NDTV Khabar

 छेड़छाड़ करने वाले आरोपियों को जज ने ऐसे सिखाया सबक

जज ने कहा जानबूझकर किया गया अपराध माफ नहीं किया जा सकता

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
 छेड़छाड़ करने वाले आरोपियों को जज ने ऐसे सिखाया सबक

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. जज ने लगाई फटकार, कहा- अपराध करते समय क्यों नहीं सोचते
  2. छोड़ा जाना कहीं से भी सही नहीं
  3. फुटेज में साफ तौर पर कैद हुई थी छेड़छाड़
नई दिल्ली : आईटीओ स्थित सब-वे में महिलाओं से छेड़छाड़ करना आरोपियों को महंगा पड़ रहा है. दरअसल, इस मामले की सुनवाई करते हुए मेट्रोपॉलिटन जज ने आरोपियों को बेल देने से इनकार कर दिया है. जज ने सुनवाई के दौरान कहा कि जिस तरह की हरकत आरोपियों ने की उसे हम नजर अंदाज नहीं कर सकते.
यह भी पढ़ें: 'सेक्‍स सीडी' सामने आने के बाद हार्दिक पटेल ग्रुप ने कहा, ऐसे और 52 वीडियो क्लिप आने हैं सामने

इन आरोपियों की वजह से ही आज राजधानी में महिलाएं खुदको असुरक्षित महसूस करती हैं. आलम यह है कि शाम होते ही वह घर से बाहर निकलने में भी डरने लगी हैं. आरोपियों को इस तरह की घटना करते समय जब डर नहीं लगता या वह कुछ नहीं सोचते तो फिर उन्हें हम सजा देते समय क्यों सोचें. आरोपियों को बेल देने से उनका हौसला बढ़ेगा और वह आगे  भी इस तरह की घटनाएं करेंगे. लिहाजा अभी इन्हें बेल नहीं दी जा सकती.

यह भी पढ़ें:ये हैं एेसे 5 सनसनीखेज मामले जिन्हें अभी तक नहीं सुलझा पाई सीबीआई और पुलिस

जज ने कहा कि आरोपियों की करतूत मेट्रो स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज में कैद हुई है. इस फुटेज को देखने के बाद साफ तौर पर लग रहा है कि आरोपी घटना को अंजाम देते समय पूरी तरह से वाकिफ थे कि वह क्या कर रहे हैं. जानबूझकर और होश में रहते हुए की गई ऐसी कोई भी घटना माफ करने लायक नहीं है. ऐसे में इन आरोपियों को बेल पर छोड़ना समाज के लिए सही नहीं है. 

टिप्पणियां
VIDEO: बेटी से छेड़छाड़ का विरोध करना पड़ा भारी 


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement