NDTV Khabar

यूपी के उन्नाव में मां के सामने नाबालिग बेटी से कथित गैंगरेप, पुलिस बता रही लेन-देन का विवाद

दरिंदगी के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए, जिसके बाद महिला बेटी को लेकर थाने पहुंची. लेकिन, पुलिस ने सनसनीखेज घटना की एफआईआर दर्ज करने के बजाय इसे लेन-देन का विवाद बता जांच की बात कर रही है. 

350 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी के उन्नाव में मां के सामने नाबालिग बेटी से कथित गैंगरेप, पुलिस बता रही लेन-देन का विवाद

प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ: यूपी से एक बार फिर गैंगरेप की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. उधार में दी गई रकम वापस लेने उन्नाव के औरास गई महिला के सामने ही बदमाशों ने उसकी नाबालिग बेटी के साथ कथित तौर पर गैंगरेप कर डाला. महिला ने बताया कि वह मदद के लिए शोर मचाती रही लेकिन, कोई भी उसकी मदद को नहीं आया. दरिंदगी के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए, जिसके बाद महिला बेटी को लेकर थाने पहुंची. लेकिन, पुलिस ने सनसनीखेज घटना की एफआईआर दर्ज करने के बजाय इसे लेन-देन का विवाद बता जांच की बात कर रही है. 

मलिहाबाद के एक गांव की रहने वाली महिला सीमा (बदला नाम) ने उन्नाव के औरास स्थित शहदोई गांव निवासी युवक को 50 हजार रुपये उधार दिये थे. कई बार तगादा करने के बावजूद वह युवक रुपये वापस नहीं कर रहा था. बीती 27 अक्टूबर को सीमा अपनी 16 वर्षीया बेटी रीना (बदला नाम) के साथ रकम वापस लेने युवक के गांव पहुंची. लेकिन, इस बार भी युवक ने रुपये वापस करने से इंकार कर दिया. हताश सीमा बेटी रीना के साथ वापस लौटने लगी. सीमा के मुताबिक, जब वे दोनों शाम 6 बजे स्वयंवरखेड़ा के करीब पहुंची, तभी दो बाइक पर सवार चार बदमाश वहां आ पहुंचे. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : पंजाब के जलालाबाद में 11वीं की छात्रा की गैंगरेप के बाद मौत 

अभी मां-बेटी कुछ समझ पाती, इससे पहले एक बदमाश ने सीमा पर तमंचा तान दिया. जबकि, बाकी तीन बदमाश उसकी बेटी रीना को रोड के बगल में स्थित खेत में खींच ले गए. जहां बदमाशों ने एक-एक कर उसके साथ हैवानियत की और किसी को भी कुछ न बताने की हिदायत देते हुए बाइक पर बैठकर फरार हो गए. बदमाशों के फरार होने के बाद सीमा ने डायल-100 पर कॉल कर घटना की सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच करने का बहाना बताया और मां-बेटी को अगले दिन थाना आने को कहा. 
VIDEO: युवती से गैंगरेप.

सीमा अगले दिन बेटी को लेकर थाना औरास पहुंची. लेकिन, पुलिसकर्मियों ने एसओ के छुट्टी पर होने की बात कहकर वापस कर दिया. सोमवार को सीमा एक बार फिर थाने पहुंची और चार बदमाशों के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की. हालांकि, पुलिस ने तब भी एफआईआर दर्ज नहीं की. एसओ नारदमुनि सिंह ने बताया कि मामला रुपयों के लेन-देन का लग रहा है. जांच की जा रही है, उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement