ऑनर किलिंग : प्रेम संबंध से नाराज पिता ने दो हजार रुपये देकर बेटी की हत्या कराई

शव को पुनपुन नदी में फिंकवा दिया, पटना से सटे दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र का मामला, हत्या के दो आरोपी गिरफ्तार

ऑनर किलिंग : प्रेम संबंध से नाराज पिता ने दो हजार रुपये देकर बेटी की हत्या कराई

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • हत्यारों से लाश ठिकाने लगाने का कहा, लड़की को जिंदा लेकर पहुंचा
  • आरोपियों की मदद से पिता ने गला घोटकर हत्या कर दी
  • एक प्रत्यक्षदर्शी ने पुलिस को सूचना दे दी, आरोपी पिता फरार
पटना:

राजधानी पटना से सटे इलाके में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है. एक पिता ने अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा के कारण अपनी बेटी की हत्या करा दी और इसके ऐवज में हत्यारों को दो हजार रुपये दिए. बेटी का एक लड़के से प्रेम संबंध था जो कि पिता को नागवार गुजरा और उसने दो लोगों को एक-एक हजार रुपये देकर अपनी बेटी की हत्या करवाकर शव को नदी में फिंकवा दिया.

पटना पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया है. पटना से सटे दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र के पुनपुन नदी से बुधवार को पुलिस ने एक लड़की का शव बरामद किया था. जांच में दो व्यक्तियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को जानकारी मिली कि यह एक ऑनर किलिंग का मामला है. लड़की के पिता शंकर सिंह ने अपनी शान में बेटी पल्लवी कुमारी की जघन्य हत्या कराकर शव को नदी में फिंकवा दिया था. इसके लिए इसने दो व्यक्तियों को हायर किया था.

यह भी पढ़ें : ऑनर किलिंग : देश में झूठी शान के लिए दो साल में करीब तीन सौ लोगों की हत्या

कांट्रैक्टर शंकर सिंह जहानाबाद जिले के कड़ौना थाना के तहत मोकर गांव का है. एक दिसंबर की रात शंकर सिंह अपनी बेटी को लेकर स्कॉर्पियो से झब्बू गांव आया था. गाड़ी में शंकर और पल्लवी के अलावा परिवार के चार लोग और थे. झब्बू गांव में कमलेश बिन्द और टुनू नट ने शंकर सिंह की मदद की और रस्सी से पल्लवी का गला घोटकर हत्या कर दी. जब वह मर गई तो प्लास्टिक में बालू भरकर उसे रस्सी से शव से बांधकर पुनपुन नदी में फेंक दिया.  इन हरकतों को गांव के ही रहने वाले एक व्यक्ति ने देख लिया और पुलिस को सारी बात बताई. पुलिस ने कमलेश बिन्द और टुनू नट को गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़ें :  राजकोट में ऑनर किलिंग, दो भाइयों ने बहन की जहर पिलाकर हत्या की

Newsbeep

लड़की के पिता से कमलेश की पुरानी जान-पहचान थी. ठेकेदार  होने के कारण शंकर सिंह को मजदूरों की जरूरत पड़ती थी.  कमलेश ही वह व्यक्ति है जो उसे अक्सर मजदूरों की सप्लाई करता था. पूछताछ में कमलेश ने पुलिस को बताया कि आने से पहले शंकर ने दो मजदूर मांगे थे. उसने बताया था कि एक लाश को ठिकाने लगाना है, लेकिन जब वो सामने आया तो लड़की जिंदा थी. उसे देख कमलेश और टुनू थोड़ी देर के लिए घबरा गए थे. शंकर ने उन्हें बताया था कि एक लड़के से उसकी बेटी का प्रेम संबंध है और उसकी बेटी आठ महीने की गर्भवती है. इस कारण पूरे इलाके में उसकी बदनामी हो रही है.  इसी वजह से उसने बेटी की हत्या की साजिश रची. उसके कहने पर गला दबाकर पल्लवी की हत्या कर दी गई.  
 
VIDEO : सैराट का सच

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



इस मामले में पटना के एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि लड़की की गुमशुदगी या किडनैपिंग का परिवार की ओर से कोई मामला दर्ज नहीं कराया गया था. यह ऑनर किलिंग का मामला है. दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और आरोपी पिता और गाड़ी में आए बाकी के चार लोगों की तलाश की जा रही है.