जरूरी सेवाओं का स्टीकर लगाकर करते थे अफीम की तस्करी, नारकोटिक्स सेल ने PPE किट पहनकर पकड़ा

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने एक ऑपेरशन के तहत मई के महीने में 355 किलो अफीम बरामद की है और अलग अलग जगहों से 11 लोगों को गिरफ्तार किया है.

जरूरी सेवाओं का स्टीकर लगाकर करते थे अफीम की तस्करी, नारकोटिक्स सेल ने PPE किट पहनकर पकड़ा

नई दिल्ली:

लॉकडाउन के बीच मई के महीने में झारखण्ड से राजस्थान और यूपी में पास लगे जरूरी सेवाओं के वाहनों में बड़े पैमाने पर अफीम की तस्करी हो रही थी. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने एक ऑपेरशन के तहत मई के महीने में 355 किलो अफीम बरामद की है और अलग अलग जगहों से 11 लोगों को गिरफ्तार किया है. पकड़ी गई अफीम की कीमत 35 करोड़ से ज्यादा है. एनसीबी के अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए तस्करों को पीपीई किट पहनकर पकड़ा, कई तस्करों ने अफीम ट्रक के टायरों में छुपाई हुई थी. एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा के मुताबिक लॉकडाउन के बाद दवाइयां ले जाने वाले जरूरी वाहनों को कहीं भी आने जाने की छूट थी. पास लगे इन वाहनों को जांच के लिए कोई रोकता भी नहीं था, इसी का फायदा नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले तस्कर उठाने लगे.

एनसीबी को जैसे ही इसकी भनक लगी ,ऐसे तस्करों की धरपकड़ के लिए पूरे भारत में पैन इंडिया ऑपेरशन शुरू किया गया. इस आपरेशन के तहत 19 मई को अजमेर से करीब 64 किलो अफीम पकड़ी और 2 लोगों को गिरफ्तार किया. ये लोग झारखंड के नक्सल प्रभावित इलाके से अफीम ला रहे थे, इसके बाद 20 मई को जोधपुर के पास 41 किलो अफीम और पकड़ी गई और 2 लोग गिरफ्तार किए गए,फिर लखनऊ एनसीबी की टीम ने 31 किलो अफीम पकड़ी और झारखण्ड से हरियाणा जा रही थी.

इस मामले में किंगपिन मनोज डांगी को पकड़ा गया और इसके बाद इसी टीम ने 60 किलो अफीम और पकड़ी,इसके बाद 29 मई लखनऊ एनसीबी की टीम ने 124 किलो अफीम और पकड़ी जो झारखंड से हरियाणा के कैथल जा रही थी. इस खेप के साथ 3 लोग पकड़े गए,ये सभी लोग पास लगे जरूरी वाहनों से ये तस्करी कर रहे थे.

एनसीबी मानें तो पहले अफीम की तस्करी मध्य प्रदेश और राजस्थान से हो रही थी लेकिन अब झारखण्ड के नक्सल प्रभावित इलाकों से रही है. 2019-20 में राज्य सरकार के सहयोग से एनसीबी ने झारखण्ड में 1002 एकड़ अफीम की खेती नष्ट की है, जबकि अफीम की पैदावार करने वाले 8 राज्यों में कुल 10401 एकड़ अफीम की अवैध खेती नष्ट की गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

CSIR जेसिका लाल हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे मनु शर्मा की रिहाई