NDTV Khabar

बड़े नुकसान से बचना चाहते हैं तो घर में डोमेस्टिक हेल्प  रखते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान

बीते कुछ वर्षों में डोमेस्टिक हेल्पर के आपराधिक मामलों में शामिल होने की घटनाएं सामने आई हैं

22 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बड़े नुकसान से बचना चाहते हैं तो घर में डोमेस्टिक हेल्प  रखते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. जाने-अनजाने में कई बार होती है मकान मालिकों से यह भूल
  2. हेल्पर को लेकर जानकारी न होना सबसे बड़ी समस्या
  3. घर की बातों को साझा करने से भी बचें
नई दिल्ली: आज की कामकाजी जिंदगी में घर का काम करने के लिए डोमेस्टिक हेल्प (नौकरा या नौकरानी) की मदद लेना अब आम बात है. शहरों में कामकाजी दंपति इन पर खासा निर्भर रहने लगे हैं. डोमेस्टिक हेल्प पर बढ़ती निर्भरता का ही नतीजा है कि हम डोमेस्टिक हेल्प रखते समय कई अहम बातों को नजरअंदाज करने लगे हैं. जो आगे चलकर मकान मालिक के लिे एक बड़ी मुसीबत साबित होता है. दरअसल, बीते कुछ वर्षों में डोमेस्टिक हेल्पर के आपराधिक मामलों में शामिल होने की कई घटनाएं सामने आई हैं. दिल्ली में कई ऐसे गिरोह भी पकड़े गए जो डोमेस्टिक हेल्प मुहैया कराने के नाम पर चोरी और लूट करते थे. बीते दिनों ऐसा ही एक मामला ग्रेटेर कैलाश में सामने आया. जहां डोमेस्टिक हेल्प के लिए आई महिला ने घर की मालकीन पर चाकू से हमला कर दिया. हमले की वजह घर पर रखे पैसे थे. हालांकि इस मामले में बाद में पुलिस ने आरोपी नौकरानी को गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया है. दिल्ली व अन्य महानगरों में आए दिन इस तरह की घटनाएं सामने आती रही हैं. ऐसे में कहीं आपके साथ भविष्य इस तरह की कोई घटना न हो इसके लिए जरूरी है कि डोमेस्टिक हेल्प का चुनाव करते समय आप सावधानी बरतें. डोमेस्टिक हेल्प का चुनाव करते समय और बाद में अक्सर हम इन पांच बिंदुओं को नजरअंदाज कर देते है. आइए जानते हैं कौन से हैं वह पांच बिंदू जो आपको हमेशा ध्यान में रखने चाहिए..

यह भी पढ़ें: बदमाशों ने बाइक सवार दो लोगों से लूटपाट कर मारी गोली, एक की मौत, एक घायल

डोमेस्टिक हेल्प से जुड़ी जानकारी पहले जुटा लें
अक्सर डोमेस्टिक हेल्प रखते समय हम उसकी सैलरी और वह कितने दिन काम करने आएगा या आएगी पर ज्यादा ध्यान देते हैं. हम डोमेस्टिक हेल्प चुनते समय उससे जुड़ी कई अन्य बातों, मसलन वह पहले कहां काम करता था या करती थी, उसे वहां से काम क्यों छोड़ना पड़ा, क्या वह पहले किसी आपराधिक मामले में शामिल रहा या रही है और पहले के मालिक के साथ उसका कैसा बर्ताव था, के बारे में कुछ मालूम नहीं करते. इस  तरह की जानकारी के अभाव में ही हम अक्सर आपराधिक प्रवृति के लोगों को काम पर रख लेते हैं. हम इन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

पुलिस से तुरंत कराएं सत्यापन
मकान मालिक अक्सर डोमेस्टिक हेल्प रखने के बाद उसका पुलिस से सत्यापन कराना भूल जाते हैं. मकान मालिक की यह लापरवाही बाद में उन्हें लाखों रुपये की चपत लगा सकती है. किसी भी डोमेस्टिक हेल्प को रखने के कुछ दिन के भीतर ही आपको उसका सत्यापन कराना चाहिए. इससे आपके पास व स्थानीय पुलिस के पास हेल्पर से जुड़ी तमाम जानकारी होगी और भविष्य में किसी तरह की घटना होने के बाद पुलिस को उसे गिरफ्तार करने में आसानी होगी. 

यह भी पढ़ें: पुलिस की कार्यशैली से नाराज डीआईजी ने 70 थानेदारों के वेतन पर लगाई रोक

घर में कभी न छोड़ें अकेला
डोमेस्टिक हेल्प रखने के बाद कोशिश करें कि वह जब तक आपके घर में रहे आपके परिवार में से कोई न कोई सदस्य या आपका कोई करीबी घर पर मौजूद हो. बीते कुछ वर्षों में हुई घटनाओं को अनुसार उन घरों में लूट और चोरी की वारदातें ज्यादा हुई हैं जहां घर में ज्यादातर समय डोमेस्टिक हेल्पर अकेला रहा हो. पुलिस के अनुसार हेल्पर कुछ दिन मकान मालिक का विश्ववास जीतने के बाद बड़ी आपराधिक घटनाएं करता या करती है. ऐसे में आप कभी भी डोमेस्टिक हेल्प के भरोसे घर न छोड़ें.

नकदी और आभूषण सामने न रखें 
डोमेस्टिक हेल्प के साथ कुछ समय रहने के बाद अक्सर मकान मालिक उसकी मौजूदगी में ही नकदी और आभूषण रखने लगते हैं.दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में भी एक ऐसी ही घटना सामने आई थी. जहां डोमेस्टिक हेल्प में परिवार वालों से घुलेन मिलने के बाद ही उन्हें बंधक बनाकर घर में लूटपाट की. लिहाजा कोशिश करें कि डोमेस्टिक हेल्पर को दिखाकर महंगे आभूषण और नकदी न रखे जाएं.

यह भी पढ़ें:  पुरानी रंजिश को लेकर गणेश मंदिर में पुजारी पर बदमाशों ने चलाई गोलियां

जरूरी पासवर्ड और चाभी साझा न करें 
आपका डोमेस्टिक हेल्पर चाहे कितना ही पुराना क्यों न हो, आपको चाहिए कि आप उससे अपने घर से जुड़े अहम पासवर्ड और चाभियां उसके भरोसे न छोड़ें. आपकी यह गलती कई बार हेल्पर आपराधिक घटनाएं करने के लिए उकसाती है.

VIDEO : राजधानी में बढ़ता जा रहा है अपराध का ग्राफ


घर में आने वाले डोमेस्टिक हेल्पर से आपको सीमित बातचीत करनी चाहिए . ताकि उसे आपके और आपके घर के बारे में ज्यादा जानकारी न मिल पाए.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement