NDTV Khabar

शराबी पिता ने 25 हजार रुपये में बेच दिया 11 महीने का बच्‍चा, फिर खरीदा मोबाइल और पायल

शराबी किसी भी स्‍तर तक जाकर अपनी लत पूरी करता है. ऐसा ही एक मामला ओड‍िशा में सामने आया है जहां एक शराबी ने अपने 11 महीने के बच्‍चे को 25 हजार रुपये में बेच दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शराबी पिता ने 25 हजार रुपये में बेच दिया 11 महीने का बच्‍चा, फिर खरीदा मोबाइल और पायल

खास बातें

  1. बच्‍चा बेचकर जो पैसे म‍िले वो उसने शराब में उड़ा द‍िए
  2. पत्‍नी का कहना है क‍ि उसने बच्‍चा बेचने का व‍िरोध क‍िया था
  3. शराबी का दावा है क‍ि पत्‍नी से झगड़े के बाद उसने बच्‍चा बेचा
भुवनेश्‍वर: संस्‍कृत में एक कहावत है 'बुभुक्षितं किम न करोति पापम्' यानी भूखा इंसान पेट भरने के लिए कुछ भी कर सकता है. ठीक इसी तरह शराबी किसी भी स्‍तर तक जाकर अपनी लत पूरी करता है. ऐसा ही एक मामला ओड‍िशा में सामने आया है  
जहां एक शराबी ने अपने 11 महीने के बच्‍चे को 25 हजार रुपये में बेच दिया.

पढ़ें: शराबी पिता ने दो बेटियों के होंठ, नाक चबाए

आरोपी बलराम मुखी ओड‍िशा के भद्रक जिले का रहने वाला है. पेशे से सफाई कर्मचारी बलराम को शराब की बुरी लत है. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि उसने पत्‍नी बर्षा मुखीऔर साले बलिया के साथ मिलकर बच्‍चे को बेचने की साजिश रची. जानकारी के मुताबिक बलिया आंगनवाड़ी कार्यकर्ता है. एक दिन उसकी मुलाकात ऐसे बुजुर्ग दंपति से हुई जिनके 24 साल के बेटे की मौत हो चुकी थी. मुलाकात के दौरान ही उसने बच्‍चा बेचने की साज‍िश रची. 

पढ़ें: शराबी पिता ने दो बेटियों को बेचा

दरअसल, सोमनाथ सेठी सरकारी कर्मचारी था और बतौर ड्राइवर रिटायर हो चुका था. 24 साल के बेटे के गुजर जाने के बाद से ही उसकी पत्‍नी डिप्रेशन में रहने लगी थी. पत्‍नी की हालत में सुधार के लिए वह बच्‍चा गोद लेना चाहता था. उसने अपनी जान-पहचान के लोगों से कहा था कि अगर उनकी नजर में कोई बच्‍चा हो तो उसे जरूर बताएं जिसे वो गोद ले सके. बलिया सेठी को जानता था और उसी ने बलराम मुखी और दंपति के बीच बच्‍चे का सौदा कराया. बच्‍चे के एवज में मुखी को 25 हजार रुपये मिले. इन पैसों से उसने दो हजार रुपये का मोबाइल, बेटी के लिए 1500 रुपये की चांदी की पायल और पत्‍नी के ल‍िए साड़ी खरीदी. बचे पैसे उसने शराब में उड़ा दिए. 

पढ़ें: छत्तीसगढ़ में शराबी पिता ने बेटी को जिंदा जलाया

बच्‍चे की मां बर्षा मुखी के मुताबिक, 'मेरे पति ने शराब पी हुई थी और उसका कहना था कि बच्‍चा नाजायज है. इसलिए वह बच्‍चे को अपने साथ न रखकर किसी और को दे देना चाहता था. उसने मुझे मारा और मैंने भी उसे मारा. फिर उसने जबरदस्‍ती बच्‍चे को 25 हजार रुपये में बेचकर उन पैसों से मोबाइल, पायल और साड़ी खरीदी.' 

जहां बच्‍चे की मां का कहना है कि उसने पति का विरोध किया था वहीं बलराम मुखी का दावा है कि झगड़े के वक्‍त दोनों शराब के नशे में थे. झगड़े के दौरान उसने बच्‍चे को उठाया और बेच दिया.
बहरहाल, पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है. ​


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement