NDTV Khabar

2017 के ये हैं वो 5 बड़े फ्रॉड जिसने लाखों लोगों को लगाई चपत

नौकरी दिलाने से लेकर डिग्री दिलाने के नाम पर करोड़ो रुपये का फ्रॉड कर चुके थे आरोपी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
2017 के ये हैं वो 5 बड़े फ्रॉड जिसने लाखों लोगों को लगाई चपत

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली: इस साल देश में ऐसे कई बड़े फ्रॉड सामने आए जिसने स्थानीय पुलिस के साथ-साथ आम लोगों को भी चौंका कर रख दिया. कभी नौकरी देने के नाम पर तो कभी मोटी कमाई या फिर घर बैठे डिग्री के नाम लाखों लोगों से ठगी की गई. मामला सामने आने के बाद पुलिस ने इन मामलों में आरोपी लोगों को गिरफ्तार जरूर किया. आइये जानते हैं इस वर्ष हई ऐसे ही 5 बड़े फ्रॉड के बारे में..

यह भी पढ़ें: सावधान! ATM Hacking से होने वाले बड़े नुकसान से बचने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके

एजुकेशन बोर्ड के नाम पर 8 लाख लोगों को ठगा 
दिल्ली में शहादरा जिला पुलिस ने इस फ्रॉड का खुलासा किया. एजुकेशन बोर्ड के नाम पर आरोपी फर्जी साइट बनाकर देश भर में 15 से ज्यादा राज्यों में सक्रिय थे. इस दौरान उन्होंने देश भर के 8 लाख से ज्यादा छात्रों से करोड़ों रुपये की ठगी की. वर्ष 2017 के इस सबसे बड़े फ्राड के तार देश के कई राज्यों समेत 30 से ज्यादा शहरों से जुड़े मिले. शहादरा पुलिस ने बाद में इस मालमे में मास्टर माइंड समेत कई लोगों को गिरफ्तार भी किया. पुलिस के अनुसार आरोपी बीते तीन से चार साल से सक्रिय थे. पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी विभिन्न राज्य में खुलने वाले स्कूल को भी मान्यता देने का काम करते थे. इसके लिए भी वह मोटी रकम वसूलते थे. आम तौर पर पीड़ित सरकारी नौकरी लेने के लिए इस बोर्ड से डिग्री या मार्क्सशीट लेते थे. 

डेबिट कार्ड को हैक करके करोड़ों की ठगी 
इस साल मार्च में देश डेबिट कार्ड फ्रॉड सामने आया. जानकारों के अनुसार इस तरह के फ्रॉड  में देश भर में करीब 32 लाख डेबिट कार्ड को हैक किया गया .इतने बड़े स्तर पर नुकसान को कम करने के लिए बैंकों ने कार्ड्स को ब्लॉक करना शुरू किया. इस फ्रॉड के सामने आते ही अलग-अलग बैंकों ने अपने ग्राहकों के डेबिट कार्ड को अगले तीन से सात दिन के लिए ब्लॉक मोड रख दिया. हालांकि तब तक कई कार्ड से कई बार पैसे निकाले जाने की शिकायत आ चुकी थी. जिन बैंक के डेबिट कार्ड को हैक किया गया उनमें सार्वजनिक क्षेत्र से लेकर निजी क्षेत्र के भी कई बैंक शामिल थे. 

यह भी पढ़ें: ऑनलाइन फ्रॉड हुआ तो पैसा मिलेगा वापस, ये हैं शर्तें

कंपनी ने 7 लाख लोगों से की ठगी
नोएडा की एक बड़ी निजी कंपनी द्वारा 7 लाख लोगों से ठगी करने का मामला सामने आया था. घटना फरवरी की है. पुलिस के अनुसार कंपनी के शीर्ष अधिकारियों ने 3,700 करोड़ रुपये की ठगी की थी. इस पूरे मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब कंपनी ने नोटबंदी के बाद एकाएक अपने बैंक खाते में बड़ी रकम जमा कराई थी. इसके बाद ही आयकर विभाग की नजर कंपनी के खातों पर पड़ी. विभाग ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि कंपनी ने बड़े स्तर पर इस फ्रॉड को अंजाम दिया है. बाद में कंपनी के तीन शीर्ष अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया. 

बैंक के सिस्टम में गड़बड़ी कर करोड़ों उड़ाए
मुंबई में एक बड़े बैंक के सिस्टम में बग के इस्तेमाल से बैंक में जमा खातों से करीब 25 करोड़ रुपये उड़ा लिए गए. इस मामले की जानकारी बाद में पुलिस को दी गई. इसके बाद पुलिस को मामले की जांच में पता चला कि यह गड़बड़ी यूपीआई की वजह से हुआ है. इस वजह से देखते ही देखते बैंक के खातों से 25 करोड़ रुपये निकाल लिए गए. इस मामले की जानकारी सबसे पहले औरंगाबाद में रहने वाले कुछ बैंक उपभोक्ताओं ने दिया. लेकिन समय पर कार्रवाई न करने की वजह से बाद में भी बैंक खातों से पैसे निकलना जारी रहा. बैंक कर्मियों ने पुलिस को बताया कि कुछ समय पहले ही उन्होंने लोकल कंपनी से यूपीआई को लेकर सॉफ्टवेयर लिया था. इसी में एकाएक बग आने से यह फ्रॉड हुआ. 

यह भी पढ़ें: भारतीय नागरिक ने कॉल सेंटर घोटाले का जुर्म कबूला

कॉल सेटर और आईटी कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर 
इस साल देश के कई महानगरों में नौकरी दिलाने के नाम पर कई बड़े फ्रॉड सामने आए हैं. पुलिस ने अलग-अलग मामलों में आरोपियों को गिरफ्तार भी किया. पुलिस के अनुसार महानगरों में सिर्फ कॉल सेंटर और आईटी कंपनी में नौकरी दिलाने के पर ऐसे फ्रॉड किए जा रहे थे.आरोपी युवक बीते साल भर में करीब 60 से 70 हजार लोगों से करोड़ों रुपये की ठगी कर चुके हैं. इस तरह के फ्रॉड को करने वाले आरोपी आम तौर पर संबंधित शहर या राज्य से बाहर से ही ऑपरेट करते हैं.

टिप्पणियां
VIDEO: ऑनलाइन फ्रॉड को लेकर आरबीआई ने जारी की गाइडलाइंस


इसी तरह से आईटी कंपनी में जॉब दिलाने के लिए विभिन्न जॉब्स साइट पर अपलोड किए गए बायोडेटा का इस्तेमाल किया गया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement