NDTV Khabar

इंसानियत शर्मसार, राजस्थान में एक पिता ने अपनी ही सात वर्षीय बेटी से बार-बार किया बलात्कार

झालावाड़ में एक पिता ने अपनी ही सात साल की बेटी को हवस का शिकार बनाया है और कथित तौर पर बार-बार बलात्कार किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इंसानियत शर्मसार, राजस्थान में एक पिता ने अपनी ही सात वर्षीय बेटी से बार-बार किया बलात्कार

प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान के झालावाड़ा जिले से इंसानियत और मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है. झालावाड़ में एक पिता ने अपनी ही सात साल की बेटी को हवस का शिकार बनाया है और कथित तौर पर बार-बार बलात्कार किया. हालांकि, आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि लड़की अपने घर के पास के एक आंगनवाड़ी केंद्र जाती थी, लेकिन हाल में उसने वहां जाना बंद कर दिया. लड़की की अनुपस्थिति पर आंगनवाड़ी की एक कार्यकर्ता कल उसके घर गई. झालावाड़ के पुलिस उपाधीक्षक चगन सिंह राठौड़ ने बताया कि वहां आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को पता चला कि लड़की के पिता ने एक सप्ताह में उससे कथित तौर पर तीन-चार बार बलात्कार किया है. 

यह भी पढ़ें - बलात्कार की संख्या के मामले में मध्यप्रदेश फिर से देश के सभी राज्यों में अव्वल

अधिकारी ने बताया कि बच्ची के जन्म के दो महीने बाद उसकी मां की मौत हो गई थी और घर में उसकी दादी रहती है जो दृष्टिहीन है. घटना के बारे में पता चलने पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने बाल कल्याण समिति को सूचना दी और लड़की को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया. 

यह भी पढ़ें - बिहार : पिता ने दुष्कर्म पीड़ित गर्भवती पुत्री को श्मशान में गला दबाकर मार तो डाला, मगर...

टिप्पणियां
समिति के सदस्यों द्वारा काउंसलिंग किए जाने के बाद लड़की का बयान दर्ज किया गया और झालावाड़ महिला थाने में शिकायत दर्ज की गई. लड़की का पिता मजदूर है. उसे कल गिरफ्तार कर लिया गया. उसके खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (पोक्सो) कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

VIDEO: दिल्ली : आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के मुखिया के खिलाफ रेप केस (इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement