NDTV Khabar

कठुआ मामला: सिर्फ बच्ची से रेप करने के लिए मेरठ से जम्मू गया था आरोपी छात्र,चार्जशीट में हुआ खुलासा

पुलिस के अनुसार आरोपियों ने बच्ची के साथ इस घटना को सिर्फ एक जनजाति विशेष को डराने के लिए अंजाम दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कठुआ मामला: सिर्फ बच्ची से रेप करने के लिए मेरठ से जम्मू गया था आरोपी छात्र,चार्जशीट में हुआ खुलासा

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. मामले में दो पुलिसकर्मियों की भूमिका भी आई सामने
  2. एक विशेष जनजाति को डराने के लिए की गई घटना
  3. आरोपियों ने गांव के मंदिर में भी किया था बच्ची के साथ रेप
नई दिल्ली:

कठुआ मामले को लेकर पुलिस द्वारा दायर चार्जशीट में कई चौकाने वाले खुलासे हुए हैं. पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि गांव के एक मंदिर में आठ साल की बच्ची के साथ बारी-बारी से छह लोगों ने रेप किया. पुलिस के अनुसार आरोपियों ने बच्ची की हत्या करने से ठीक पहले भी उसके साथ दोबारा रेप किया था. पुलिस ने कोर्ट को बताया कि छह आरोपियों में से एक आरोपी को सिर्फ रेप करने के लिए ही मेरठ से जम्मू बुलाया गया था. गौरतलब है कि जनवरी में हुई इस घटना में पहले आरोपियों ने बच्ची को एक सप्ताह के लिए बंदी भी बनाया था. इस दौरान उसके साथ कई बार रेप किया गया. चार्जशीट में कहा गया है कि बच्ची के साथ रेप के बाद आरोपियों ने उसे पत्थर से कुचला ताकि वह यह सुनिश्चित कर सकें कि बच्ची की मौत हो चुकी है.

यह भी पढ़ें: कठुआ में 8 साल की बच्ची से रेप और मर्डर मामले में बढ़ा बवाल, बार एसोसिएशन ने बुलाया जम्मू बंद


पुलिस के अनुसार आरोपियों ने बच्ची के साथ इस घटना को सिर्फ एक जनजाति विशेष को डराने के लिए अंजाम दिया था. इस मामले में पुलिस ने सनजीराम जो देवीस्थान (मंदिर) का देखरेख करता है, को मुख्य षडयंत्रकर्ता बताया है. इस घटना में सनजीराम के साथ स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया, सुरेंद्र वर्मा, उसका दोस्त प्रवेश कुमार, सनजी राम का भतीजा और सनजी राम का बेटा विशाल भी शामिल था. चार्जशीट के अनुसार 11 जनवरी को सनजीराम के भतीजे ने विशाल को फोन कर बच्ची के साथ रेप करने की योजना के बारे में बताया और उसे इस योजना में शामिल होने के लिए मेरठ से वापस बुलाया था. गौरतलब है कि विशाल मेरठ में पढ़ाई करता है. बच्ची की हत्या करने से ठीक पहले स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया ने अन्य आरोपियों को कहा कि वह बच्ची की हत्या करने से पहले एक बार फिर उसके साथ रेप करना चाहते हैं. इसके बाद सभी आरोपियों ने बारी-बारी से बच्ची के साथ रेप किया था. इसके बाद ही उसकी हत्या की गई.

यह भी पढ़ें: कठुआ बलात्कार-हत्या मामला : एक आरोपी के खिलाफ पृथक आरोप पत्र दायर

चार्जशीट में कहा गया है सनजीराम के भतीजे ने बच्ची पर पत्थर से दो बार हमला किया था. इसके बाद उसने उसके शव को जंगल में छिपा दिया. हालांकि वह बच्ची के शव को पास के नहर में फेंकना चाहते थे लेकिन वह ऐसा कर नहीं पाए. चार्जशीट में दो अन्य पुलिसकर्मियों का भी नाम ही. चार्जशीट में कहा गया है कि हेड कांस्टेबल तिलक राज और सब इंस्पेक्टर आनंद दत्त ने सनजी राम से चार लाख रुपये लेकर इस मामले से कई अहम सबूतों को नष्ट किया है. गौरतलब है बच्ची का शव उसके गांव के पास के जंगल से 17 जनवरी को बरामद हुआ था. जबकि बच्ची 10 जनवरी से ही लापता थी. पुलिस के अनुसार आरोपी युवक ने बच्ची का अपहरण उसका घोड़ा खोजकर लाकर देने के बहाने किया था.

टिप्पणियां

VIDEO: कठुआ मामले में शुरू हई सियासत तेज.

10 जनवरी को बच्ची का एक घोड़ा जंगल में चरने के दौरान एकाएक खो गया था. उसे ढूंढ़ने के लिए ही बच्ची जंगल के आसपास घूम रही थी. बच्ची के लापता होने के बाद पीड़ित परिवार ने मंदिर की देखरेख करने वाले सनजीराम से मुलाकात की थी. उस दौरान सनजीराम ने कहा था कि हो सकता है बच्ची के अपने किसी परिजन के पास चली गई हो. बाद में पीड़ित परिवार ने पुलिस को मामले की जानकारी दी थी. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement