NDTV Khabar

किशोरी का अपहरण, 50 हजार में बिकी और खरीदार ने दिव्यांग बेटे से करा दी शादी

पुलिस ने किशोरी को सकुशल बरामद करते हुए उसे बेचने वाले दंपती और खरीदकर बेटे से शादी कराने वाले शख्स को अरेस्ट कर लिया है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
किशोरी का अपहरण, 50 हजार में बिकी और खरीदार ने दिव्यांग बेटे से करा दी शादी

प्रतीकात्मक चित्र.

खास बातें

  1. किशोरी घर से नाराज होकर निकली
  2. एक दंपती ने बंधक बनाया
  3. बंधक बनाने के बाद किशोरी को बेचा.
लखनऊ: यूपी के लखनऊ में गोमतीनगर एरिया में परिजनों से नाराज होकर घर से निकली किशोरी को दंपती ने बंधक बनाकर उसे दिल्ली में 50 हजार रुपये में बेच दिया. किशोरी को खरीदने वाले ने उसकी शादी अपने बोलने-सुनने में अक्षम बेटे से करा दी. किशोरी को तलाश रही पुलिस सर्विलांस की मदद से किशोरी को बेचने वाले दंपती तक पहुंची तब जाकर पूरी घटना का खुलासा हुआ. पुलिस ने किशोरी को सकुशल बरामद करते हुए उसे बेचने वाले दंपती और खरीदकर बेटे से शादी कराने वाले शख्स को अरेस्ट कर लिया है. 

गोमतीनगर के खरगापुर एरिया में रहने वाली 15 वर्षीया रीना (काल्पनिक नाम) बीती 2 अक्टूबर को परिजनों से नाराज होकर घर से निकल गई. वह ट्रेन से कानपुर स्टेशन पहुंची. मामले के इंवेस्टिगेटिव ऑफिसर सब इंस्पेक्टर अरविंद पांडेय के मुताबिक, उसे भटकता देख कमल सिंह यादव और उसकी पत्नी गुडिय़ा ने रीना को अपनी बातों में फंसाया और उसे लेकर अपने घर पहुंच गए. जहां गुडिय़ा ने रीना का मोबाइल फोन छीनकर अपनी ननद को दे दिया. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : मुंबई, बेंगलुरु के मसाज पार्लरों में बढ़ी थाईलैंड के सेक्स स्लेव्स की मांग

इधर, रीना के गुम होने की एफआईआर उसके पिता ने गोमतीनगर थाने में दर्ज करा दी. पुलिस ने रीना का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लिया तो उसकी लोकेशन कौशांबी में मिली. पुलिस टीम कौशांबी पहुंची और मोबाइल फोन इस्तेमाल कर रहे अरविंद यादव को कस्टडी में ले लिया. पूछताछ में उसने बताया कि उसे यह फोन उसके साले कमल और गुडिय़ा ने दिया. पुलिस टीम कानपुर पहुंची और कमल व गुडिय़ा से पूछताछ की तो पूरी घटना साफ हो गई. सख्त पूछताछ में कमल व गुडिय़ा ने बताया कि उन लोगों ने अपने रिश्तेदार नेत्रपाल व धीर सिंह की मदद से रीना को दिल्ली में रहने वाले राजेश को 50 हजार रुपये में बेच दिया. 
VIDEO : मानव तस्करी करने वाला गिरोह पकड़ा गया

पुलिस टीम दिल्ली पहुंची तो पता चला राजेश ने रीना को खरीदकर उसकी शादी बीती 6 अक्टूबर को एक मंदिर में अपने मूक-बधिर बेटे से करा दी. पुलिस ने राजेश के घर से रीना को सकुशल बरामद कर लिया. वहीं, उसे बेचने वाले कमल सिंह यादव, उसकी पत्नी गुडिय़ा और खरीदने वाले राजेश को अरेस्ट कर लिया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement