NDTV Khabar

कॉन्ट्रेक्ट पर शादी कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, आठ विदेशियों सहित 20 गिरफ्तार

हैदराबाद में मध्य-पूर्व और खाड़ी देशों के बुजुर्गों के साथ कराई जा रही थी नाबालिग लड़कियों की शादी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कॉन्ट्रेक्ट पर शादी कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, आठ विदेशियों सहित 20 गिरफ्तार

हैदराबाद में अनुबंध पर शादी कराने वाला गिरोह पकड़ा गया.

खास बातें

  1. ओमान और कतर के आठ शेखों से लड़कियों की शादी का प्रयास विफल
  2. तीन काजी, चार मकान मालिक और पांच एजेंट पुलिस की गिरफ्त में
  3. 20 महिलाओं और नाबालिग लड़कियों की तस्करी की योजना थी
हैदराबाद:

पुलिस ने यहां ‘अनुबंध पर शादी’ कराने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है जो मध्य-पूर्व और खाड़ी देश के बुजुर्गों के साथ यहां की नाबालिग लड़कियों की शादी कराते हैं. इस मामले में ओमान के पांच, कतर के तीन नागरिकों सहित 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण जोन) वी सत्यनारायण ने आज बताया कि ‘अनुबंध पर शादी’ (छोटी अवधि की शादी) कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए ओमान और कतर के आठ शेखों के स्थानीय लड़कियों से शादी करने के प्रयास को विफल कर दिया गया. पुलिस ने तीन काजियों (शादी कराने वाले लोग), चार मकान मालिकों और पांच एजेंटों/ बिचौलियों को गिरफ्तार किया है जो इस तरह की शादी संपन्न कराते हैं.

यह भी पढ़ें : हैदराबाद : गुड्डे-गुड़िया खेलने की उम्र में लड़की कर रही थी शादी की जिद, फिर लड़के ने किया कुछ ऐसा...


वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “दो नाबालिग लड़कियों को छुड़ाया गया. प्राथमिक जांच से सामने आया है कि अनुबंध पर की गई इन शादियों के जरिए यह लोग कम से कम 20 महिलाओं और नाबालिग लड़कियों की तस्करी की योजना बना रहे थे.” उन्होंने कहा कि गिरोह के संबंध में विस्तृत जांच की जा रही है.

VIDEO : पूर्व शौहर की सहमति से हलाला

टिप्पणियां

हैदराबाद पुलिस ने पहले भी पुराने नगर क्षेत्र में कई ऐसे गिरोहों का पर्दाफाश किया है जो जाली दस्तावेजों के जरिए ऐसी शादियां करवाते थे.
(इनपुट भाषा से)

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... योगी आदित्यनाथ की सीएए प्रदर्शनकारियों को चेतावनी, 'आज़ादी' के नारे लगाना देशद्रोह माना जाएगा

Advertisement