एक फैक्ट्री के साथ गोवा और वड़ोदरा में भी छापेमारी कर 308 किलो किटामाइन सहित 2000 किलो का कच्चा माल भी बरामद किया था. जांच में पता चला था कि गिरोह के लोग इस ड्रग्स को देश के अलग-अलग हिस्सों के साथ-साथ विदेश में भी सप्लाई करते थे. जांच में पता चला है कि इस रैकेट के तार श्रीलंका, मोजांबिक, ब्रिटेन, कनाडा, मलेशिया, नेपाल, ऑस्ट्रेलिया, वियतनाम और कीनिया तक से जुड़े थे. पुलिस फिलहाल इस रैकेट के तहत काम करने वाले अन्य आरोपियों की भी तलाश कर रही है.

यह भी पढ़ें: जांच से बचने के लिए कारोबारी ने इमारत से कूदकर की आत्महत्या

गिरफ्तार आरोपियों ने जांच अधिकारियों को बताया है कि वह ड्रग्स तस्करी के दौरान विशेष कोड का इस्तेमाल करते थे. जैसे कि स्पेशल के और विटामिन के.इन दो कोड के आधार पर ही वह ड्रग्स की डिलिवरी कराते थे. पूछताछ में पता चला है कि इस पूरे रैकेट को खाड़ी देशों में बैठे सरगना नियंत्रित करते थे. गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही दिल्ली पुलिस ने भी ड्रग्स तस्करी के आरोप में दो विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया था.

टिप्पणियां
VIDEO: जौहरी ने जांच के डर से की आत्महत्या.


यह दोनों अफगानिस्तान से हाई क्वालिटी की हीरोइन और दूसरे ड्रग्स से भरे कैप्सूल पेट में छुपाकर दिल्ली लाते थे. इनके नाम अब्दुल सलाम रहमानी और अब्दुल हाकिम जुनैदी है. पुलिस ने इनके पास से 60 कैप्सूल बरामद किए थे.( इनपुट भाषा से) 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement