Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

7 साल की बच्ची पर यौन हमला करने वाले प्रिंसिपल ने अपने बचाव में दी यह शर्मनाक दलील

प्रिंसिपल ने अपने बचाव में कहा कि उसके द्वारा की गई यह एक छोटी सी गलती थी, क्योंकि उसने बच्ची के साथ सेक्स नहीं किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
7 साल की बच्ची पर यौन हमला करने वाले प्रिंसिपल ने अपने बचाव में दी यह शर्मनाक दलील

बच्ची पर यौन हमले के आरोपी स्कूल प्रिंसिपल ने इसे मामूली घटना बताया

खास बातें

  1. स्कूल के टॉयलेट में बच्ची से किया था यौन दुर्व्यवहार
  2. आरोपी प्रिंसिपल ने कहा, यह 'छोटी' गलती, मैंने सेक्स नहीं किया
  3. उसने कहा, यह एक हादसा भर था
रांची:

झारखंड के एक स्कूल में 7 साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रिंसिपल ने मीडिया के सामने अपना गुनाह कबूल करते हुए बेहद शर्मनाक बयान दिया. प्रिंसिपल ने अपने बचाव में कहा कि उसके द्वारा की गई यह एक छोटी सी गलती थी, क्योंकि उसने बच्ची के साथ इंटरकोर्स (सेक्स) नहीं किया था. कोडरमा जिले में एक स्कूल के प्रमुख 67 साल के एस. जेवियर ने बुधवार कथित तौर पर अपर केजी में पढ़ने वाली इस बच्ची को स्कूल के टॉयलेट में लेकर गया था, जहां उसने बच्ची के कपड़े उतारकर उसके साथ अश्लील हरकत की. जब बच्ची चिल्लाने लगी, तो उसने उसे कुछ पैसे दिए और कहा कि वह किसी को भी इस बारे में कुछ नहीं बताए. गिरफ्तारी के बाद मीडिया के सामने उसने कबूल किया, हां मैंने ऐसा किया, लेकिन यह इतनी बड़ी गलती नहीं थी. इस मामले में कोई यौन संबंध नहीं बनाए गए थे. मैं साफ तौर पर बता दूं कि मैं ऐसा नहीं कर सकता, क्योंकि अब मैं उम्रदराज हो चुका हूं. यह एक हादसा भर था. उसने यह भी कहा, मैं बहुत तनाव में हूं. मेरा काम ठीक नहीं चल रहा है. मुझे दिल की बीमारी है. और कई बार रातों को मैं सो नहीं पाता हूं. मुझे Insomnia (अनिद्रा की बीमारी) है. इस शख्स को 15 दिन के लिए जेल भेज दिया गया है.

यह भी पढ़ें : कोलकाता के स्कूल में चार साल की बच्ची का यौन उत्पीड़न, दो शिक्षक गिरफ्तार


टिप्पणियां

यह घटना बुधवार की है. जब बच्ची ने अपने माता-पिता को इसके बारे में जानकारी दी तब शुक्रवार को पुलिस को इस बारे में जानकारी दी गई. पुलिस ने आईपीसी और प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेज एक्ट (पोक्सो) की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है. बच्ची का मेडिकल टेस्ट करवाया गया है और रिपोर्ट का इंतजार है. कोडरमा की एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी शिवानी तिवारी ने कहा, आगे की जांच अभी जारी है. यह एक गंभीर अपराध है.'

VIDEO :
बता दें कि पिछले दिनों कोलकाता के एक प्राइवेट स्कूल में भी नर्सरी की चार साल की एक बच्ची के यौन उत्पीड़न के आरोप में स्कूल के दो पीटी टीचरों को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोप है कि ये दोनों चॉकलेट देने के बहाने बच्ची को टॉयलेट में लेकर गए और वहां उसका यौन उत्पीड़न किया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... अपने भाषण पर उठे विवाद के बाद बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने दी सफाई,कहा- CAA का समर्थन करके कुछ गलत नहीं किया

Advertisement