देश में अपहरण की वारदातें बढ़ीं, हत्या के मामलों में कमी आई, एनसीआरबी ने जारी किए आंकड़े

हत्या के अधिकतर मामलों में विवाद एक बड़ा कारण था, इसके अलावा निजी रंजिश या दुश्मनी और फायदे के लिए भी हत्याएं हुईं

देश में अपहरण की वारदातें बढ़ीं, हत्या के मामलों में कमी आई, एनसीआरबी ने जारी किए आंकड़े

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के नए आंकड़े के मुताबिक 2017 में देश भर में संज्ञेय अपराध के 50 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए. इस तरह 2016 में 48 लाख दर्ज प्राथमिकी की तुलना में 2017 में 3.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई. करीब एक साल की देरी के बाद 2017 के लिए वार्षिक अपराध का आंकड़ा जारी किया गया है.

वर्ष 2017 में हत्या के मामलों में 5.9 प्रतिशत की गिरावट आई. एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक 2017 में हत्या के 28653 मामले दर्ज किए गए जबकि 2016 में 30450 मामले सामने आए थे. इसमें कहा गया कि हत्या के अधिकतर मामले में ‘विवाद' (7898) एक बड़ा कारण था. इसके बाद ‘निजी रंजिश' या ‘दुश्मनी' (4660) और ‘फायदे' (2103) के लिए भी हत्याएं हुईं.

वर्ष 2017 में अपहरण के मामलों में नौ प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई. उससे पिछले साल 88008 मामले दर्ज किए गए थे जबकि 2017 में अपहरण के 95893 मामले दर्ज किए गए थे.

हरियाणा में हर दिन 4 महिलाएं होती हैं गैंगरेप की शिकार, जानें कहां होती है सबसे ज़्यादा Eve Teasing

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : लोकसभा में  एनआईए संशोधन बिल पास



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)