NDTV Khabar

गैरकानूनी ढंग से चार युवकों को थाने में बंद करने पर 6 पुलिसकर्मियों पर केस

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गैरकानूनी ढंग से चार युवकों को थाने में बंद करने पर 6 पुलिसकर्मियों पर केस

यूपी पुलिस पर लगे गंभीर आरोप. तस्वीर: प्रतीकात्मक

खास बातें

  1. गैरकानून ढंग से चार युवकों को कैद कर रखी थी यूपी पुलिस
  2. थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों पर अदालत के आदेश पर मुकदमा
  3. उत्तर प्रदेश के बहराइच की घटना पर उठ रहे सवाल
बहराइच:
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में चार युवकों को कई दिनों तक गैर कानूनी ढंग से हवालात में बंद रखने के आरोपी थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों पर अदालत के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक मई 2016 में एक मुकदमे में वांछित फरार अभियुक्त श्याम बिहारी की गिरफ्तारी ना होने पर दबाव बनाने की नीयत से अभियुक्त के परिजन रिंकू मौर्य, अभय मौर्य, संजय मौर्य तथा दीपक को पकड़ कर कई दिनों तक कोतवाली स्थित हवालात में रखा गया था. आरोप है कि हवालात में चारों युवकों की पिटाई करके तथा अपशब्दों का प्रयोग कर उत्पीड़न किया गया था.
 
पीड़ित युवकों के अनुसार इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत करने पर कार्रवाई ना होने पर उन्होंने उच्च न्यायालय में गुहार लगाई थी जिसके आदेश पर कोतवाली में तैनात तत्कालीन कोतवाल प्रमोद कुमार सिंह, दारोगा उमेश यादव तथा चार सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी .
 
प्रमोद कुमार सिंह इन दिनों जरवल रोड थाने के थानाध्यक्ष हैं. नानपारा कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक आलोक राव मामले की जांच कर रहे हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement