26 जनवरी अपहरण केस : ‘आरोपी ने 2 साल पहले ASI के बेटे की बेरहमी से हत्या की थी’

26 जनवरी से ठीक एक दिन पहले दिल्ली के जीटीबी इन्क्लेव इलाके मे एक स्कूल बस से एक स्कूली बच्चे की सनसनीखेज किडनैपिंग हुई थी.

26 जनवरी अपहरण केस : ‘आरोपी ने 2 साल पहले ASI के बेटे की बेरहमी से हत्या की थी’

आरोपी नितिन शर्मा

खास बातें

  • 26 जनवरी अपहरण केस के आरोपी ने की थी एएसआई के बेटे की हत्या
  • दो साल पहले एएसआई के बेटे की हुई थी किडनैपिंग
  • आरोपी नितिन शर्मा ने हत्या की बात कबूली
नई दिल्ली:

26 जनवरी से ठीक एक दिन पहले दिल्ली के जीटीबी इन्क्लेव इलाके मे एक स्कूल बस से एक स्कूली बच्चे की सनसनीखेज किडनैपिंग हुई थी. उस मामले में पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि उन्होंने दिल्ली पुलिस के एक ASI के बेटे को किडनैप कर उसकी बेरहमी से हत्या की थी. क्राइम ब्रांच के मुताबिक, 16 जुलाई 2016 को दिल्ली के गोकुलपुरी थाने में ASI की तरफ से शिकायत दी गई थी कि उनका 23 साल का लड़का राहुल तिवारी 4 जून से अगवा है. उसे कुछ लोगों ने अगवा कर लिया है. ये मामला 18 जुलाई 2016 को क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर किया गया. लेकिन ये मामला अनसुलझा रहा. 

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली : मोमोज मांगने पर बच्चे को नहर में फेंका, हत्या के आरोप में पिता गिरफ्तार

Newsbeep

इस साल 25 जनवरी को हाई अलर्ट के बीच जब पुलिस ने जीटीबी इन्क्लेव बच्चे की किडनैपिंग के मामले में गाजियाबाद में इनकाउंटर के बाद आरोपी नितिन शर्मा को गिरफ्तार किया और 24 मोबाइल फोन बरामद किए. जिसके बाद इन 24 मोबाइल फोन की तकनीकी जांच की गई, तो इसमे से 2 मोबाइल फोन मृतक राहुल तिवारी के मिले. इस मामले में जब राहुल तिवारी के नजदीक दोस्त रंजीत देशवाल को बुलाकर पूछताछ की गई तो उसने आरोपी नितिन शर्मा की पहचान कर ली. रंजीत ने बताया की 4 जून 2014 को उसने राहुल को नितिन तिवारी के साथ एक सफेद रंग की कार में देखा था. राहुल तिवारी ने भी रंजीत को बताया था कि वो नितिन के साथ जयपुर पार्टी करने जा रहा है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: बिहार : बैंक कर्मचारी की हत्या के बाद सड़क पर उतरे बैंककर्मी
पूछताछ में नितिन ने कबूल कर लिया की उसने राहुल तिवारी की किडनैपिंग के बाद हत्या कर दी थी. आरोपी राहुल को लेकर गुरुग्राम के घाटा गांव गया और वहां उसने अपने साथियों के साथ राहुल की गोली मारकर हत्या कर उसके शव को जलाने की कोशिश की. पूछताछ में खुलासा हुआ की नितिन की चचेरी बहन का मृतक राहुल तिवारी के साथ नजदीकी दोस्ती थी और ये बात नितिन और लड़की के परिवार को पसंद नही थी. जिसके चलते नितिन ने अपने दोस्त रवि जो बच्चे की किडनैपिंग केस में बच्चे को रेस्क्यू कराते समय गाजियाबाद में पुलिस इनकाउंटर में मारा गया था उसके साथ मिलकर की थी.