NDTV Khabar

गुड़गांव का रयान स्कूल : डरे हुए हैं बच्चे और पेरेंट्स

स्कूल अब भी बंद है और बच्चों के घरवाले उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. गुड़गांव के सेक्टर 40 का रयान इंटरनेशनल स्कूल है, जहाँ बच्चों के घरवाले उनकी सुरक्षा को लेकर बेहद चिंतित हैं. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुड़गांव का रयान स्कूल : डरे हुए हैं बच्चे और पेरेंट्स

रयान स्कूल के बाहर तैनात पुलिसवाले.

नई दिल्ली: गुड़गांव के रयान स्कूल में एक बच्चे की हत्या के मामले में मौका ए वारदात की एक बार फॉरेंसिक जांच हुई. वहीं, पुलिस ने स्कूल मैनेजमेंट के गिरफ्तार 2 अधिकारियों को कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने एक अधिकारी को 3 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. स्कूल अब भी बंद है और बच्चों के घरवाले उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. गुड़गांव के सेक्टर 40 का रयान इंटरनेशनल स्कूल है, जहाँ बच्चों के घरवाले उनकी सुरक्षा को लेकर बेहद चिंतित हैं. 

हाल ये है कि स्कूल में करीब 1500 बच्चे पढ़ते हैं लेकिन डर की वजह से केवल 15 से 20 बच्चे ही स्कूल आये हैं. बच्चों के घरवालों के मुताबिक स्कूल में कोई सुरक्षा नहीं है जिसकी शिकायत वो पहले भी कर चुके हैं . सोहना के जिस रयान स्कूल में बच्चे की हत्या हुई वो फिलहाल बंद ही है. स्कूल में सुरक्षा की बड़ी खामियां सामने आ चुकी हैं. बुधवार को स्कूल के 8 सुरक्षा गार्ड भी सामने आए जिन्हें लपरवाही के आरोप में नौकरी से निकाला गया था. उनका कहना है कि न तो स्कूल में किसी की आवाजाही पर रोक थी और न ही उनके वेरिफिकेशन कराया गया 

यह भी पढ़ें : रयान स्कूल में बच्चे की हत्या : पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट में दुराचार नहीं होने की बात, गला रेतने से हुई मौत

स्कूल में मौका ए वारदात की रोहतक से फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने एक बार फिर जांच की. हालांकि इससे पहले ही क्राइम सीन पर कई लोगों को बेरोक टोक जाने दिया गया. ऐसे में सबूत कितने पुख्ता मिलेंगे इस पर भी संदेह है. 2 दिन की पुलिस रिमांड के बाद पुलिस ने लापरवाही के आरोप में गिरफ्तार रयान स्कूल के रीजनल हेड फ्रांसिस थॉमस और एचआर हेड जोएस थॉमस को सोहना कोर्ट पेश किया. कोर्ट में पुलिस ने कहा कि अब तक स्कूल की सुरक्षा से जुड़े करीब 500 दस्तावेज बरामद किए गए हैं. 
VIDEO: रयान के मामले ने तूल पकड़ा

इनमें स्कूल में बड़ी खामियों के सबूत हैं. फ्रांसिस ने पत्र के जरिये अपने मुंबई हेड आफिस को इसकी जानकारी भी दी थी,  लेकिन वहां से कोई कदम नहीं उठाया गया. अब फ्रांसिस को मुंबई ले जाकर वो दस्तावेज बरामद करना है. यानी साफ है कि लापरवाही स्कूल के टॉप मैनेजमेंट की भी है. फ्रांसिस थॉमस को 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया जबकि जोएस थॉमस को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. पुलिस हत्या के इस जघन्य मामले में शनिवार तक चार्जशीट दाखिल कर सकती है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement