NDTV Khabar

महाराष्ट्र पुलिस पर आरोपी की हत्या कर शव जलाने का आरोप, पांच पुलिसकर्मी गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपी की लाश जलाकर उसे फरार होने की झूठी कहानी बनाई, लेकिन झूठ पकड़े जाने पर पुलिस ने अपने ही 5 साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. 

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र पुलिस पर आरोपी की हत्या कर शव जलाने का आरोप, पांच पुलिसकर्मी गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर.

खास बातें

  1. एक पीएसआई सहित 5 पुलिस वाले गिरफ्तार
  2. पुलिस ने कहा था कि आरोपी फरार हो गया
  3. जांच में सामने आया सच
मुंबई: महाराष्ट्र के सांगली में पुलिस की करतूत ने साल 2003 की एक वारदात की याद ताजा कर दी है. उस समय मुंबई पुलिस पर घाटकोपर बम धमाके के आरोपी ख्वाजा यूनुस की पुलिस टॉर्चर से मौत के बाद उसकी एक्सीडेंट में मौत होने की झूठी कहानी बनाने का आरोप लगा था. सांगली की कहानी में फर्क सिर्फ इतना है कि पुलिस ने आरोपी की लाश जलाकर उसे फरार होने की झूठी कहानी बनाई, लेकिन झूठ पकड़े जाने पर पुलिस ने अपने ही 5 साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. 

यह भी पढ़ें : मुंबई : कर्ज के पैसे वापस नहीं दिए तो पुलिस वाले ने उसकी हत्या कर दी

मामला सांगली शहर पुलिस थाने का है. एक लूट के मामले में पीएसआई युवराज कामटे की टीम ने 6 नवंबर की सुबह अनिकेत कोथले और अमोल भंडारे को गिरफ्तार किया था. दोनों को 10 नवंबर तक पुलिस हिरासत भी मिली थी, लेकिन 7 नवंबर की सुबह पुलिस ने बताया क़ि दोनों हिरासत से भाग गए. लेकिन लोग पुलिस की कहानी पर भरोसा करने को तैयार नहीं थे. नाराज भीड़ ने थाने का घेराव करने के साथ रास्ता रोको भी किया गया.

यह भी पढ़ें : सॉफ्टवेयर इंजीनियर पर आरोप, MBBS की प्रवेश परीक्षा पास नहीं कर पाई पत्नी तो जलाकर मार डाला

मृतक अनिकेत का भाई आशीष कोथले ने सीसीटीवी तस्वीरें दिखाने की मांग की, लेकिन पुलिस ने मना कर दिया. मामले की गंभीरता देख कोल्हापुर के आईजी विश्वास नागरे पाटिल ने जांच का आदेश दिया तब सच सामने आ गया. जांच में पता चला कि अनिकेत की मौत के बाद पुलिस वाले पहले उसका शव सिविल अस्पताल ले गए, लेकिन जब डॉक्टरों ने उनका साथ नहीं दिया तब शव को निजी कार में डालकर अम्बिवली पहाड़ी पर ले गए और वहां पेट्रोल डालकर उसे जला दिया.

VIDEO : पुलिस पर गर्भवती महिला की हत्या का आरोप


आईजी विश्वास नागरे पाटिल ने बताया कि पहली नजर में पता चला है कि आरोपी को थर्ड डिग्री दी गई. उसका मुहं पानी में डाला गया. उलटा लटकाया गया, जिससे उसकी मौत हो गई. नतीजा पीएसआई युवराज कामटे सहित 5 पुलिसकर्मियों और एक नागरिक को गिरफ्तार कर लिया गया है. सभी पर अनिकेत कोथले की हत्या, उसका शव जलाकर सबूत मिटाने और हिरासत से भागने की झूठी कहानी बनाने का आरोप लगा है. 
इनपुट : रॉबिन


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement